https://www.fapjunk.com https://fapmeister.com

भारत की प्रमुख नदियाँ के नाम हिंदी में (Bharat Ki Pramukh Nadiyon Ke Naam) – Indian Rivers Name In Hindi

Bharat Ki Nadiyon Ke Naam Hindi Mein – नदियाँ लोगों के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। नदियों का उपयोग कई तरह से किया जाता है जैसे सिंचाई के लिए, पीने के पानी लिए, बिजली के लिए आदि।

भारत में मुख्य रूप से 7 नदियाँ हैं, जिनकी कई सहायक नदियाँ मिलकर भारत की नदी प्रणाली बनाती हैं। इन नदियों के नाम इस प्रकार हैं – सिंधु, ब्रह्मपुत्र, नर्मदा, तापी, गोदावरी, कृष्णा और महानदी।

भारत में मुख्य रूप से चार नदी प्रणालियाँ हैं – उत्तरी भारत में सिंधु, मध्य भारत में गंगा, उत्तर-पूर्व भारत में ब्रह्मपुत्र, प्रायद्वीपीय भारत में नर्मदा, कावेरी, महानदी जैसी नदियां व्यापक नदी प्रणाली बनाती हैं।

- Advertisement -

आज के इस लेख में हम आपको भारत की नदियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में बताने वाले है। अगर आप उपरोक्त जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आज के इस लेख के भारत की नदियाँ के अंत तक बने रहे। तो आइये जानते है भारत की प्रमुख नदियां (Bharat Ki Pramukh Nadiyan) –

भारत की नदियों के नाम हिंदी में (Name Of Indian Rivers In Hindi)

भारत की नदियों के नाम निम्नलिखित है – सिंधु, ब्रह्मपुत्र, गंगा, गोदावरी, नर्मदा, कृष्णा, माहीनदी, कावेरी, सरयू, यमुना, सरस्वती, कालिंदी, रामगंगा, कोसी, गगास नदी, विनोद नदी, गंडक, घाघरा, चम्बल, चेनाब, झेलम, दामोदर, ताप्ती, बेतवा, पद्मा, फल्गू, बागमती, भागीरथी, महानदी, महानंदा, रावी, व्यास, सतलुज, सरयू,, सुवर्णरेखा, हुगली, गोमती, माही नदी, शिप्रा और उज नदी।

क्रमांक भारत की नदियों के नाम राज्य
1 गंगा उत्तराखंड
2 यमुना उत्तराखंड
3 ब्रह्मपुत्र अरुणाचल प्रदेश और असम
4 चंबल मध्य प्रदेश
5 सोन मध्य प्रदेश
6 गंडक बिहार
7 कोसी बिहार
8 बेतवा मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश
9 गोमती उत्तर प्रदेश
10 घाघरा तिब्बत
11 हुगली पश्चिम बंगाल
12 दामोदर झारखंड और पश्चिम बंगाल
13 महानंदा दार्जिलिंग, पश्चिम बंगाल
14 अलकनंदा उत्तराखंड
15 भागीरथी उत्तराखंड
16 सिंधु जम्मू कश्मीर
17 चिनाब हिमाचल प्रदेश
18 झेलम पंजाब
19 रावी हिमाचल प्रदेश, जम्‍मू कश्‍मीर
20 सतलुज तिब्बत
21 व्यास हिमाचल प्रदेश
22 पारबती नदी हिमाचल प्रदेश
23 द्रास नदी लद्दाख
24 ज़ंस्कार नदी लद्दाख
25 त्सराप लद्दाख
26 डोडा लद्दाख
27 कावेरी कर्नाटक
28 कृष्णा महाराष्ट्र
29 गोदावरी महाराष्ट्र
30 तुंगभद्रा कर्नाटक
31 ताप्ती मध्य प्रदेश
32 माही मध्य प्रदेश
33 नर्मदा मध्य प्रदेश
34 इन्द्रावती उड़ीसा
35 प्रन्हिता तेलंगाना और महाराष्ट्र
36 वर्धा मध्य प्रदेश
37 कोलाब उड़ीसा
38 मंजीरा आंध्र प्रदेश
39 वैनगंगा मध्य प्रदेश
40 पैनगंगा महाराष्ट्र
41 वेदावती कर्नाटक और आन्ध्र प्रदेश
42 भीमा नदी महाराष्ट्र, तेलंगना और कर्नाटक
43 इंद्रायणी महाराष्ट्र
44 पावना महाराष्ट्र
45 घटप्रभा महाराष्ट्र
46 वेना महाराष्ट्र
47 कोयना महाराष्ट्र
48 अमरावती तमिलनाडु
49 भवानी केरल
50 महानदी छतीसगढ़
51 सुवर्णरेखा झारखंड
52 कंग्सबती पश्चिम बंगाल
53 पेनर कर्नाटक
54 पलार कर्नाटक
55 वैगई तमिलनाडु
56 वेल्लार तमिलनाडु
57 पोंनैयर कर्नाटक और तमिलनाडु
58 नोय्याल तमिलनाडु
59 गोमती उत्तर प्रदेश
60 पंझारा महाराष्ट्र
61 पूर्णा मध्यप्रदेश
62 कोलार मध्य प्रदेश
63 तवा मध्य प्रदेश
64 साबरमती गुजरात
65 जुआरी गोवा
66 उल्हास महाराष्ट्र
67 मीठी महाराष्ट्र
68 मांडोवी कर्नाटक
69 काली कर्नाटक
70 नेत्रवती कर्नाटक

भारत की सबसे लंबी नदियों के नाम और उनकी लम्बाई (Names Of Major Rivers Of India And Their Length In Hindi)

सिंधु नदी की लम्बाई – 3,180 किमी, ब्रह्मपुत्र नदी की लम्बाई – 2,900 किमी, गंगा नदी की लम्बाई – 2,510 किमी, गोदावरी नदी की लम्बाई – 1,465 किमी, नर्मदा नदी की लम्बाई – 1312 किमी, कृष्णा नदी की लम्बाई – 1400, महानदी नदी की लम्बाई – 900 और कावेरी नदी की लम्बाई – 805 है।

नदियों के नाम लंबाई (किमी)
1. सिंधु नदी 3,180
2. ब्रह्मपुत्र नदी 2900
3. गंगा नदी 2510
4. गोदावरी नदी 1465
5. कृष्णा नदी 1400
6. यमुना नदी 1376
7. नर्मदा नदी 1312
8.  महानदी नदी 900
9.  कावेरी नदी 805
10.  तापी नदी 724

भारत की प्रमुख नदियों के बारे में (About Rivers In Hindi)

1) सिंधु नदी

सिंधु नदी की लंबाई 2900 किमी है। यह तिब्बत में मानसरोवर झील के पास कैलाश श्रेणी के उत्तरी ढलानों में निकलती है, और अंत में अरब सागर मिलती है।

2) ब्रह्मपुत्र नदी

बंगाल की खाड़ी में प्रवेश करने से पहले ब्रह्मपुत्र चार देशों – चीन, भूटान, भारत और बांग्लादेश से होकर गुजरती है। ब्रह्मपुत्र नदी की कुल लंबाई 2900 किमी है।

3) गंगा नदी

गंगा नदी गंगोत्री ग्लेशियर से निकलती है। गंगोत्री ग्लेशियर हिमालय में है। यह भारत के उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी जिले में स्थित है। गंगोत्री ग्लेशियर की चौड़ाई 2 किमी से 4 किमी तक है, और यह लगभग 30 किमी लंबा है। गंगोत्री ग्लेशियर को गोमुख के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इसका आकार गाय के मुंह जैसा दिखता है।

गंगा नदी की कुल लंबाई 2,510 किमी है। भागीरथी नदी और अलकनंदा नदी उत्तराखंड के देवप्रयाग में मिलकर गंगा नदी का निर्माण करती हैं। गंगा नदी पहाड़ों से निकलकर हरिद्वार में मैदानी इलाकों की ओर बढ़ती है। प्रयागराज में गंगा और यमुना का मिलन होता है। गंगा की अन्य मुख्य सहायक नदियाँ सोन, बेतवा और चम्बल हैं। ये नदियाँ प्रायद्वीपीय ऊपरी इलाकों से निकलती हैं।

4) गोदावरी नदी

गोदावरी नदी की लंबाई 1,450 किमी है। गोदावरी नदी एक मौसमी नदी है। गोदावरी मानसून के दौरान चौड़ी हो जाती है और गर्मी के मौसम में सूख जाती है। गोदावरी नदी को अक्सर दक्षिण (दक्षिण) गंगा के रूप में जाना जाता है।

गोदावरी नदी हिंदू धर्म के महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों से होकर गुजरती है। गोदावरी नदी का उद्गम महाराष्ट्र में नासिक के निकट स्थित त्र्यंबकेश्वर नामक पवित्र स्थान से होता है। गोदावरी नदी की कुछ प्रमुख सहायक नदियाँ बाणगंगा, कदवा, शिवना, पूर्णा, कदम, प्राणहिता, नसरदी, प्रवरा, सिंदफना, मंजीरा, मनैर आदि हैं।

5) कृष्णा नदी

कृष्णा भारत की सबसे लंबी नदियों में से एक है, जो महाराष्ट्र के महाबलेश्वर से निकलती है। तुंगभद्रा नदी कृष्णा नदी की प्रमुख सहायक नदी है। कोयना, पंचगंगा, दूधगंगा, घटप्रभा, मालाप्रभा, आदि, कृष्णा नदी की प्रमुख सहायक नदियाँ हैं। कृष्णा नदी भारत के आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और महाराष्ट्र राज्यों से होकर बहती है। कृष्णा नदी की लम्बाई 1,290 कि.मी. है।

6) यमुना नदी

यमुना नदी की लम्बाई 1,376 कि.मी. है। यमुना नदी भारत की सबसे लंबी सहायक नदी है और प्रवाह के हिसाब से गंगा नदी की दूसरी सबसे बड़ी सहायक नदी है। यमुना नदी का उद्गम भारत के उत्तराखंड राज्य में स्थित यमुनोत्री ग्लेशियर से होता है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में स्थित त्रिवेणी संगम पर यमुना पवित्र नदी गंगा में विलीन हो जाती है।

यह वह स्थान है जहां हर 12 साल में एक बार कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है।हिंदू धर्म में यमुना और गंगा दोनों को बहुत पवित्र नदियाँ माना जाता है। यमुना नदी भारतीय राज्यों उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली से होकर बहती है। यमुना नदी की सबसे लंबी सहायक नदी चम्बल नदी है। टोंस नदी, यमुना नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है। यमुना नदी की अन्य सहायक नदियाँ हिंडन नदी, केन नदी, बेतवा नदी आदि हैं।

7) नर्मदा नदी

नर्मदा नदी की कुल लंबाई 1,290 किमी है। नर्मदा नदी गुजरात के भरूच जिले में अरब सागर में गिरती है। भारत में पश्चिम की ओर बहने वाली सबसे लंबी नदी नर्मदा नदी है। नर्मदा नदी भारत की 5वीं सबसे लंबी नदी है। नर्मदा मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात राज्यों से होकर बहती है।

8) महानदी नदी

महानदी नदी की लंबाई 851 किमी है। महानदी नदी छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले से निकलती है। इसकी सहायक नदियां शिवनाथ, मंड, इब, हसदेव, नदियां- ओंग, पैरी नदी, जोंक, तेलेन है। महानदी नदी अंत में बंगाल की खाड़ी में मिलती है।

9) कावेरी नदी

कावेरी नदी कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल राज्यों से होकर बहती है। कावेरी नदी दक्षिण भारत की एक बहुत ही पवित्र नदी है। कावेरी नदी की लंबाई 760 किमी है।

10) तापी नदी

तापी नदी की लंबाई 724 किमी है। तापी नदी की सतपुड़ा रेंज से होती है। तापी नदी की सहायक नदियां – पूर्णा नदी, गिरना नदी, गोमई, पंजारा, पेढ़ी, अरना, अनुराती, सुकी, वाघुर, बुराय, सिपना है। तापी नदी अंत में खंभात की खाड़ी में मिलती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस लेख में हमने आपको भारत की नदियों के नाम हिंदी में (Bharat Ki Nadiyon Ke Naam Hindi Mein) के बारे में जानकारी दी है। हमे उम्मीद है आपको यह लेख अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह लेख भारत की प्रमुख नदियों के नाम हिंदी में (Bharat Ki Pramukh Nadiyon Ke Naam Hindi Mein) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles

You cannot copy content of this page