https://www.fapjunk.com https://fapmeister.com

सीएसके का बाप कौन है (CSK का बाप कौन है) – CSK Cha Baap Kaun Hai

CSK Ka Baap Kaun Hai IPL Mein – चेन्नई सुपर किंग्स की स्थापना 2008 में आईपीएल के साथ हुई थी। जुलाई 2015 के बाद सीएसके टीम पर दो साल के लिए खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और इसका कारण इंवॉल्वमेंट 2013 आईपीएल बैटिंग केस था। इसके बाद 2018 में टीम ने दोबारा वापसी की और उस साल विजेता रही।

आईपीएल की स्थापना से पहले, विजेता टीम राजस्थान रॉयल्स थी, जबकि चेन्नई सुपर किंग्स ने 2010 में एमएस धोनी की कप्तानी में अपनी पहली जीत हासिल की थी और तब से 2023 तक वह 5 बार विजेता रही है।

लेकिन क्या आप जानते है सीएसके का बाप कौन है (CSK का बाप कौन है), अगर नहीं तो आज के इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े। क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको सीएसके के बाप के बारे में जानकारी देने वाले है। तो आइये जानते है –

सीएसके का बाप कौन है (CSK का बाप कौन है) – CSK Cha Baap Kaun Hai

- Advertisement -

सीएसके का बाप खुद सीएसके (CSK) है, यानी सीएसके का कोई बाप नहीं है। सीएसके सभी टीमों का बाप है।

सीएसके ने पांच ट्रॉफी जीतकर बाप का दर्जा हासिल कर लिया है। इससे पहले मुंबई इंडियंस ने पांच ट्रॉफी जीती थी, जिसे अब सीएसके ने भी जीत लिया है। सीएसके ने भी पांच ट्रॉफियां जीतकर उनकी बराबरी कर ली है।

लेकिन सीएसके ने ट्रॉफी के साथ-साथ सबसे ज्यादा फाइनल और प्लेऑफ भी खेले हैं। इसलिए हम बिना किसी हिचकिचाहट के यह कह सकते हैं कि सीएसके का बाप कोई और नहीं बल्कि सीएसके (CSK) सभी टीमों का बाप है।

सीएसके का मालिक कौन है (CSK Ka Malik Kaun Hai Hindi Mein)

अगर बात करे चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक की तो इसके मालिक का नाम “चेन्नई सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड” है, और इसके मालिक एन श्रीनिवासन हैं। तो इस तरह एन श्रीनिवासन चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक हुए। एन श्रीनिवासन सीएसके टीम का नेतृत्व और देखरेख कर रहे हैं। हालाँकि, एन श्रीनिवासन इंडियन सीमेंट के एमडी, वाइस चेयरमैन और सीईओ भी हैं, जो अपने आप में एक बहुत ही बड़ी उपलब्धि है।

चेन्नई सुपर किंग्स या सीएसके के बारे में (About Chennai Super Kings Or CSK In Hindi)

चेन्नई सुपर किंग्स या सीएसके चेन्नई, तमिलनाडु में स्थित एक फ्रेंचाइजी क्रिकेट टीम है। वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलती हैं। 2008 में स्थापित, टीम अपने घरेलू मैच चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम (सीएसके होम ग्राउंड) में खेलती है।

टीम का स्वामित्व चेन्नई सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड के पास है और इंडिया सीमेंट्स (सीएसके मालिक) प्रमुख हितधारक है।

चेन्नई ने 2018 में अपने कमबैक सीजन में खिताब जीता था। टीम की कप्तानी पहले सीजन से ही महेंद्र सिंह धोनी (सीएसके कप्तान) के हाथों थी।

सुपर किंग्स ने पांच बार 2010, 2011, 2018 2021 और 2023 में आईपीएल खिताब जीता है। सभी आईपीएल टीमों के बीच इसका मैच जीतने का प्रतिशत सबसे अधिक है।

इंडिया सीमेंट्स ने 2007 में $91 मिलियन में चेन्नई फ्रेंचाइजी खरीदी। आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष एन एन श्रीनिवासन इंडिया सीमेंट्स लिमिटेड के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के रूप में चेन्नई सुपर किंग्स के मूल मालिक है।

टीम के लोगो में नारंगी रंग में दहाड़ते हुए शेर का सिर और नीले रंग में टीम का नाम दर्शाया गया है। टीम के नाम के ऊपर का मुकुट वही है जो कोरोमंडल किंग्स ब्रांड लोगो में इस्तेमाल किया गया है। टीम की जर्सी का रंग पीला है, जिसके दोनों तरफ नीली और नारंगी धारियां हैं।

टीम का थीम सॉन्ग “व्हिसल पोडु” है, जिसे अरविंद-शंकर द्वारा डिज़ाइन किया गया है। हालाँकि यह ट्रैक केवल 2008 में YouTube के लिए बनाया गया था, लेकिन 2009 सीज़न के दौरान इसे लोकप्रियता मिली और बाद में यह टीम का थीम सॉन्ग बन गया।

FAQs

चेन्नई सुपर किंग का मालिक कौन है हिंदी में?
चेन्नई सुपर किंग के मालिक एन श्रीनिवासन है।

CSK की टीम किसकी है?
CSK की टीम चेन्नई सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड की है, और इसके मालिक एन श्रीनिवासन हैं।

चेन्नई सुपर किंग्स कितने बार आईपीएल जीता है?
चेन्नई सुपर किंग्स पांच बार आईपीएल जीता है।

आईपीएल में सभी टीमों का बाप कौन है?
आईपीएल में सभी टीमों का बाप चेन्नई सुपर किंग्स है।

चेन्नई सुपर किंग्स का बाप कौन है?
चेन्नई सुपर किंग्स का बाप कोई नहीं है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस लेख में हमने आपको सीएसके का बाप कौन है (CSK का बाप कौन है) – CSK Cha Baap Kaun Hai आदि के बारे में जानकारी दी है। हमे उम्मीद है आपकों यह लेख अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह लेख सीएसके का बाप कौन है आईपीएल में (CSK Ka Baap Kaun Hai IPL Mein) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles

You cannot copy content of this page