डिजिटल मार्केटिंग क्या है और कैसे करे, क्या है इसकी फीस और कितनी होगी सैलरी, जानिए

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस | Digital Marketing Course Fees In India: डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल तकनीकों का उपयोग करके इंटरनेट पर प्रोडक्ट या सेवाओं की मार्केटिंग है। इसमें मोबाइल फोन ऐप्स के माध्यम से प्रदर्शन विज्ञापन और किसी अन्य डिजिटल माध्यम का उपयोग शामिल है। आज का जमाना ऑनलाइन है, हम ऑनलाइन शॉपिंग, टिकट बुकिंग, रिचार्ज, बिल भुगतान, ऑनलाइन लेनदेन आदि जैसे कई काम कर सकते हैं। बाजार की स्थिति पर नजर डालें तो लगभग 80% खरीदार किसी भी उत्पाद या सेवा को खरीदने से पहले ऑनलाइन शोध करते हैं। ऐसे में किसी भी कंपनी या बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग महत्वपूर्ण हो जाती है। आइए इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है और डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस क्या है –

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस | Digital Marketing Course Fees In India

Included

  • डिजिटल मार्केटिंग क्या है?
  • डिजिटल मार्केटिंग के फायदे
  • यह क्यों जरूरी है?
  • डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार
  • कैसे करें कोर्स?
  • Popular Courses
  • Top Indian Digital Marketing Institutes
  • डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस
  • पात्रता
  • सैलरी
  • आवेदन प्रक्रिया
  • फ्री में डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करें?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस | Digital Marketing Course Fees In India

डिजिटल मार्केटिंग क्या है?

कुछ साल पहले, लोग अपने सामान को बेचने और ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए पोस्टर, टेम्प्लेट, विज्ञापन, समाचार पत्र जैसे विभिन्न तरीकों के माध्यम से अपने सामान की मार्केटिंग करते थे। लेकिन ये सभी क्रियाएं (साधन) बहुत कम ग्राहकों को आकर्षित कर सकीं, इसलिए व्यापारियों ने अपनी चीजों की मार्केटिंग के तरीके को बदल दिया और आजकल हर कोई अपने फोन से ऑनलाइन खरीदारी कर रहा है। पैसे भेज रहा है या प्राप्त कर रहा है।

डिजिटल मार्केटिंग, यह शब्द वर्ष 2000 के बाद और अधिक लोकप्रिय होने लगा। जब इंटरनेट में सर्च इंजन मार्केटिंग, सोशल मीडिया, ऐप्स आदि विकसित हुए, तो यह शब्द लोगों के लिए आम हो गया। डिजिटल मार्केटिंग वह है जिसमें हम अपने उत्पाद को मोबाइल और कंप्यूटर जैसे डिजिटल उपकरणों के माध्यम से विश्व स्तर पर बढ़ावा दे सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, यह जानने के साथ-साथ इसके फायदों को भी जानना जरूरी है, जो इस प्रकार हैं –

यंहा बहुत कम पैसे में मार्केटिंग की जा सकती है। आप इसे 100 रुपये या 1,000 रुपये से भी शुरू कर सकते हैं।

हम अपने विज्ञापनों को उन्हीं लोगों तक पहुँच सकते हैं जिन्हें हमारे उत्पादों या सेवाओं की आवश्यकता है। जबकि ट्रेडिशनल मार्केटिंग में ऐसा संभव नहीं है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital marketing) करना आसान है।

साथ ही, हम अपने अभियान में कैंपेन परिवर्तन आसानी से कर सकते हैं।

इसकी आमतौर पर एक अच्छी कन्वर्शन रेट होती है। यानी लोग जल्दी ग्राहक बन जाते हैं।

इंटरनेट मार्केटिंग में जॉब के कई ऑप्शन हैं।

आपकी एसईओ (SEO) टीम कैसे काम कर रही है, इसकी बेहतर निगरानी आप कर सकते हैं।

कोई भी व्यक्ति इंटरनेट मार्केटिंग के रूप में वर्क फ्रॉम होम के रूप में फ्रीलांस के रूप में काम कर सकता है।

यह क्यों जरूरी है?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, यह जानने के साथ-साथ यह जानना भी जरूरी है कि यह क्यों जरूरी है, जो इस प्रकार हैं –

यह तकनीक का युग है और इस आधुनिक समय में हर चीज में तकनीकी विकास हुआ है। इंटरनेट भी इस आधुनिकता का एक हिस्सा है।

आज का समाज समय की कमी से परेशान है इसलिए यह काफी जरूरी हो गया है।
लोग अपनी सुविधानुसार इंटरनेट के माध्यम से अपना पसंदीदा और आवश्यक सामान आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

कोरोनावायरस के दौर में लोग बाजार जाने से बचते हैं। ऐसे में यह व्यवसाय उत्पादों और सेवाओं को लोगों तक पहुंचाने में मदद करता है।

यह कम समय में एक ही वस्तु के कई प्रकार दिखा सकता है और उपभोक्ता अपनी पसंद का तुरंत चुन सकता है। इससे उपभोक्ता के बाजार आने – जाने का समय की बच जाता है।

इसके माध्यम से व्यापारी कम समय में अधिक लोगों से जुड़ सकता है और अपने उत्पाद की विशेषताओं को उपभोक्ता तक पहुंचा सकता है।

आप सभी पहले से ही जानते हैं कि परिवर्तन जीवन का नियम है, पहले के समय में और आज के जीवन में कितना कुछ बदल गया है और आज इंटरनेट का युग है।

इसकी मांग को मौजूदा समय में काफी मजबूती से देखा जा रहा है। जो व्यापारी अपना माल बना रहा है, वह बिना किसी तीसरे व्यक्ति के आसानी से अपना माल ग्राहकों तक पहुंचा रहा है। यह व्यापार को बढ़ावा दे रहा है।

आज के समय में हर व्यक्ति Google, Facebook और YouTube आदि का उपयोग कर रहा है। जिसके माध्यम से व्यापारी ग्राहकों को अपना उत्पाद प्रोडक्ट है।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार

डिजिटल मार्केटिंग करने का एक मात्र साधन इंटरनेट है, इसके प्रकार नीचे दिए गए हैं –

Search Engine Optimization (SEO) – यह एक ऐसी तकनीक (माध्यम) है जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन रिजल्ट में सबसे ऊपर रखती है, जिससे विजिटर्स की संख्या बढ़ती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को कीवर्ड्स और SEO गाइडलाइंस के हिसाब से बनाना होगा।

Social Media – सोशल मीडिया कई तरह की वेबसाइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन आदि से मिलकर बना है। सोशल मीडिया के जरिए एक व्यक्ति अपने विचारों, भावनाओं को हजारों लोगों के सामने रख सकता है। जैसा कि आप सभी ने देखा होगा कि जब हम इन साइटों पर जाते हैं, तो कुछ समय के लिए विज्ञापन दिखाई देते हैं, ये विज्ञापन आपकी पसंद से संबंधित हो भी सकते हैं और नहीं भी।

Email Marketing – ईमेल मार्केटिंग हर तरह से हर कंपनी के लिए जरूरी है क्योंकि कोई भी कंपनी अपने ग्राहकों को समय पर नए ऑफर और डिस्काउंट देती है, जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का एक आसान तरीका है। ईमेल मार्केटिंग किसी भी कंपनी द्वारा ईमेल द्वारा अपने उत्पादों की डिलीवरी है।

YouTube Channel – YouTube सोशल मीडिया मार्केटिंग का एक ऐसा माध्यम है जिसमें निर्माता अपने उत्पादों को सीधे लोगों तक पहुंचा सकता है।

Affiliate Marketing – वेबसाइटों, ब्लॉगों और लिंक के माध्यम से प्रोडक्ट का विज्ञापन एफिलिएट मार्केटिंग कहलाता है। इसके तहत आप अपना लिंक बनाएं और उस लिंक पर अपना प्रोडक्ट अपलोड करें। जब कोई ग्राहक उस लिंक के माध्यम से आपका प्रोडक्ट खरीदता है, तो आपको उसके लिए भुगतान मिलता है।

Apps Marketing – इंटरनेट पर अलग-अलग तरह के ऐप्स बनाकर, लोगों तक पहुंचना और उन ऐप्स के जरिए अपने प्रोडक्ट का प्रचार करना, इसे ऐप्स मार्केटिंग कहते हैं। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। बड़ी-बड़ी कंपनियां खुद के ऐप बनाती हैं और लोगों तक ऐप डिलीवर करती हैं।

कैसे करें कोर्स?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से किया जा सकता है। ऑनलाइन माध्यम से आप गूगल का फ्री सर्टिफाइड कोर्स कर सकते हैं और ऑफलाइन माध्यम से आप अपने शहर के किसी भी अच्छे संस्थान से कोर्स कर सकते हैं। Google से आप घर बैठे इस कोर्स को फ्री में सीख सकते हैं। इसके लिए आपको इन दो वेबसाइट पर जाना होगा-

  • Google Digital Unlocked
  • Google Skill Shop

ये दोनों ही Google की वेबसाइट हैं जहां से आप घर बैठे आसानी से सीख सकते हैं, नीचे कुछ जरूरी बातें बताई गई हैं-

गूगल की इन दोनों वेबसाइट के जरिए आप इस कोर्स को बिना किसी फीस के सीख सकते हैं।

जब आप यहां से कोर्स खत्म करते हैं तो आपको गूगल की ओर से सर्टिफिकेट भी दिया जाता है। इस प्रमाण पत्र का दूसरों की तुलना में बहुत महत्व है।

Google डिजिटल अनलॉक के साथ, आप टेक्स्ट और वीडियो दोनों स्वरूपों में डिजिटल मार्केटिंग के मूल सिद्धांतों को सीख सकते हैं। यहां से आप डिजिटल मार्केटिंग की बारीकियों को अच्छे से समझ सकते हैं।

पाठ्यक्रमों को अनलॉक करने के लिए आपको अपने Google खाते से साइन-अप करना होगा।

साइन अप करने के बाद, आपको उन पाठ्यक्रमों का विवरण मिलेगा। जिनमें 26 मॉड्यूल 40 घंटे की अवधि के होंगे।

Popular Courses

डिजिटल मार्केटिंग में कई ऐसे कोर्स हैं, जिनमें अलग-अलग विशेषज्ञ होते हैं। ऐसे टॉप कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है-

सीडीएमएम (CDMM)
एसईओ (SEO)
एस एम एम (SMM)
ईमेल व्यापार (E-mail Marketing)
इनबाउंड विपणन (Inbound Marketing)
ग्रोथ हैकिंग (Growth Hacking)
वेब एनालिटिकल (Web Analytical)
मोबाइल मार्केटिंग (Mobile Marketing)

Top Indian Digital Marketing Institutes

डिजिटल मार्केटिंग संस्थानों के नाम नीचे दिए गए हैं-

  • सिम्पलीलर्न, बैंगलोर (SimplyLearn, Bangalore)
  • AIMA- अखिल भारतीय प्रबंधन संघ, दिल्ली (AIMA – All India Management Association, Delhi)
  • DSIM- दिल्ली स्कूल ऑफ इंटरनेट मार्केटिंग, दिल्ली और बैंगलोर (DSIM- Delhi School of Internet Marketing, Delhi and Bangalore)
  • लर्निंग कैटलिस्ट, मुंबई (Learning Catalyst, Mumbai)
  • डिजिटल विद्या, पूरे भारत में शाखाएं (Digital Vidya, Branches across India)
  • नई दिल्ली वाईएमसीए, दिल्ली (New Delhi YMCA, Delhi)
  • Zica, इंदौर (Zica, Indore)
  • डिजिटल मार्केटिंग संस्थान-आईडीएम, मुंबई (Institute of Digital Marketing-IDM, Mumbai)
  • इंटरनेट मार्केटिंग स्कूल, कोलकाता (Internet Marketing School, Kolkata)

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए आपको जो फीस चाहिए वह कई कॉलेजों में अलग-अलग होती है। एक डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की फीस एक अनुमान के मुताबिक 15-60 हजार रुपये तक हो सकती है।

पात्रता

डिजिटल मार्केटिंग पाठ्यक्रमों के लिए सामान्य योग्यताएं नीचे दी गई हैं-

बैचलर्स कोर्स में एडमिशन लेने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12वीं पास की हो।

कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं। विदेश में स्नातक करने वालों के लिए SAT या ACT स्कोर की मांग की जाती है।

मास्टर्स कोर्सेस के लिए यह आवश्यक है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री पूरी की हो।

मास्टर्स कोर्सेस में प्रवेश के लिए कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं, तभी आप इन कोर्सेस के लिए पात्र हो सकते हैं। विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज में मास्टर्स के लिए GRE स्कोर की आवश्यकता होती है।

सैलरी

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स एक ऐसा कोर्स है, जिसे करने के बाद आपको जॉब के लिए कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि इस फील्ड में कोर्स करने के तुरंत बाद कैंडिडेट को जॉब मिल जाती है। लेकिन आपकी सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आप डिजिटल मार्केटिंग में कितने माहिर हैं और आप किस कंपनी में काम कर रहे हैं। किसी भी डिजिटल मार्केटर को शुरुआत में हर महीने 15,000 रुपये से लेकर 25,000 रुपये तक की सैलरी मिलती है।

आवेदन प्रक्रिया

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया नीचे दी गई है –

उम्मीदवार को 12 साल की बुनियादी शिक्षा पूरी करनी चाहिए। 12वीं (किसी भी स्ट्रीम से) पास होना चाहिए।

इस कोर्स को करने के लिए सबसे पहले आपको प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा।

छात्रों को ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के माध्यम से परीक्षा देनी होती है।

प्रवेश परीक्षा में प्राप्त Marks के आधार पर स्टूडेंट्स का विश्लेषण किया जाएगा।

शॉर्टलिस्ट किए गए छात्रों की मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी।

कुछ कॉलेज समूह चर्चा (जीडी) और व्यक्तिगत साक्षात्कार के माध्यम से भी प्रवेश प्रदान करते हैं।

फ्री में डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे करें?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में किया जा सकता है। हालाँकि, भारत में अधिकांश लोग हिंदी भाषा पढ़ना पसंद करते हैं। अगर आपकी अंग्रेजी अच्छी नहीं है तो आप इस कोर्स को हिंदी में भी कर सकते हैं। अगर आप फ्री कोर्स करना चाहते हैं तो आपको इंटरनेट पर कई ऐसी वेबसाइट और पोर्टल मिल जाएंगे जो आपको फ्री डिजिटल मार्केटिंग कोर्स सिखाती हैं।

बस कुछ भी सीखने का जज्बा होना चाहिए। इस लेख में हम आपको Best Digital Marketing Courses करने वाली कुछ Genuine और Reputed Websites के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। यह सभी वेबसाइट आपको Digital Marketing के Fundamentals के बारे में सभी छोटी और बड़ी जानकारी बहुत अच्छी तरह से समझ में आती है। जो आपके आने वाले डिजिटल मार्केटिंग करियर में बहुत उपयोगी है। फ्री डिजिटल मार्केटिंग कोर्स वेबसाइट – गूगल (Google), उडेमी (Udemy), सेमरश (SEMrush), लिंक्डइन (LinkedIn), कौरसेरा (Coursera), एडक्स (edx)

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का लेख जिसमें हमने आपको डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के बारे में सारी जानकारी दी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है और आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे कर सकते हैं। इसके अलावा हमने आपको यह भी जानकारी दी कि डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के लिए आपको कितनी फीस देनी पड़ सकती है और कोर्स करने के बाद आपको हर महीने कितनी सैलरी मिल सकती है।

इसके साथ ही हमने आपको यह भी बताया कि भारत में कौन से संस्थान हैं जहां से आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कर सकते हैं।

हमें पूरी उम्मीद है कि आज का लेख आपके लिए बहुत उपयोगी रहा है। आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं ताकि अगर कोई डिजिटल मार्केटिंग में अपना करियर बनाना चाहता है तो उसे सही जानकारी मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles