डिजिटल मार्केटिंग क्या है? | What Is Digital Marketing In Hindi?

Digital Marketing Kya Hai | Digital Marketing In Hindi | What Is Digital Marketing: आज कई चीजों का डिजिटलीकरण हो चुका है और कई फील्ड में डिजिटलीकरण निरंतर बढ़ रहा है। ऐसे में आप भी इस डिजिटल युग में अपना करियर बना सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग आज एक ऐसा क्षेत्र बन गया है जहां आप लाखों कमा सकते हैं। अगर आप इस फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं तो यहां हम आपके लिए लेकर आए हैं डिजिटल मार्केटिंग फील्ड से जुड़ी तमाम जानकारियां…

वतर्मान समय में सब कुछ ऑनलाइन हो चूका है। इंटरनेट ने हमारी लाइफ को अच्छा बना दिया है और इंटरनेट के माध्यम से हम सिर्फ फ़ोन या लैपटॉप के माध्यम से ही कई सुविधाओं का आनंद उठा सकते हैं।

हम इंटरनेट के माध्यम से कई काम कर सकते हैं जैसे ऑनलाइन शॉपिंग, टिकट बुकिंग, रिचार्ज, बिल भुगतान, ऑनलाइन लेनदेन आदि। इंटरनेट के प्रति उपयोगकर्ताओं के इस रुझान के कारण डिजिटल मार्केटिंग को अपना रहे है।

मार्किट के आंकड़ों पर नजर डालें तो लगभग 80% खरीदार किसी का प्रोडक्ट खरीदने से पहले या सर्विस लेने से पहले ऑनलाइन रिसर्च करते हैं। ऐसे में किसी भी कंपनी या बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग जरुरी हो जाती है।

डिजिटल माध्यम से अपने सामान व सेवाओं के विपणन की प्रतिक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है। डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट के माध्यम से की जाती है।

डिजिटल माध्यम नए ग्राहकों तक पहुंचने का एक आसान तरीका है। यह विपणन गतिविधियों को अंजाम देता है। इसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कह सकते हैं। कम समय में अधिक लोगों तक पहुंचने के लिए डिजिटल मार्केटिंग है। यह प्रौद्योगिकी विकसित करने के लिए एक विकासशील क्षेत्र है।

डिजिटल मार्केटिंग से निर्माता अपने ग्राहक तक पहुंचने के साथ-साथ उनकी गतिविधियों, उनकी जरूरतों पर भी नजर रख सकता है। ग्राहकों का रुझान किस तरफ है, ग्राहक क्या चाहता है, इन सब पर डिजिटल मार्केटिंग के जरिए चर्चा की जा सकती है। सीधे शब्दों में कहा जाए तो डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल तकनीक के माध्यम से कस्टमर्स तक पहुंचने का एक माध्यम है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (Digital Marketing Kya Hai | Digital Marketing In Hindi)

डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट, कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से की जाने वाली मार्केटिंग है। इसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कह सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग में सोशल मीडिया, मोबाइल, ईमेल, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन आदि का उपयोग टूल के रूप में किया जाता है।

आज डिजिटल मार्केटिंग विशेषज्ञ का सबसे बड़ी कंपनी में बहुत महत्व है। वे डिजिटल मार्केटिंग टीम के महत्वपूर्ण सदस्य हैं। वे डिजिटल मार्केटिंग सामग्री तैयार करने और बनाए रखने के लिए जिम्मेदार हैं। वे कंपनी के लिए वेब बैनर विज्ञापन, ईमेल और वेबसाइट बनाकर अपनी ब्रांडिंग करते हैं। इंटरनेट और डिजिटल तकनीक के लिए मार्केटिंग अभियान तैयार करता है, जिसे मोबाइल फोन और सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंचाया जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब प्रोफाइल

डिजिटल मार्केटिंग का दायरा बहुत बड़ा है। यहां आप इन पदों पर जॉब्स पा सकते हैं – डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर (Digital Marketing Manager), कंटेंट मार्केटिंग मैनेजर (Content Marketing Manager), सोशल मीडिया मार्केटिंग स्पेशलिस्ट (Social Media Marketing Specialist), वेब डिज़ाइनर (Web Designer), ऐप डेवलपर (App Developer), कंटेंट राइटर (Content Writer), सर्च इंजन मार्केटर, इनबाउंड मार्केटिंग मैनेजर, एसईओ एग्जीक्यूटिव, कन्वर्जन रेट ऑप्टिमाइज़र आदि।

पात्रता

इस फील्ड में काम करने के लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है। जो छात्र मार्केटिंग, कम्युनिकेशन या ग्राफिक डिजाइन में ग्रेजुएट हैं, वे डिजिटल मार्केटिंग में अपना करियर बना सकते हैं।

काम

वेब डिज़ाइनर, ऐप डिज़ाइनर और सोशल मीडिया मैनेजमेंट विशेषज्ञों के लिए यहां बहुत सारे अवसर हैं। इसके अलावा डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी और ई-कॉमर्स कंपनियों में भी ढेर सारे अवसर हैं। वहीं, घरेलू और विदेशी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट, सेवा प्रदान करने वाली कंपनियां, खुदरा कंपनियां आदि भी कई अवसर प्रदान कर रही हैं।

काम की बात

डिजिटल मार्केटिंग की सबसे अच्छी बात यह है कि यह एक उभरता हुआ व्यवसाय है। इसमें कोई यह दावा नहीं कर सकता कि वह सब कुछ जानता है। आप अपने इंटरेस्ट को देखते हुए आगे बढ़ सकते हैं और अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। इसमें आपको खुद को हर समय अपडेट करते रहना होता है।

समय बीतने के साथ पेशेवर और विशेषज्ञ लोगों की मांग बढ़ने वाली है। अपनी पसंद-नापसंद को देखते हुए डिजिटल के किसी भी क्षेत्र को चुनकर आप एक मजबूत करियर बनाने के साथ-साथ अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं।

क्यों जरूरी है डिजिटल मार्केटिंग?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ये तो आप समझ ही गए होंगे, लेकिन एक अहम सवाल यह है कि डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है? इसकी क्या जरूरत है?

हालाँकि मार्केटिंग गतिविधियों को पूरा करने के कई परिचित तरीके हैं जैसे ऑफ़लाइन विज्ञापन के तरीके जैसे पोस्टर, बैनर आदि, लेकिन यह भी ध्यान में रखना चाहिए कि हम आधुनिकता के युग में जी रहे हैं जहाँ अधिक से अधिक लोग इंटरनेट से जुड़ रहे हैं।

लोगों के पास समय की कमी या कुछ और है, लेकिन आज लोग इंटरनेट के माध्यम से खरीदारी, पैसे का भुगतान, टिकट बुकिंग, मनोरंजन, रिचार्ज आदि जैसे कई काम करना पसंद करते हैं और उनकी संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। इसलिए, हम कह सकते हैं कि अधिक से अधिक लोगों की ऑनलाइन उपस्थिति ने डिजिटल मार्केटिंग को आवश्यक बना दिया है।

आप खुद अंदाजा लगाइए, आज लोगों को कुछ भी खरीदना है, तो वे क्या करें? एक अनुमान के अनुसार अधिकांश लोग या उपभोक्ता कोई भी वस्तु या सेवा खरीदने से पहले इंटरनेट के माध्यम से उसके बारे में गहन शोध करते हैं, उसके बाद ही खरीदते हैं। ऐसे माहौल में किसी भी व्यवसाय के लिए अपने उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए डिजिटल मार्केटिंग की मदद लेना बहुत मददगार होता है।

ज्ञात हो कि आज कंपनियां अपने उत्पाद या सेवा को ऑनलाइन बढ़ावा देने के लिए एक अलग बजट तैयार करती हैं और बहुत सारा पैसा भी खर्च करती हैं क्योंकि यह अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने का एक आसान तरीका है। यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि यह तरीका ऑफलाइन विज्ञापन के तरीकों की तुलना में कम खर्चीला भी है।

आज बहुत कम लोग हैं जो गूगल, फेसबुक या यूट्यूब का उपयोग नहीं करते हैं, लेकिन हर कोई करता है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने प्रोडक्ट के बारे में बताने के लिए गूगल, फेसबुक या यूट्यूब जैसे प्लेटफॉर्म्स का होना कितना जरूरी है, यह बताने की जरूरत नहीं है।

यह आधुनिकता का युग है और इस आधुनिक समय में सब कुछ आधुनिक हो गया है। इसी क्रम में इंटरनेट भी इस आधुनिकता का एक भाग है जो हर तरफ जंगल की आग की तरह फैल रहा है। डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट इंटरनेट के माध्यम से कार्य करने में सक्षम है।

आज का समाज टाइम की कमी से जूझ रहा है, इसलिए डिजिटल मार्केटिंग आवश्यक हो गई है। हर इंसान इंटरनेट से जुड़ा हुआ है, वह इसे हर जगह आसानी से उपयोग कर सकता है। यदि आप किसी को आपसे मिलने के लिए कहते हैं, तो वे कहेंगे कि मेरे पास टाइम नहीं है, लेकिन उन्हें आपसे सोशल साइट्स पर बात करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। इन सब बातों को देखते हुए डिजिटल मार्केटिंग इस दौर में अपनी जगह बना रही है।

लोग अपनी सुविधानुसार इंटरनेट के माध्यम से अपना पसंदीदा और जरुरी सामान आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। अब लोग मार्किट जाने से बचते हैं, ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग बिज़नेस को अपने प्रोडक्ट और सेवाओं को लोगों तक पहुंचाने में मदद करती है। डिजिटल मार्केटिंग कम समय में एक ही वस्तु के कई प्रकार दिखा सकता है और उपभोक्ता अपनी पसंद का तुरंत ले सकता है। इस जरिये उपभोक्ता का बाज़ार जाना वस्तु पसंद करने, आने जाने में जो वक्त लगता है वो बच जाता है।

आज के टाइम में यह जरुरी हो गया है। कारोबारियों को कारोबार में भी सहायता मिल रही है। वह कम समय में अधिक लोगों से भी जुड़ सकता है और अपने प्रोडक्ट की विशेषताओं को उपभोक्ता तक पहुंचा सकता है।

वर्तमान समय में डिजिटल मार्केटिंग की मांग

परिवर्तन जीवन का नियम है, यह आप सभी जानते हैं। पहले के समय में और आज के जीवन में कितना कुछ बदल गया है और आज इंटरनेट का जमाना है। आज हर जाति के लोग इंटरनेट से जुड़े हुए हैं, इन सबकी वजह से सभी लोगों को एक जगह इकट्ठा करना आसान हो गया है जो पहले के समय में संभव नहीं था। इंटरनेट के माध्यम से हम सभी व्यवसायियों व ग्राहकों के मध्य संबंध भी स्थापित कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग की मांग मौजूदा वक्त में काफी मजबूत देखी जा रही है। जो व्यापारी अपना माल बना रहा है, वह इसे आसानी से ग्राहक तक पहुंचा रहा है। इससे डिजिटल बिज़नेस को बढ़ावा मिल रहा है।

पहले विज्ञापनों का सहारा लेना पड़ता था। ग्राहक इसे देखता था, फिर पसंद करता था, फिर खरीद लेता था। लेकिन अब सामान सीधे उपभोक्ता को भेजा जा सकता है। हर व्यक्ति गूगल, फेसबुक, यूट्यूब आदि का उपयोग कर रहा है, जिसके माध्यम से व्यापारी ग्राहक को अपना उत्पाद दिखाता है। यह व्यवसाय सभी के लिए सुलभ है – व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए भी।

हर व्यक्ति को हर काम की वस्तु बिना किसी मेहनत के आसानी से मिल जाती है। व्यापारी को यह भी सोचने की जरूरत नहीं है कि वह अखबार, पोस्टर या विज्ञापन का सहारा ले। सभी की सुविधा को देखते हुए इसकी मांग की गई है। लोगों का भरोसा भी डिजिटल मार्केटिं की ओर बढ़ रहा है। एक बिजनेसमैन के लिए यह खुशी की बात है।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार

सबसे पहले आपको बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए ‘इंटरनेट’ ही एक मात्र जरिया है। हम इंटरनेट पर ही विभिन्न वेबसाइटों के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं। हम आपको इसके कुछ प्रकारों के बारे में बताने जा रहे हैं –

  • SEO
  • Social Media
  • Email-Marketing
  • Youtube Channel
  • Affiliate Marketing
  • Pay Per Click Advertising
  • Apps Marketing Etc.

SEO

यह एक तकनीकी माध्यम है जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन रिजल्ट्स में सबसे ऊपर रखता है जिससे विजिटर्स की संख्या बढ़ती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को कीवर्ड्स और एसईओ (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) गाइडलाइंस के हिसाब से बनाना होगा।

Social Media

सोशल मीडिया कई वेबसाइटों से बना है – जैसे कि फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, आदि। सोशल मीडिया के माध्यम से एक व्यक्ति हजारों लोगों के सामने अपने विचार रख सकता है। आप सोशल मीडिया से अच्छी तरह वाकिफ हैं। जब हम इस साइट पर जाते हैं, तो हमें कुछ अंतराल पर इस पर विज्ञापन दिखाई देते हैं, यह विज्ञापन का एक प्रभावी साधन है।

Email-Marketing

ई-मेल मार्केटिंग में कोई भी कंपनी है जो अपने उत्पादों को ई-मेल के माध्यम से वितरित करती है। ईमेल मार्केटिंग हर तरह से हर कंपनी के लिए जरूरी है क्योंकि कोई भी कंपनी ग्राहकों को समय पर नए ऑफर्स और डिस्काउंट देती है, जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग एक आसान तरीका है।

Youtube Channel

सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम है जिसमें निर्माता को अपने उत्पादों को सीधे लोगों तक पहुंचाना होता है। इस पर लोग अपनी प्रतिक्रिया भी व्यक्त कर सकते हैं। यही वह माध्यम है जहां बहुत से लोगों की भीड़ होती है या यूं कहें कि यूट्यूब पर बड़ी संख्या में उपयोगकर्ता/दर्शक रहते हैं। वीडियो बनाकर लोगों के सामने अपने उत्पाद को दिखाने का यह एक सुलभ और लोकप्रिय माध्यम है।

Affiliate Marketing

एफिलिएट मार्केटिंग वेबसाइटों, ब्लॉगों या लिंक के माध्यम से विज्ञापन उत्पादों द्वारा प्राप्त मेहनताना है। इसके तहत आप अपना लिंक बनाएं और उस लिंक पर अपना प्रोडक्ट डालें। जब कोई ग्राहक उस Link पर Click करके आपका Product खरीदता है, तो आपको उस पर भुगतान मिलता है।

Pay Per Click Advertising

जिस विज्ञापन को देखने के लिए आपको भुगतान देने पड़ते हैं उसे पे पर क्लिक एडवरटाइजिंग कहते हैं। जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि इस पर क्लिक करते ही पैसे कट जाते हैं। यह सभी प्रकार के विज्ञापनों के लिए है। बीच-बीच में ये विज्ञापन आते रहते हैं। अगर कोई इन विज्ञापनों को देखता है तो उसके पैसे काटे जाते हैं। यह भी एक प्रकार की डिजिटल मार्केटिंग है।

Apps Marketing

ऐप्स मार्केटिंग इंटरनेट पर अलग-अलग ऐप बनाने और लोगों तक पहुंचने और उस पर अपने उत्पाद को बढ़ावा देने की प्रक्रिया है। यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत अच्छा तरीका है। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्ट फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। बड़ी कंपनियां अपने खुद के ऐप बनाती हैं और लोगों तक ऐप डिलीवर करती हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स

यहां हम डिजिटल मार्केटिंग की कुछ युक्तियों के बारे में चर्चा करेंगे।

Search Engine Optimization 

यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसकी मदद से वेबसाइट को ऑप्टिमाइज किया जाता है ताकि उसकी एक बेहतर रैंक हो। जिससे वेबसाइट पर अच्छा ऑर्गेनिक ट्रैफिक अपने आप आ जाए। इसके साथ ही इसे सर्च रिजल्ट में भी सबसे पहले दिखाना चाहिए।

Content Marketing

कंटेंट एसेट्स का निर्माण और प्रचार ताकि ब्रांड जागरूकता, ट्रैफिक ग्रोथ, लीड जनरेशन सही तरीके से हो सके।

Inbound Marketing

इनबाउंड मार्केटिंग का अर्थ है एक ‘पूर्ण फ़नल’ दृष्टिकोण जिसमें ऑनलाइन सामग्री का उपयोग आपके ग्राहकों को आकर्षित करने, परिवर्तित करने, बंद करने और अंततः प्रसन्न करने के लिए किया जाता है।

Social Media Marketing

इस मार्केटिंग में, आपके ब्रांड और आपकी सामग्री को सोशल मीडिया चैनलों में प्रचारित किया जाता है ताकि ब्रांड जागरूकता, ट्रैफ़िक ड्राइव, और स्वयं के व्यवसाय में वृद्धि हो।

Pay-Per-Click (PPC)

यह आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने का एक ऐसा तरीका है, जिसमें आपके विज्ञापनों पर क्लिक होने पर आपको अपने प्रकाशक को पैसे देने होते हैं। एक बहुत ही लोकप्रिय पीपीसी गूगल ऐडवर्ड्स है।

Affiliate Marketing

यह एक प्रदर्शन-आधारित विज्ञापन है जिसमें यदि आप अपनी वेबसाइट पर किसी और के उत्पादों और सेवाओं का प्रचार कर रहे हैं तो आपको कमीशन मिलता है।

Native Advertising

Native Advertising उन विज्ञापनों को कहा जाता है जो मुख्य रूप से सामग्री-आधारित होते हैं और जो किसी भी गैर-भुगतान सामग्री के साथ अन्य प्लेटफार्मों में प्रदर्शित होते हैं।

Marketing Automation

मार्केटिंग ऑटोमेशन उसे कहा जाता है जिसमें मार्केटिंग प्रमोशन के लिए सॉफ्टवेयर या किसी अन्य टूल का इस्तेमाल किया जाता है। ताकि कुछ दोहराए जाने वाले कार्य जैसे ईमेल, सोशल मीडिया और अन्य वेबसाइट क्रियाएं स्वचालित हो जाएं।

Email Marketing

कंपनियां अपने दर्शकों के साथ संवाद करने के लिए ईमेल मार्केटिंग का उपयोग करती हैं। ईमेल का उपयोग सामग्री, छूट और इवेंट्स को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग की उपयोगिता

आप अपनी वेबसाइट पर एक ब्रोशर बना सकते हैं और लोगों के लेटर-बॉक्स पर अपने उत्पाद का विज्ञापन भेज सकते हैं। आपको कितने लोगदेख रहे हैं ये भी पता लगाया जा सकता है।

वेबसाइट ट्रैफिक – किस वेबसाइट पर विजिटर्स की सबसे ज्यादा भीड़ होती है – पहले आप यह जान लें, फिर उस वेबसाइट पर अपना विज्ञापन डालें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग आपको देख सकें।

एट्रिब्यूशन मॉडलिंग – इसके द्वारा हम यह पता लगा सकते हैं कि लोग किस उत्पाद में रुचि ले रहे हैं या वे आजकल कौन से विज्ञापन देख रहे हैं। इसके लिए स्पेशल इक्विपमेंट का उपयोग करना पड़ता है जो एक विशेष तकनीक द्वारा किया जा सकता है और हम अपने उपभोक्ताओं के कामो यानि उनकी रुचि पर नजर रख सकते हैं।

आप अपने ग्राहकों से कैसे जुड़ रहे हैं यह महत्वपूर्ण है। उनकी जरूरत के साथ-साथ आपको अपनी पसंद पर भी नजर रखनी चाहिए, ऐसा करने से कारोबार में इजाफा हो सकता है।

उनका आप पर भरोसा भी बहुत जरूरी है, उस विज्ञापन को देखने के बाद उत्पाद को खरीदने में संकोच न करें, तुरंत ले लें। आपको उनका विश्वास देना होगा। ग्राहक को आश्वस्त करना आपकी जिम्मेदारी है।

डिजिटल मार्केटिंग के लाभ

लोगों को डिजिटल रूप से मार्केटिंग करने के कई फायदे हैं। इसमें आप अपने ग्राहकों को कनेक्टेड रख सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग के फायदों को नीचे ध्यान से पढ़ें।

  • डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके जरिए आप अपने कंटेंट या प्रोडक्ट को घर बैठे लोगों तक पहुंचा सकते हैं।
  • डिजिटल मार्केटिंग के जरिए आप अपने ग्राहकों को अपने उत्पादों के बारे में आसानी से बता सकते हैं।
  • डिजिटल मार्केटिंग के जरिए आप अपने कंटेंट या प्रोडक्ट की ब्रांडिंग करके अपना खुद का ब्रांड बना सकते हैं।
  • इसमें आप सोशल मीडिया के जरिए भी अपने ब्रांड को लोकप्रिय बना सकते हैं।
  • डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से आप अपने किसी भी नए उत्पाद की सूचना अपने ग्राहक को दे सकते हैं।
  • डिजिटल मार्केटिंग में, आप अपना खुद का एक ब्लॉग बना सकते हैं और अपने उत्पाद से संबंधित कुछ सामान्य प्रश्न या अपने किसी उत्पाद या सामग्री का विवरण दे सकते हैं।
  • कोई भी यूजर आपके प्रोडक्ट के रिव्यू पढ़कर उसके बारे में जान सकता है।
  • आप ईमेल या ब्लॉग कमेंटिंग के माध्यम से अपने ग्राहक या उपयोगकर्ता से जुड़े रहते हैं।
  • समीक्षाओं के माध्यम से आप अपने किसी उत्पाद या सामग्री की कमी जान सकते हैं।
  • डिजिटल मार्केटिंग में आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर बनाए गए अबाउट पेज के जरिए अपने कस्टमर या यूजर को अपने बारे में बता सकते हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको यह जानकारी (Digital Marketing Kya Hai | What Is Digital Marketing In Hindi) पसंद आयी होगी। अगर आपको यह लेख (Digital Marketing Kya Hai | What Is Digital Marketing In Hindi) मददगार लगा है तो आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें । और अगर आपका इस आर्टिकल (Digital Marketing Kya Hai | What Is Digital Marketing In Hindi) से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेख के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles