फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है, इसकी स्थापना किसने और कब की?

फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai: फ्लिपकार्ट का नाम तो हम सभी जानते हैं। यह अमेज़न के बाद भारत की दूसरी सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है, फिर भी लोग अमेज़न के मालिक का नाम जानते हैं लेकिन फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है? यह किस देश की कंपनी है। इस पर लोगों की राय एक दूसरे से अलग है और ज्यादातर लोगों को यह भी नहीं पता कि फ्लिपकार्ट को किसने बनाया या इसका मालिक कौन है?

वहीं ज्यादातर लोग यह नहीं जानते हैं कि फ्लिपकार्ट किस देश की कंपनी है। अगर आपको भी फ्लिपकार्ट के बारे में कोई खास जानकारी नहीं है तो आप इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट में हम आपको फ्लिपकार्ट कंपनी के बारे में पूरी जानकारी देंगे। और उसके मालिक के बारे में भी बताएंगे, साथ ही यह भी बताएंगे कि फ्लिपकार्ट कंपनी किस देश की है।

आजकल हर कोई ऑनलाइन शॉपिंग करता है, चाहे वह कपड़े हो या कोई भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट, आज हम अपने घर के दरवाजे पर सिर्फ एक क्लिक से कोई भी समान मंगवा सकते हैं और यह सब ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट के कारण ही संभव हो पाया है। फ्लिपकार्ट भी ऐसी ही एक ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट हैं जहां लोग अपने पसंद के समान आसानी से मंगवा सकते हैं।

फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai

Included

  • फ्लिपकार्ट क्या है?
  • फ्लिपकार्ट की स्थापना किसने और कब की?
  • फ्लिपकार्ट कंपनी का मालिक कौन है?
  • फ्लिपकार्ट की शुरुआत कैसे हुई?
  • फ्लिपकार्ट के सीईओ कौन हैं?
  • फ्लिपकार्ट कंपनी कहाँ की है?
  • फ्लिपकार्ट का मुख्यालय कहाँ है?
  • फ्लिपकार्ट की कमाई
  • फ्लिप्कार्ट की सहायक कम्पनी
  • प्रश्नोत्तरी

फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai

फ्लिपकार्ट क्या है?

फ्लिपकार्ट भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है जो अपने ग्राहकों को बेहतरीन ऑनलाइन रिटेलिंग सेवा प्रदान करती है।

फ्लिपकार्ट के आने के बाद, भारत में ऑनलाइन शॉपिंग का युग शुरू हुआ, फ्लिपकार्ट ने खरीदारी को बहुत आसान बना दिया, जहां पहले इसे प्राप्त करने के लिए दुकान पर जानना पड़ता था। लेकिन आज आप अपने घर पर सिर्फ एक क्लिक से कोई भी सामान मंगवा सकते हैं।

फ्लिपकार्ट किताबें बेचने के साथ-साथ कंप्यूटर, कंप्यूटर बैग, हेडफोन, पेन ड्राइव जैसी चीजें डिजिफ्लिप के नाम से बेचता था। एक साल के भीतर ही फ्लिपकार्ट ने अपने ग्राहकों की संख्या में काफी इजाफा कर दिया। एक साल के भीतर फ्लिपकार्ट में रोजाना 100 किताबों का ऑर्डर आने लग गया।

फ्लिपकार्ट में आज घर के हर सामान के साथ कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक सामान भी बेचा जाता है। सामान बेचने के साथ-साथ फ्लिपकार्ट में ऑनलाइन मूवी बुकिंग और ऑनलाइन टिकट बुकिंग के साथ-साथ फ्लिपकार्ट में क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेटबैंकिंग और ऑनलाइन टिकट बुकिंग भी है। कैश ऑन डिलीवरी की सुविधा भी उपलब्ध है।

फ्लिपकार्ट की स्थापना किसने और कब की?

फ्लिपकार्ट कंपनी की स्थापना अक्टूबर 2007 में सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने की थी। इन दोनों दोस्तों ने मिलकर भारत के दिल्ली शहर में फ्लिपकार्ट की शुरुआत की, दोनों ने इस कंपनी की शुरुआत केवल 10,000 रुपये से की थी, जो आज 5 अरब से अधिक की कमाई कर रही है।

फ्लिपकार्ट कंपनी का मालिक कौन है?

फ्लिपकार्ट के मालिक “सचिन बंसल” और “बिन्नी बंसल” हैं। ये फ्लिपकार्ट के संस्थापक हैं। इन दोनों दोस्तों ने मिलकर इतनी बड़ी ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइट की नींव रखी और आज तक इस कंपनी को संभाल रहे हैं।

सचिन बंसल और बिन्नी बंसल दोनों ही IIT के छात्र थे, दोनों ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अमेज़न कंपनी में काम करना शुरू किया, जहां से उन्हें पता चला कि अमेज़न जैसी इतनी बड़ी ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइट कैसे काम करती है।

ई-कॉमर्स कंपनी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के बाद दोनों ने अपनी खुद की ई-कॉमर्स वेबसाइट शुरू करने के बारे में सोचा क्योंकि उस वक्त इंडिया में ऐसी कोई वेबसाइट नहीं थी जो लोगों को ऑनलाइन शॉपिंग की सेवा प्रदान करे।

हालांकि सचिन बंसल और बिन्नी बंसल फ्लिपकार्ट के मालिक हैं, लेकिन कुछ समय पहले अमेरिकी रिटेलर कंपनी वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 77 फीसदी शेयर को 16 अरब डॉलर में खरीदा था। वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट को खरीदकर अपने कारोबार का विस्तार किया, जिससे फ्लिपकार्ट का विकास हुआ। वहीं वॉलमार्ट के कारोबार में भी काफी तेजी आई।

फ्लिपकार्ट की शुरुआत कैसे हुई?

फ्लिपकार्ट, जो एक बहुत बड़ा ऑनलाइन मेगास्टोर है। इसकी शुरुआत 2007 में सचिन बंसल व बिन्नी बंसल ने फ्लिपकार्ट ऑनलाइन सर्विस स्टोर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से की थी।

और देखते ही देखते फ्लिपकार्ट ने अपना नेटवर्क पूरे भारत में फैला दिया, 2017 के आंकड़ों के मुताबिक भारत के ई-कॉमर्स उद्योग में फ्लिपकार्ट की 39.5% हिस्सेदारी है। यह एक बहुत बड़ी कंपनी बन गई है।

भारत के शीर्ष इंजीनियरिंग कॉलेज आईटी से कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएशन करने वाले दो दोस्त सचिन बंसल और बिन्नी बंसल अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद सबसे बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेज़न में काम करते थे, उसी से दोनों को खुद की कंपनी बनाने का विचार आया।

और धीरे-धीरे अमेज़न में काम करते हुए दोनों अमेज़न को जान रहे थे और यह जानने की कोशिश कर रहे थे कि ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी कैसे काम करती है। और फिर दोनों ने साथ में अमेज़न को छोड़ दिया और बहुत ही कम लागत में सितंबर 2007 में अमेज़न की नींव रखी।

शुरुआत में ये लोग फ्लिपकार्ट पर केवल किताबें बेचते थे, फिर धीरे-धीरे फ्लिपकार्ट का विस्तार किया और इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद, कपड़े, रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाले उत्पाद, फैशन लाइफस्टाइल आदि बेचने लगे।

धीरे-धीरे यह कंपनी बड़ी हो गई उसके बाद फ्लिपकार्ट ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। मार्च 2017 में, फ्लिपकार्ट ने अकेले भारतीय ई-कॉमर्स उद्योग में 39.5 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी पर कब्जा कर लिया था और आज यह 2.8 लाख करोड़ की कुल संपत्ति के साथ भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है।

फ्लिपकार्ट के सीईओ कौन हैं?

जब फ्लिपकार्ट की शुरुआत हुई थी, तब फ्लिपकार्ट के CEO सचिन बंसल थे और वह लंबे समय तक फ्लिपकार्ट के CEO बने रहे, उसके बाद उनके दोस्त बिन्नी बंसल फ्लिपकार्ट के दूसरे CEO बने और साथ ही वह फ्लिपकार्ट के एक्जीक्यूटिव चेयरमैन भी थे। साल 2018 कल्याण कृष्णमूर्ति को फ्लिपकार्ट का सीईओ बनाया गया। जो अभी भी फ्लिपकार्ट के सीईओ के पद पर हैं।

फ्लिपकार्ट कंपनी कहाँ की है?

फ्लिपकार्ट की स्थापना करने वाला व्यक्ति भारत का निवासी है, साथ ही भारत के दिल्ली शहर से फ्लिपकार्ट की शुरुआत की थी, इसलिए यह कहा जा सकता है कि फ्लिपकार्ट एक भारतीय कंपनी है, इतना ही नहीं, इस कंपनी का मुख्य कार्यालय है भारत में ही है।

फ्लिपकार्ट का मुख्यालय कहाँ है?

फ्लिपकार्ट एक भारतीय कंपनी है। अब आप यह जान गए होंगे। आइए अब जानते हैं कि इसका मुख्य कार्यालय कहां हैं? कई लोगों को यह गलतफहमी थी कि Flipkart का मुख्यालय दूसरे देश में है।

लेकिन ये बिल्कुल गलत है। फ्लिपकार्ट कंपनी का मुख्य कार्यालय बैंगलोर, कर्नाटक राज्य में है। अपने व्यापार को और विस्तार देने के लिए, फ्लिपकार्ट ने 2009 में दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों में अपना कार्यालय खोला। अपने व्यापार को विदेशों में विस्तारित करने के लिए, फ्लिपकार्ट ने अपना खुद का व्यवसाय शुरू किया। सिंगापुर में एक और मुख्य कार्यालय खोला गया।

फ्लिपकार्ट की कमाई

अगर यह इतनी बड़ी कंपनी है तो इसकी कमाई कितनी है? आइए जानते हैं फ्लिपकार्ट की कितनी कमाई है।

अगर 2019 की बात करें तो उस साल फ्लिपकार्ट ने 43000 करोड़ से ज्यादा की कमाई की थी। फ्लिपकार्ट ने बहुत ही कम समय में सफलता की कई ऊंचाइयों को हासिल किया है और अपनी सफलता के आधार पर फ्लिपकार्ट ने अपनी कंपनी के विस्तार और विकास के लिए कुछ आवश्यक कदम उठाए हैं जिनका उल्लेख नीचे किया गया है।

2014 में, Myntra जो कि फ्लिपकार्ट में एक क्लोथिंग ऑनलाइन स्टोर है, को 300 मिलियन डॉलर में खरीदा गया था और कंपनी ने दो साल बाद यानी 2016 में Jabong को भी खरीदा था।

PhonePe एक ऑनलाइन पेमेंट कंपनी है। इसे भी Flipkart ने 70 मिलियन डॉलर में खरीदा था।

इसके बाद ईबे ने फ्लिपकार्ट की इक्विटी में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 50 करोड़ डॉलर का निवेश किया और eBay.in को फ्लिपकार्ट को बेच दिया।

फ्लिप्कार्ट की सहायक कम्पनी

  • Jabong
  • Phonepe
  • Myntra
  • 2 Gud
  • Ekart
  • Jeeves

प्रश्नोत्तरी

फ्लिपकार्ट कंपनी का मुख्यालय कहाँ है?
फ्लिपकार्ट का मुख्यालय बैंगलोर, कर्नाटक, भारत में है।

फ्लिपकार्ट की स्थापना कब हुई थी?
फ्लिपकार्ट की स्थापना अक्टूबर 2007 में बैंगलोर में हुई थी।

फ्लिपकार्ट किस देश की कंपनी है?
फ्लिपकार्ट भारत की कंपनी है।

फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है?
फ्लिपकार्ट के मालिक “सचिन बंसल” और “बिन्नी बंसल” हैं। ये फ्लिपकार्ट के संस्थापक हैं।

फ्लिपकार्ट के सीईओ कौन हैं?
फ्लिपकार्ट के सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति हैं और वह जनवरी 2017 से इस पद पर कार्यरत हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको यह जानकारी (फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai) पसंद आयी होगी। अगर आपको यह लेख (फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai) मददगार लगा है तो आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें । और अगर आपका इस आर्टिकल (फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है | Flipkart Ka Malik Kaun Hai) से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेख के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles