MLM क्या है इसके फायदे, नुकसान और कैसे बने एक MLM Leader

MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi | MLM Full Form In Hindi: आपको पता होना चाहिए कि MLM क्या है (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi)। इंडिया एक बहुत बड़ा देश है और इसकी आबादी भी वर्ल्ड में सेकंड नंबर पर आती है। भारत में बेरोजगारी बहुत अधिक है। शिक्षित होने के बावजूद रोजगार कम हैं और इसलिए बेरोजगार युवा सोचते हैं कि पैसा कैसे कमाया जाए और नए तरीके खोजने लगते है ताकि वे अच्छी आय अर्जित कर सकें। बहुत से लोग घर पर रहकर ही काम करके पैसा कमाना चाहते हैं, पर कुछ लोग बाहर काम करना पसंद करते हैं। आपने इंटरनेट में देखा होगा कि पैसे कमाने के कई तरीके हैं। जिनमें से कुछ ही तरीके हैं जिनसे आप वास्तव में पैसे कमा पाएंगे।

आपको कोई ऐसा व्यक्ति भी मिला होगा। जिसने आपको एक ऐसे प्लान के बारे में बताया होगा जिसमें आपको लोगों से जुड़ना है। वैसे तो भारत में इस तरह की प्लानिंग वाली कई कंपनियां हैं लेकिन कुछ ही कंपनियां भरोसेमंद होती हैं। अक्सर लोग इस प्रकार के नेटवर्किंग व्यवसाय से जुड़ जाते हैं और बड़े उत्साह के साथ काम करते हैं। लेकिन ऐसा भी हुआ है कि कई कंपनियां बंद हो गई हैं लेकिन कुछ अभी भी ठीक चल रही हैं। इससे जुड़े लोग सफल हुए भीहैं जिन्होंने पूरी लगन से काम किया है। आज की इस पोस्ट में हम MLM क्या है (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi) के बारे में पूर्ण विस्तार से जानेंगे और साथ ही ये भी जानेंगे की MLM का सच क्या है।

MLM Kya Hai

  • MLM क्या है (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi)
  • MLM बिजनेस में सफलता कैसे प्राप्त करें?
  • MLM कंपनी कैसे चुनें
  • MLM Business के फायदे
  • MLM Business के नुकसान
  • MLM में क्यों नहीं हो पाते है सफल
  • अधिकतम आय कैसे प्राप्त करें?

MLM क्या है (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi)

एमएलएम का फुल फॉर्म मल्टी लेवल मार्केटिंग है। इसे पिरामिड सेलिंग, नेटवर्क मार्केटिंग और रेफरल मार्केटिंग भी कहा जाता है। एमएलएम में योजना के तहत एक लेदर होता है जिसके तहत लोग जुड़े होते हैं। इसमें शामिल लोग कंपनी के उत्पाद या सेवा को बाजार में बेचते हैं। यह एक ऐसा नेटवर्क है जिसमें एक व्यक्ति अपने अंतरगत लोगों को जोड़ता है और उसके अंतरगत जुड़े लोग दूसरे लोगों को जोड़ते रहते हैं। इस तरह लोग जुड़ते रहते हैं और एक श्रंखला बन जाती है।

कंपनी की सर्विस और प्रोडक्ट को जुड़े लोगों द्वारा भी बेचा जाता है और वे खुद भी उनका उपयोग करते हैं। इसमें शामिल लोग कंपनी द्वारा बनाए गए उत्पाद का प्रचार भी करते हैं। जिससे सभी को फायदा होता है। जब कोई व्यक्ति किसी उत्पाद को बेचता है तो उसे उसका कमीशन दिया जाता है। इससे उसके ऊपर लेवल वाले व्यक्ति को भी लाभ होता है। वैसे तो हर कंपनी के अपने नियम और कानून होते हैं। लेकिन सभी नेटवर्किंग कंपनियों में यह आम बात है कि जो व्यक्ति पुराना हो जाता है और उससे जुड़े लोग बड़ी संख्या में बन जाते हैं, वह बहुत कमाता है।

इस काम से जुड़ने वाले नए लोग सबसे निचले स्तर पर होते हैं और उन्हें स्टार्टिंग में काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। इन लोगों को उत्पाद और सेवा बेचनी पड़ती है। इसके लिए वे उन लोगों के पास जाते हैं जिन्हें वे जानते हैं और उस उत्पाद या सेवा की विशेषताओं के बारे में बताते हैं। अब अगर कोई आपको जानता है तो वह आपकी बात पर यकीन कर लेगा, इस तरह कंपनी की सर्विस और प्रोडक्ट बिकता है। अधिकांश नए शामिल हुए लोग उत्पाद बेचते हैं और साथ ही अधिक नए लोगों को ढूंढते हैं जो इस कंपनी में शामिल हो सके और काम कर सके । इसलिए यह सिलसिला बढ़ता रहता है।

MLM बिजनेस में सफलता कैसे प्राप्त करें?

आजकल हमारे देश में हर कोई शिक्षा का लाभ उठा रहा है लेकिन सभी को नौकरी या कोई रोजगार नहीं मिलता है। ऐसे में लोग विकल्प तलाशते हैं। हर कोई पैसा चाहता है। पैसे कमाने के मामले में नेटवर्क मार्केटिंग या एमएलएम का नाम काफी समय से चर्चा में है। इसमें कई लोगों को सफलता मिली है। फिर भी, जो लोग इसे चतुराई से करते हैं वे निश्चित रूप से सफल होते हैं। यहां हम इस बात को विस्तार से जानेंगे कि आखिर वे कौन सी चीजें हैं, जिसके बाद हम और आप भी आसानी से एमएलएम बिजनेस में सफलता हासिल कर सकेंगे।

जब भी आप किसी एमएलएम बिजनेस से जुड़ने वाले हों तो सबसे पहले उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी लें। जानिए इसके इतिहास के बारे में। उसके विश्वास की जाँच करें कि वह कंपनी नकली है या नहीं। आज हर किसी के पास टेक्नोलॉजी है, आप कोई भी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए कंपनी पर आंख मूंदकर भरोसा न करें। इसके हर पहलू के बारे में जानकारी की जाँच करें। जैसे कंपनी कहाँ है, कब बनी थी और किसने बनाई थी? सरकार (Government) द्वारा मान्यता प्राप्त है या नहीं? इसमें शामिल लोगों से फीडबैक लेने की कोशिश करें।

उस योजना को समझें जिसके तहत कंपनी में काम किया जाता है। जब तक आप योजना को ठीक से नहीं समझेंगे, तब तक आप काम ठीक से नहीं कर पाएंगे। योजना को समझने के बाद अगर आपको लगता है कि आप उस काम को कर पाएंगे तो उससे जुड़ें।

ज्वाइन करने के बाद इससे जुड़े लोगों से मेलजोल बढ़ाएं और सभी की कार्यशैली सीखने की कोशिश करें। ज्यादा से ज्यादा लोगों से दोस्ती करें।

जब आप अपने तहत लोगों को जोड़ते हैं, तो ऐसे लोगों को चुनें जो सक्रिय हों और काम के लिए पूरी तरह से समर्पित हों।

समय-समय पर अपनी टीम को प्रेरित करते रहें और उन्हें अच्छे काम करने के लिए प्रोत्साहित करें, इससे आपकी टीम अधिक सक्रिय होगी और लोगों में काम के प्रति रुचि भी बढ़ेगी।

जो लोग आपकी कंपनी में ऊँचे पद पर पहुँच चुके हैं उनसे बात करें और उनसे सभी कामों की जानकारी प्राप्त करें। उनसे सीखने की कोशिश करें कि उन्होंने कैसे काम किया और कैसे उन्होंने सफलता हासिल की।

दूसरों को कभी भी गलत बात न बताएं, झूठ न बोलें, केवल सच बताएं। क्योंकि झूठ की नींव खोखली होती है। अगर आप एक बार झूठ बोल देंगे तो फिर कोई आप पर भरोसा नहीं करेगा।

लोगों के बीच जाये और उन्हें काम करने के लिए प्रोत्साहित करे । लोगों को योजना के बारे में अच्छे से समझाएं। ताकि लोगों के लिए कंपनी से जुड़ना और काम करने का आनंद लेना आसान हो।

MLM कंपनी कैसे चुनें

एमएलएम बिजनेस में सफलता तभी मिलेगी जब आप काम अच्छे से करेंगे लेकिन सबसे जरूरी है काम करने के लिए एक अच्छी कंपनी का होना। क्योंकि अगर कंपनी अच्छी नहीं है तो काम करने का कोई फायदा नहीं है। जानिए कैसे करें एक अच्छी कंपनी का चुनाव।

जैसा कि मैंने पहले ही बताया कि कंपनी की पहचान करना और उसके बारे में हर जानकारी लेना बहुत जरूरी है। सबसे पहले यह जान लें कि कंपनी का गठन कब हुआ और यह कितनी पुरानी है? इसमें कितने लोग जुड़े हैं। कंपनी का प्रबंधक कौन है?

कंपनी का लीडर कौन है, उनसे मिलें और बात करें और जानकारी प्राप्त करें कि इसमें कैसे कमाई करें?

कभी भी कंपनी के ऑफिस और खुद साइट देखे बिना ज्वाइन न करें। नकली और फरजो लोगों की कोई कमी नहीं है, इसलिए आप जितना सावधान रहें उतना ही अच्छा है।

आप जिस कंपनी से जुड़ना चाहते हैं उसकी मान्यता के बारे में पता करें। उसका कानूनी दस्तावेज खुद देखें। कंपनी की सरकारी मान्यता होना अनिवार्य है, कभी भी ऐसी कंपनी में शामिल न हों जिसके पास कानूनी दस्तावेज नहीं है या वह अपना पेपर नहीं दिखाना चाहती है। ऐसे लोग स्पैमिंग भी कर सकते हैं।

योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करें।

यह भी जान लें कि सदस्यता योजना एक बार की है या इसे सालाना नवीनीकृत किया जाता है।

कंपनी के उत्पाद के बारे में जानकारी लें और आय अनुपात जानें और प्रायोजन के बारे में भी जानकारी लें।

MLM Business के फायदे

किसी भी काम को करने का मकसद पैसा कमाना होता है पर इसके अलावा जब हम किसी कंपनी के तहत काम करते हैं या कोई नौकरी करते हैं तो हमें कई फायदे भी मिलते हैं। MLM बिज़नेसभी एक बहुत ही प्रसिद्ध बिज़नेसहै जिससे बहुत कुछ सीखा जा सकता है. तो आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में।

बेहतर संचार

जब आप एमएलएम में काम करते हैं तो आपको रोज नए लोगों से मिलना होता है। सभी को बिजनेस और प्लान समझाना है। समझाने का तरीका ऐसा होता है कि लोग आकर्षित होकर आपसे जुड़ जाते हैं। शुरुआत में आपका कम्युनिकेशन अच्छा नहीं होता लेकिन धीरे-धीरे आप कम्युनिकेट करना भी सीख जाते हैं। और लोगों को राजी करने की कला भी सिख जाते है। यह एक अनूठी कला है जिससे आप लाभान्वित होते हैं।

समय प्रबंधन

नेटवर्क मार्केटिंग करके आप हर मिनट की कीमत बहुत अच्छे से समझ सकते हैं। इसलिए जब हम खाली समय में होते हैं, तो हमे समझ में आ जाता हैं कि नेटवर्क का उपयोग कैसे किया जाए। वैसे तो खाली समय को हम मनोरंजन करके बर्बाद कर देते हैं। इस बिजनेस की मदद से हम समय का सदुपयोग करना सीखते हैं।

स्व रोजगार

हमारे देश में बेरोजगारी बहुत है। जिन्हें नौकरी मिल जाती है, वे भी अपने काम से संतुष्ट नहीं होते हैं। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि उन्हें अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहिए लेकिन पैसे खोने के डर से वे व्यवसाय शुरू नहीं करते हैं, लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें पैसा नहीं लगाया जाता है और कम समय देना पड़ता है। इस तरह यह हमें एक रास्ता दिखाता है जिसके जरिए हम आत्मनिर्भर बनते हैं और बिजनेस को बेहतर तरीके से समझते हैं। इसमें काम करने के साथ-साथ हम अपना एक अच्छा बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं।

टीम वर्क

एमएलएम बिजनेस या नेटवर्क मार्केटिंग पूरी तरह से टीम वर्क पर आधारित है। सभी लोगों को साथ लेकर चलने से ही सफलता मिल सकती है। इसमें अकेला कोई कुछ नहीं कर सकता। इसमें हम सीखते हैं कि अलग-अलग विचारों वाले लोगों के साथ किसी काम को बहुत अच्छे तरीके से कैसे किया जा सकता है। इसके साथ ही हमें दूसरों के विचार और उनके नए विचार भी सीखने को मिलते हैं।

हेल्पिंग

आपने सुना होगा कि जो दूसरों का भला करता है, उसका भी भला होता है। यह भी प्रकृति का नियम है। इसमें आप अपने से नीचे के लोगों की मदद जब तक नहीं करेंगे तब तक आप खुद भी आगे नहीं बढ़ पाएंगे। अगर आप अपने अधीन काम करने वाले लोगों के काम में मदद करते हैं तो आपको सीधा फायदा होगा। इसका एक और फायदा यह भी होगा कि उस व्यक्ति के साथ आपके संबंध काफी अच्छे रहेंगे और वह आपका बहुत सम्मान भी करेगा।

MLM में क्यों नहीं हो पाते है सफल

तो क्यों लोग इसमें सफल नहीं हो पाते हैं और एक बड़ा MLM लीडर कैसे बनें? बहुत से लोग एमएलएम लीडर बनना चाहते हैं लेकिन कड़ी मेहनत के बाद भी नहीं बन पाते हैं, वे पूरे साल काम करते हैं लेकिन आय नगण्य है।

इसके कई कारण हैं जैसे,

एक पुराने प्लान में शामिल होना। या कंपनी से सपोर्ट नहीं मिल रहा है।

टीम में सक्रिय सदस्य की कमी।

सही समय पर ज्वाइन न करने का मतलब बहुत देर से ज्वाइन करना है।

शामिल हुए प्लान के बारे में पूरी जानकारी नहीं होना।

इनकम कैसे करें? यह नहीं जानते। या फिर कंपनी के प्लान में ही गड़बड़ी का होना।

कम प्रॉफिट का होना आदि।

अधिकतम आय कैसे प्राप्त करें?

यह बात जान लें कि एमएलएम करना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है, बस आपको अपने दिमाग का इस्तेमाल करना होगा।

सबसे पहले आप जिस पालन को कर रहे हैं उसके बारे में पूरी जानकारी लें। देखें कि निवेश कब तक वापस आ रहा है?, उत्पाद क्या है? कितनी बार निवेश करना है? आय में कितनी वृद्धि हुई है?

लोगों से बात करना सीखें ताकि आप उन्हें प्लान के बारे में ठीक से बता सकें।

अपनी टीम को ऐसा बनाएं कि वह सक्रिय हो यानी कि वह आपके साथ काम कर सके। सबकी सुनें और सबको साथ लेकर चलें।

समय-समय पर एक प्रतिबद्धता बनाएं और सामाजिकता बनाए रखें।

अपने से बड़े लीडर को देखकर सीखो और अपनी पहचान बनाए ।

स्पैमिंग न करें, कभी भी गलत खबर न दें, क्योंकि एक बार भरोसा उठ गया तो दूसरी बार आप कुछ नहीं कर पाएंगे।

प्रेरित करते रहें ताकि आपकी टीम बेहतर और अधिक काम करे। और फेसबुक बुक या व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाकर चर्चा कर सभी की राय लें।

हर जगह से ज्वाइन करवाए और अच्छी तरह समझाकर काम करवाए।

एक बार टीम बन जाए तो उसे बढ़ाते रहें और हो सके तो नए प्लान के बारे में खुद उन्हें बताएं।

MLM Business के नुकसान

1. सफल होने के बहुत कम मौके

इस व्यवसाय में 99.96% Network Marketers असफल हो जाते हैं। आप यहाँ से तब तक पैसा नहीं कमा सकते जब तक कि आप शेष .04% में रहने के इच्छुक न हों।

2. धोखाधड़ी कंपनियां

दोस्तों आज मार्केट में बहुत सारी फ्रॉड कंपनियां हैं जो नेटवर्क मार्केटिंग फ्रॉड के सहारे फल-फूल रही हैं। हालांकि उनके पास कानूनी रूप से कारोबार करने का सर्टिफिकेट है। लेकिन यह सर्टिफिकेट कभी भी इस बात की गारंटी नहीं देता कि ये कंपनियां कभी बंद नहीं होंगी।

इसे एक उदाहरण से समझते हैं, आपने EBIZ का नाम तो सुना ही होगा। इस कंपनी के पास कानूनी तौर पर बिजनेस करने का सर्टिफिकेट था। 18 साल तक इस इंडस्ट्री में रहने के बाद यह कंपनी बंद हो गई। जिससे लाखों युवाओं का भविष्य खतरे में पड़ गया।

इसके साथ ही मैं यह भी स्पष्ट कर दूं कि किसी कंपनी का एमसीए में पंजीकृत होना इस बात का प्रमाण नहीं है कि कंपनी कभी बंद नहीं होगी।

ये सब बातें बता कर ज्यादातर लोग कंपनी की वैधता का सबूत लोगों को देते हैं। EBIZ एक MCA पंजीकृत कंपनी थी। ऐसे बाजार में आज हजारों कंपनियां चल रही हैं जो एमसीए में पंजीकृत भी नहीं है।

3. महंगा उत्पाद और सेवाएं

दोस्तों बहुत से नेटवर्क मार्केटिंग प्रोफेशनल्स बताते हैं कि डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में डिस्ट्रीब्यूटर, होल सेलर, रिटेलर और एडवरटाइजर की खर्चा कम हो जाता है। फिर भी ग्राहक के लिए प्रोडक्ट बहुत महंगे होते हैं।

उत्पाद की कीमत में वृद्धि इसलिए है क्योंकि एमएलएम कंपनी के नेटवर्क में बहुत से लोग हैं और सभी को लाभ का कुछ प्रतिशत देना पड़ता है। इसलिए अधिकांश कंपनियां महंगे उत्पाद रखती हैं और जो सस्ता रखती हैं। उनके प्रोडक्ट की क्वालिटी कम होती है।

लेकिन इनमें से ज्यादातर नुकसान ग्राहक को होता है क्योंकि सारा पैसा उसे चुकाना पड़ता है। पहले नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां अधिक कमीशन के लिए ऑनलाइन कोर्स, सुइट लेंथ और हॉलिडे पैकेज जैसे उत्पाद बेचती थीं। लेकिन अब डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन के कारण उन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।अगर इसे शुरू किया गया है, तो अब ज्यादातर कंपनियों ने हेल्थ और वेलनेस उत्पाद बेचना शुरू कर दिया है क्योंकि वे इन उत्पादों पर अधिक कमीशन कमा सकती हैं।

तो अंतिम बात यह है कि आप .04% नेटवर्क मार्केटिंग लोगों में शामिल हैं या नहीं, यह बाद की बात है लेकिन आपको पहले महंगे उत्पाद खरीदने होंगे। जो मुझे व्यक्तिगत रूप से नेटवर्क मार्केटिंग की मुख्य कमियों में से एक लगता है।

4. कौशल की आवश्यकता

नेटवर्क मार्केटिंग के पेशे में पैसा कमाने वाले लोगों में लीडरशिप स्किल, कम्युनिकेशन स्किल और पब्लिक स्पीकिंग स्किल बहुत जरूरी है।

अगर आपको नहीं लगता कि आप इस कौशल को विकसित कर पाएंगे या आप इस कौशल को विकसित करने में रुचि नहीं रखते हैं, तो बेहतर है कि आप इस उद्योग से दूर रहें क्योंकि अगर आप इसके बिना यहां आते हैं तो यह आपको कुछ नहीं देगा। समय की बर्बादी होगी।

5. मजाक और अस्वीकृति

90-97% लोग जिनके पास आप बिजनेस मॉडल दिखाने जाएंगे। वे आपको ठुकरा देंगे और कुछ आपका उपहास करने की हद तक चले जाएंगे। इसलिए यदि आप इस पेशे में शामिल होने जा रहे हैं तो आप अपने मजाक और रिजेक्शन फेस का सामना करने के लिए तैयार हैं ।

अगर आप 100 लोगों से बात कर रहे हैं और उन्हें अपनी कंपनी का प्लान दे रहे हैं तो आप पहले समझ लीजिए की सिर्फ 10 लोग ही हां कहने वाले हैं और आपके साथ आने वाले हैं। इसके अलावा हां कहने वालों में से 90% व्यवसाय को गंभीरता से नहीं लेंगे। वे आपके व्यवसाय के लिए एक बड़ा बोझ बन जाएंगे।

6. प्रयास करने का पैसा नहीं

एक नौकरी में जहां आप काम करते हैं और पैसा कमाते हैं। इसके विपरीत नेटवर्क मार्केटिंग पेशे मेंआपको तभी भुगतान मिलता है जब कंपनी पैसा बनाती है। यदि आपके ग्राहक उत्पाद नहीं खरीदते हैं, तो उन घंटों को भूल जाइए जो आपने अपनी कंपनी के प्रोडक्ट के विज्ञापन और प्रचार में गुजारे थे।

7. समाज में सम्मान की कमी

एक नौकरी में जहां आप समाज से सम्मान अर्जित करते हैं। इसके विपरीत यह बहुत कम संभावना है कि लोग नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में व्यवसाय बनाने के लिए आपका सम्मान करेंगे।

8. निश्चित आय का न होना

एक ऐसी नौकरी में जहां आपको हर महीने या हफ्ते में अपनी निश्चित आय मिलती है। भले ही कंपनी ने कितना भी पैसा कमाया हो, खुद को सुरक्षित महसूस करते हैं। लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में ऐसा नहीं है। हो सकता है आपने इस महीने 10000 रुपये कमाए। लेकिन अगले महीने आपको कोई पैसा न मिले।

9. एमएलएम के बारे में ज्ञान की कमी

आज भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो MLM के बारे में नहीं जानते हैं या उनके पास इससे संबंधित बुनियादी जानकारी नहीं है। जिसके कारण फ्रॉड कंपनियां अपना व्यवसाय चला रही हैं। लोगों को यह भी नहीं पता है कि एक सही कंपनी का चुनाव कैसे किया जाता है।

इसके अलावा कई बड़े अनुभवी लीडर को सही गलत का पता होता है। लेकिन ज्यादा पैसे और लालच के पीछे फ्रॉड कंपनियों से जुड़कर वे एमएलएम उद्योग को गलत दिशा में ले जाते है।

10. एमएलएम सीमित दायरा

दोस्तों मैंने आपको ऊपर बताया है कि नेटवर्क मार्केटिंग में सफलता की दर बहुत कम होती है। और जो लोग कामयाब होते हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि उनकी कमाई बहुत अच्छी होती है।

लेकिन एमएलएम का एक बहुत सीमित दायरा है यानि कि आपके ऊपर भी आपके अपलाइन है और कंपनी के मालिक है वो जैसा चाहेंगे वैसा ही करेंगे जैसे कि उन्हें प्रोडक्ट के रेट बढ़ाने होंगे तो वह आपसे बिना पूँछे प्रोडक्ट के रेट बढ़ा सकते है। और यदि उन्हें कोई पालिसी चेंज करनी होगी वह अपने अकॉर्डिंग अपनी पालिसीको चेंज कर देंगे।

इन सबके विपरीत अगर आपका खुद का बिजनेस होता तो वहां के बिजनेस की ग्रोथ और कमाई पूरी तरह आप पर निर्भर करती है। अगर किसी कारण से कंपनी बंद हो जाती है, तो उस कंपनी में आपकी पोजीशन भी समाप्त हो जाएगी और आपकी सारी मेहनत बर्बाद हो जाएगी।

इस तरह आप समझ ही गए होंगे कि खुद के बिजनेस और एमएलएम में काफी अंतर होता है। इसलिए कई बार ऐसा देखा गया है कि एमएलएम में सफल होने के बाद कई लीडर अपने काम की दिशा बदल लेते हैं।

11. एमएलएम उद्योग में नकारात्मकता

एमएलएम उद्योग में मौजूद लोग अक्सर खुद जो एमएलएम कंपनी को ज्वाइन किये होते है उसे अच्छा बताते है और दूसरों की कंपनियों को बेकार कहते हैं। जिससे वे खुद इस उद्योग के खिलाफ नकारात्मकता फैलाते और जो लोग इस उद्योग के बाहर के हैं। उनके सामने इससे जल्दी अमीर बनने के तरीके की तरह प्रस्तुत किया जाता है। जिसके परिणामस्वरूप लोग इसमें शामिल होकर असफल हो जाने पर इसे गाली देते हैं। इसके अलावा फ्रॉड कंपनियां भी मुख्य रूप से नकारात्मकता का एक बड़ा कारण हैं।

निष्कर्ष

फ्रेंड्स आपको यह आर्टिकल (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi | MLM Full Form In Hindi) पसंद आया? मुझे आशा है कि आपको यह पसंद आया होगा और आप अच्छी तरह समझ गए होंगे कि इस व्यवसाय में काम करने का सही तरीका क्या है? एमएलएम एक ऐसा बिजनेस है जिसमें अगर आप दो -तीन साल मेहनत करेंगे तो आर्थिक संकट जड़ से समाप्त हो जाएगा। आपने इस आर्टिकल (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi | MLM Full Form In Hindi) के माध्यम से यह भी जाना कि एमएलएम बिज़नेस में सफलता कैसे प्राप्त करें और इसके लिए किन बातों का आपको ख्याल रखना चाहिए।

एमएलएम बिजनेस के क्या फायदे हैं और एक अच्छी एमएलएम कंपनी का चुनाव कैसे करे। जब भी आप नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ना चाहते हैं तो इस आर्टिकल (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi | MLM Full Form In Hindi) से आप समझ सकते हैं कि एक अच्छी कंपनी में क्या होना चाहिए? दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट (MLM Kya Hai | What is MLM in Hindi | MLM Full Form In Hindi) अच्छी लगी हो तो इसे अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर जरूर करें।

(MLM Kya Hai | MLM Kya Hai In Hindi)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles