रतन टाटा जीवनी – रतन टाटा जीवन परिचय, करियर, माता-पिता, पत्नी और सम्पति – (Biography Of Ratan Tata In Hindi)

Ratan Tata Biography In Hindi: रतन टाटा टाटा ग्रुप के सेवामुक्त अध्यक्ष हैं। 1990 से 2012 तक वे टाटा समूह के अध्यक्ष रहे है। रतन टाटा भारतीय उद्योगपति, दूरदर्शी के साथ-साथ एक परोपकारी व्यक्ति है।

रतन टाटा आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। रतन टाटा टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, टाटा पावर, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा टी, टाटा केमिकल्स, इंडियन होटल्स और टाटा टेलीसर्विसेज जैसी सभी बड़ी कंपनियों के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

आज के इस लेख में हम आपको रतन टाटा कौन है, रतन टाटा के माता-पिता कौन है, रतन टाटा के भाई कौन है, रतन टाटा की पत्नी कौन है और रतन टाटा की सम्पति कितनी है के बारे में बताने वाले है। इसलिए इस लेख के अंत तक बने रहे।

तो आइये आपका ज्यादा समय न लेते हुए आज का यह लेख रतन टाटा शुरू करते है और जानते है रतन टाटा का जीवन परिचय (Ratan Tata Jivani In Hindi) –

रतन टाटा का जीवन परिचय संक्षिप्त में (Ratan Tata Jivani In Hindi)

- Advertisement -

नाम – रतन टाटा
रतन टाटा का जन्म – 28 दिसंबर 1937, सूरत (गुजरात)
रतन टाटा के माता-पिता – नवल टाटा (पिता) और सोनू टाटा (माता)
रतन टाटा शिक्षा – बी.एस. डिग्री स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग एवं वास्तुकला
रतन टाटा जीवनसाथी – अविवाहित
रतन टाटा व्यवसाय – टाटा समूह के सेवामुक्त अध्यक्ष
रतन टाटा पुरस्कार – पद्मा विभूषण (2008) और विभूषण (2008) और अन्य
रतन टाटा नागरिकता – भारतीय

रतन टाटा कौन है? (Who Is Ratan Tata In Hindi)

रतन टाटा एक प्रसिद्ध भारतीय उद्योगपति और टाटा संस के सेवामुक्त अध्यक्ष (चेयरमैन) हैं। रतन टाटा 1991 से 2012 तक टाटा समूह के अध्यक्ष रहे। 28 दिसंबर 2012 को उन्होंने टाटा समूह के अध्यक्ष का पद छोड़ दिया लेकिन वह अभी भी टाटा समूह के चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष बने हुए हैं। वह टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, टाटा पावर, टाटा टी, टाटा केमिकल्स, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इंडियन होटल्स और टाटा टेलीसर्विसेज जैसी टाटा समूह की सभी प्रमुख कंपनियों के अध्यक्ष भी थे। उनके नेतृत्व में, टाटा समूह ने नई ऊंचाइयों को छुआ और समूह का राजस्व भी कई गुना बढ़ा।

रतन टाटा का धर्म (Ratan Tata Religion In Hindi)
रतन टाटा का धर्म – पारसी।

रतन टाटा की पत्नी (Ratan Tata Wife In Hindi)
रतन टाटा की पत्नी – नहीं है यानी अविवाहित।

रतन टाटा की कुल सम्पति (Ratan Tata Net Worth In Hindi)
रतन टाटा की कुल सम्पति – 8.25 लाख करोड़ रुपए।

रतन टाटा का भाई (Ratan Tata Brother In Hindi)
रतन टाटा का भाई जिमी और सौतेला भाई नोएल टाटा है।

रतन टाटा परिवार (Ratan Tata Family In Hindi)
रतन टाटा – जिमी टाटा, सिमोन टाटा, नोएल टाटा, लिआ टाटा, माया टाटा और नेविल टाटा।

रतन टाटा का प्रारंभिक जीवन (Biography Of Ratan Tata In Hindi)

28 दिसंबर, 1937 को भारत के सूरत शहर में रतन टाटा का जन्म हुआ था। रतन टाटा नवल टाटा के पुत्र हैं जिन्हें नवजाबाई टाटा ने अपने पति रतनजी टाटा की मृत्यु के बाद गोद लिया था।रतन टाटा के माता-पिता (नवल और सोनू) 1940 के मध्य में अलग हो गए जब रतन दस वर्ष के थे और उनके छोटे भाई जिमी सात वर्ष के थे। इसके बाद दोनों भाइयों का लालन-पालन उनकी दादी नवजबाई टाटा ने किया। रतन टाटा का एक सौतेला भाई भी है जिसका नाम नोएल टाटा है।

रतन टाटा की शिक्षा (Education Of Ratan Tata In Hindi)

रतन टाटा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के कैंपियन स्कूल से और माध्यमिक शिक्षा कैथेड्रल एंड जॉन कॉनन स्कूल से की। फिर उन्होंने 1962 में कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से आर्किटेक्चर में स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग के साथ बीएस पूरा किया। इसके बाद उन्होंने 1975 में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम पूरा किया।

रतन टाटा करियर (Ratan Tata Career In Hindi)

भारत लौटने से पहले रतन ने कुछ समय के लिए लॉस एंजिल्स, कैलिफोर्निया में जोन्स एंड एम्मन्स में काम किया। उन्होंने 1961 में टाटा ग्रुप के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। शुरूआती दिनों में उन्होंने टाटा स्टील के शॉप फ्लोर पर काम किया। इसके बाद वे टाटा ग्रुप की और कंपनियों से जुड़ गए। 1971 में, उन्हें नेशनल रेडियो एंड इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी (NELCO) का प्रभारी निदेशक नियुक्त किया गया। 1981 में उन्हें टाटा इंडस्ट्रीज का चेयरमैन बनाया गया। 1991 में, जेआरडी टाटा ने ग्रुप के अध्यक्ष का पद छोड़ दिया और रतन टाटा को अपना उत्तराधिकारी नामित किया।

रतन के नेतृत्व में टाटा समूह ने नई ऊंचाइयों को छुआ। उनके नेतृत्व में, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज सार्वजनिक हो गई और टाटा मोटर्स को न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया। 1998 में, टाटा मोटर्स ने पहली अखिल भारतीय यात्री कार – टाटा इंडिका पेश की। इसके बाद, टाटा टी ने टेटली, टाटा मोटर्स ने ‘जैगुआर लैंड रोवर’ और टाटा स्टील ने ‘कोरस’ का अधिग्रहण किया, जिसने भारतीय उद्योग में टाटा समूह की प्रतिष्ठा को बहुत बढ़ा दिया। टाटा नैनो – दुनिया की सबसे सस्ती यात्री कार – भी रतन टाटा के दिमाग की उपज है।

रतन टाटा 28 दिसंबर 2012 को टाटा समूह की सभी कार्यकारी जिम्मेदारियों से सेवानिवृत्त हुए। उनकी जगह 44 वर्षीय साइरस मिस्त्री को लिया गया। हालाँकि टाटा अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं, फिर भी वे काम करना जारी रखते हैं। हाल ही में, उन्होंने भारत में एक ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील में अपना निजी निवेश किया। इसके साथ ही उन्होंने एक अन्य ई-कॉमर्स कंपनी अर्बन लैडर और चाइनीज मोबाइल कंपनीमें भी निवेश किया है।

वर्तमान में रतन टाटा ग्रुप के सेवानिवृत चेयरमैन हैं। इसके साथ ही वह टाटा संस के 2 ट्रस्ट के चेयरमैन भी बने हुए हैं। रतन टाटा ने भारत के साथ-साथ अन्य देशों में भी कई संगठनों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

रतन टाटा सम्मान और पुरस्कार (Ratan Tata Honors And Awards In Hindi)

रतन टाटा को भारत सरकार ने पद्म भूषण (2000) और पद्म विभूषण (2008) से सम्मानित किया। ये सम्मान भारत देश के तीसरे और दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान हैं। उनको प्राप्त अन्य उल्लेखनीय पुरस्कार इस प्रकार हैं –

वर्ष पुरस्कार संगठन
2015 मानद एचईसी पेरिस
2015 ऑटोमोटिव इंजीनियरिंग की मानद डॉक्टर क्लेमसन विश्वविद्यालय
2014 कानून की मानद डॉक्टर न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय, कनाडा
2014 ब्रिटिश साम्राज्य के आदेश के मानद नाइट ग्रैंड क्रॉस यूनाइटेड किंगडम
2014 सयाजी रत्न पुरस्कार बड़ौदा मैनेजमेंट एसोसिएशन
2014 व्यापार के मानद डॉक्टर सिंगापुर मैनेजमेंट यूनिवर्सिटी
2013 डॉक्टरेट की मानद उपाधि एम्स्टर्डम विश्वविद्यालय
2013 व्यापार व्यवहार के मानद डॉक्टर कार्नेगी मेलॉन विश्वविद्यालय
2013 अर्नस्ट और वर्ष का सर्वश्रेष्ठ युवा उद्यमी – लाइफटाइम अचीवमेंट अर्न्स्ट एंड यंग
2013 विदेश एसोसिएट नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग
2012 व्यापार मानद डॉक्टर न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय
2012 मानद फैलो इंजीनियरिंग की रॉयल अकादमी
2010 इस साल के बिजनेस लीडर एशियाई पुरस्कार
2010 कानून की मानद डॉक्टर पेपरडाइन विश्वविद्यालय
2010 लीडरशिप अवार्ड में लीजेंड येल विश्वविद्यालय
2010 शांति पुरस्कार के लिए ओस्लो व्यापार शांति प्रतिष्ठान के लिए व्यापार
2010 हैड्रियन पुरस्कार विश्व स्मारक कोष
2010 लॉ की मानद डॉक्टर कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
2009 इतालवी गणराज्य की मेरिट के आदेश के ‘ग्रैंड अधिकारी’ का पुरस्कार इटली की सरकार
2009 2008 के लिए इंजीनियरिंग में लाइफ टाइम योगदान पुरस्कार इंजीनियरिंग इंडियन नेशनल एकेडमी
2009 ब्रिटिश साम्राज्य के आदेश के मानद नाइट कमांडर यूनाइटेड किंगडम
2008 प्रेरित होकर लीडरशिप अवार्ड प्रदर्शन रंगमंच
2008 मानद फैलोशिप इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान
2008 मानद नागरिक पुरस्कार सिंगापुर सरकार
2008 साइंस की मानद डॉक्टर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी खड़गपुर
2008 साइंस की मानद डॉक्टर इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मुंबई
2008 लॉ की मानद डॉक्टर कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
2008 लीडरशिप अवार्ड लीडरशिप अवार्ड
2007 परोपकार की कार्नेगी पदक अंतर्राष्ट्रीय शांति के लिए कार्नेगी एंडोमेंट
2007 मानद फैलोशिप अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान के लंदन स्कूल
2006 जिम्मेदार पूंजीवाद पुरस्कार
2006 साइंस की मानद डॉक्टर इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास
2005 साइंस की मानद डॉक्टर वारविक विश्वविद्यालय
2005 अंतर्राष्ट्रीय गणमान्य अचीवमेंट अवार्ड
2004 प्रौद्योगिकी के मानद डॉक्टर एशियन इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
2004 उरुग्वे के ओरिएंटल गणराज्य की पदक उरुग्वे की सरकार
2001 बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के मानद डॉक्टर ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी

रतन टाटा के रोचक तथ्य (Ratan Tata Interesting Facts In Hindi)

100 कंपनियों के साथ टाटा ग्रुप दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी है। जिसमें टाटा टी, फाइव स्टार होटल, टाटा स्टील, टाटा कार और टाटा हवाई जहाज शामिल हैं।

रतन टाटा को पालतू जानवर रखना बहुत पसंद है। इसलिए उन्होंने पालतू कुत्तों की देखभाल के लिए अपना 400 करोड़ का मुंबई का बंगला दे दिया है। इसके साथ ही उन्हें प्लेन उड़ाने का भी काफी शौक है, जिसके लिए उनके पास लाइसेंस भी है।

रतन टाटा के काम करने का तरीका बिल्कुल अलग है। इसलिए उनके साथ काम करने वाले कर्मचारी भी उनके साथ काम करना पसंद करते हैं। इसलिए कहा जाता है कि टाटा में काम करना किसी सरकारी जॉब से कम नहीं है।

रतन टाटा ने अपने ग्रुप को 21 साल दिए और आपको बता दें कि इन 21 सालों में उन्होंने अपनी कंपनी को टॉप पर पहुंचाया। इसलिए आज के समय में इस कंपनी की वैल्यू लगभग 50 गुना बढ़ चुकी है।

2008 में मुंबई में 26/11 के हमले में घायल हुए सभी लोगों का इलाज टाटा ने ताज होटल में कराया था।

26/11 के हमले में जो लोग होटल के आसपास दुकान या स्टॉल लगाते थे। टाटा समूह उनकी मदद के लिए आगे आया था और उन्होंने मुआवजे के तौर पर उनकी मदद की थी।

26/11 के आतंकी हमले को मुंबईवासी शायद ही भूल पाएं। खासकर वे लोग जो इसमें बंदी हो गए। इनमें ताज होटल का स्टाफ भी शामिल था। इसलिए जितने दिन होटल बंद रहा, उतने दिनों तक कर्मचारियों को टाटा द्वारा वेतन दिया गया।

रतन टाटा की कुल संपत्ति (Ratan Tata Net Worth In Hindi)

टाटा ग्रुप की सभी कंपनियों की मार्केट वैल्यू की बात करें तो एक अनुमान के मुताबिक इनकी सभी कंपनियों की मार्केट वैल्यू 17 लाख करोड़ रुपए होगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक उनकी कुल संपत्ति 117 अरब डॉलर यानी करीब 8.25 लाख करोड़ रुपए है। रतन टाटा इस पैसे का 65 फीसदी हिस्सा लोगों की मदद के लिए दान करते हैं। यही वजह है कि वह दुनिया के अमीर लोगों में शामिल नहीं हैं। लेकिन लोग उन्हें दिल का बहुत अमीर मानते हैं।

FAQs For Ratan Tata Biography In Hindi

टाटा की स्थापना कब हुई थी?
इसकी स्थापना 1868 में हुई थी।

रतन टाटा का धर्म क्या है?
रतन टाटा का धर्म पारसी है।

रतन टाटा ने शादी क्यों नहीं की?
कहा जाता है कि, रतन टाटा को लॉस एंजेलिस से प्यार हो गया था। लेकिन 1962 में, भारत-चीन युद्ध के कारण बढ़े तनाव ने उन्हें शादी करने से रोक दिया।

रतन टाटा दुनिया की अमीर लोगों की सूची में क्यों शामिल नहीं है?
ऐसा इसलिए क्योंकि रतन टाटा अपना आधा पैसा लोगों की मदद करने में खर्च करते देते हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने आपको रतन टाटा कौन है, रतन टाटा के माता-पिता, रतन टाटा की पत्नी और रतन टाटा की सम्पति के बारे में जानकारी दी है। हमे उम्मीद है आपको यह लेख अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह लेख रतन टाटा जीवन परिचय (Ratan Tata Biography In Hindi) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

इस लेख रतन टाटा बायोग्राफी इन हिंदी के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद। इसी तरह ब्लॉग पर आते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles

You cannot copy content of this page