https://www.fapjunk.com https://fapmeister.com

[100+] ऋ मात्रा के शब्द (ऋ की मात्रा वाले शब्द) – Ri Ki Matra Ke Shabd

Ri Ki Matra Wale Shabd Hindi Mai – आज के इस लेख में हम आपको ऋ मात्रा के शब्द (ऋ की मात्रा वाले शब्द) – Ri Ki Matra Ke Shabd के बारे में जानकारी देने वाले है। अगर आप उपरोक्त जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आज के इस लेख ऋ की मात्रा वाले शब्द के अंत तक बने रहे। तो आइये जानते है –

ऋ की मात्रा के शब्द हिंदी में (Ri Matra Ke Shabd Hindi Mein)

ऋ की मात्रा के शब्द जानने से पहले ऋ की मात्रा भी जान ले है। ऋ की मात्रा – ृ होती है। उदाहरण के लिए – ग + ृ + ह = गृह, म + ृ + त = मृत, म + ृ + त + क = मृतक आदि। तो आइये अब जानते है ऋ की मात्रा के शब्द –

(गृह) ग + ृ + ह
(वृत्त) व + ृ + त्त
(घृत) घ + ृ + त
(मृग) म + ृ + ग
(मृत) म + ृ + त
(कृग) क + ृ + ग
(कृत) क + ृ + त
(सृजन) स + ृ + ज + न
(मृतक) म + ृ + त + क
(अमृत) अ + म + ृ + त
(कृतज) क + ृ + त + ज
(मसृण) म + स + ृ + ण
(सरीसृप) स + र + ी + स + ृ + प
(अतिगृह) अ + ि + त + ग + ृ + ह
(अमृतसर) अ + म + ृ + त + स + र
(मृगराज) म + ृ + ग + र + ा + ज
(वृक्षासन) व + ृ + क्ष + ा + स + न

ऋ की मात्रा वाले शब्द हिंदी में (Ri Ki Matra Wale Shabd In Hindi)

- Advertisement -

ऋषि – ऋतू
ऋचा – नृप
वृक्ष – मृत
मृदु – मृदा
गृह – मृग
घृणा -कृति
भृगु – मातृ
धृत – कृपा
तृण – कृत
कृमि – दृढ
पितृ – ऋजु
कृतज्ञ – कृषक
अमृत – कृपाण
मृत्यु – सृजन
पृथ्वी – हृदय
श्रृंखला – कृष्ण
तृतीय – ऋषभ
कृत्रिम – नृत्य
मृदुल – भृकुटी
कृपालु – मृदुल
कृतघ्न – गृहणी
श्रृंगार – मृदंग
तृष्णा – सृष्टि
कृपया – तृप्त

ऋ मात्रा के शब्द (ऋ की मात्रा वाले शब्द) – Ri Ki Matra Ke Shabd

तृण – मृदु – मृद्ग – नृप
वृत्त – भृत – कृत – गृह
घृत – मृग – तृप्त – ऋण
मृत्यु – ऋण – दृढ – वृक्ष
कृष्णा – तृतीय – अमृत – मृदुल
कृषक – कृतज्ञ – कृपालु – हृदय
मृतक – गृहस्थ – गृहणी – मृदंग
श्रृंखला – सृजन – शृगाल – कृतघ्न
वृतांत – कृत्रिम – ऋषभ – भृकुटी
पृथ्वी – कृपया – कृपाण – कृपाल
नेतृत्व – अमृता – संस्कृत – प्रवृति
उत्कृष्ट – श्रृंगार – आवृत – मृदुता
गृहात – कृदंत – मसृण – प्रकृति
मृदा – तृस – कृति – ऋषि – कृग
दृश्य – वृदि – कृष – मातृ – तृप्ति
कृपा – ऋतु – दृष्टि – पितृ – भृत्य
भृगु – ऋजु – वृद्धि – वृद – ऋचा
तृषा – गृष्म – नृत्य – मृत – पृथक
कृषि – तृष्णा – वृष्टि – दृशा – वृथा
नदीमातृक – पृथ्वीनाथ – अतिगृह
मृगारि – वृश्चिक – ऋग्वेद – तृतीया
विकृत – नृत्यांत – कृतज – भृकुटि
घृणित – नृशंस – नृसिंह – संस्कृति
कृमि – कृष्ण – स्पृहा – स्मृति – धृता
प्रतिकृति – कृष्णकांत – कृपाचार्य
गृहणी – कृपाली – कृषि – मृत्युदंड
परिष्कृत – दूरदृष्टि – पुरावृति – मृधक
ऋक – ओलावृत – मृत्युलोक – आकृति
शृंखला – वृक्षासन – वृन्दावन – वृक्षावली
मृत्युंजय – पृथ्वीपति – भृंगराज – सरीसृप
ऋत्विक – ऋत्विज – ऋत्विजा – ऋषिकेश
गृहत्याग – वृद्धावस्था – मृणालिनी – अनुवृति

FAQs

कौन से शब्द में ऋ की मात्रा लगती है?
ऋषि, कृष्णा, तृतीय – ऋषभ आदि में ऋ की मात्रा लगती है।

ऋ की मात्रा कैसी होती है?
ऋ की मात्रा ृ होती है।

ऋ को क्या कहते हैं?
ऋ को आधा स्वर माना जाता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस लेख में हमने आपको ऋ मात्रा के शब्द (ऋ की मात्रा वाले शब्द) – Ri Ki Matra Ke Shabd के बारे में जानकारी दी है। हमे उम्मीद है आपको यह लेख अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह लेख ऋ की मात्रा वाले शब्द (Ri Ki Matra Wale Shabd In Hindi) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles

You cannot copy content of this page