ऑटोकैड क्या है? और इसमें करियर कैसे बनाए – (AutoCAD In Hindi)

What Is AutoCAD In Hindi: अगर आप छात्र हैं तो ऑटोकैड के बारे में जानना आपके लिए बहुत फायदेमंद हो आ सकता है। ऑटोकैड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर अपनी रूचि के अनुसार इस क्षेत्र में नौकरी या व्यवसाय कर सकते हैं।

क्योंकि वर्तमान में ऑटोकैड क्षेत्र का तेजी से विस्तार हो रहा है। ऑटोकैड आपके लिए एक बेहतरीन करियर विकल्प साबित हो सकता है। इस लेख में हम आपको ऑटोकैड के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

वैसे तो ऑटोकैड एक कंप्यूटर-एडेड डिज़ाइन सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है। लेकिन ऑटोकैड एक कोर्स भी है जिसमें आपको डिजाइनिंग सिखाई जाती है। अगर आप भी इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक अच्छा फैसला हो सकता है।

किसी भी घर और इमारत को बनाने से पहले उसका नक्शा तैयार किया जाता है और इस काम के लिए किसी डिजाइनिंग कंपनी या किसी अच्छे इंजीनियर से संपर्क करना होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंजीनियर घर बनाने के लिए नक्शे का डिजाइन कैसे तैयार करते है? इसका जवाब है ऑटोकैड, लेकिन शायद ही आप जानते हों कि ऑटोकैड क्या है यह कैसे काम करता है।

इस सॉफ्टवेयर यानी ऑटोकैड सॉफ्टवेयर पर काम करने वाले लोग इसके बारे में अच्छी तरह से जानते है। उनके लिए रोजगार के कई तरीके हैं। यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसका उपयोग घर के डिजाइन के साथ-साथ मैकेनिकल कार्य जैसे मशीनों के डिजाइन और ड्राइंग बनाने में भी उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग ज्यादातर इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले या ग्राफिक डिजाइनिंग विजुअल डिजाइनिंग सीखने वाले छात्रों द्वारा किया जाता है।

आज के इस लेख में हम आपको ऑटोकैड क्या है? ऑटोकैड कोर्स क्या है? ऑटोकैड का इतिहास क्या है? ऑटोकैड कोर्स कैसे सीखे? ऑटोकैड सीखने के फायदे क्या है? ऑटोकैड क्षेत्र में नौकरी कैसे मिलेगी? और ऑटोकैड से संबंधित कोर्स क्या है? के बारे में भी आपको जानकारी देने वाले है।

अगर आप उपरोक्त जानकारी जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े। तो आइये शुरू करते है और जानते है की ऑटोकैड कोर्स क्या है (AutoCAD Course Kya Hai In Hindi) –

ऑटोकैड क्या है? (AutoCAD Kya Hai In Hindi)

ऑटोकैड एक कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन प्रोग्राम है जिसका इस्तेमाल इमारतों, पुलों, कंप्यूटर चिप्स आदि के लिए 2D और 3D ब्लूप्रिंट बनाने के लिए किया जाता है।

ऑटोकैड एक 2D और 3D कंप्यूटर एडेड डिजाइन और ड्राफ्टिंग सॉफ्टवेयर है। इस सॉफ्टवेयर का उपयोग वास्तुकला, भवन निर्माण, उत्पादन आदि के लिए ब्लूप्रिंट और अन्य इंजीनियरिंग योजनाओं की तैयारी के लिए किया जाता है।

ऑटोकैड का उपयोग करने वाले डिजाइनरों को “ड्राफ्टर्स” भी कहा जाता है। सीधे शब्दों में कहें तो ऑटोकैड एक डिजाइन कोर्स होता है। जिसमें किसी भी वाहन, बड़ी बिल्डिंग और इलेक्ट्रिकल प्लांट आदि को डिज़ाइन करने के बारे में सिखाया जाता है।

इस कोर्स को सफलतापूर्वक करने के बाद आप बिना इंजीनियरिंग कोर्स किए भी एक अच्छा डिजाइन तैयार कर सकते हैं। वर्तमान समय में ऑटोकैड सॉफ्टवेयर का उपयोग बड़ी-बड़ी कंपनियों, प्रोजेक्ट मैनेजर, इंजीनियर और ग्राफिक डिज़ाइनर जैसे पेशेवर लोगों द्वारा किया जा रहा है।

ऑटोकैड कोर्स क्या है? (AutoCAD Course In Hindi)

यह एक ऐसा कोर्स है जिसमें आपको डिजाइनिंग सिखाई जाती है। अगर आपने भी ऑटोकैड इंजीनियरिंग या इंटीरियर डिजाइनिंग से संबंधित कोई उच्च शिक्षा की डिग्री पास की है या भविष्य में इस क्षेत्र में करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो आप यह कोर्स कर सकते हैं। ऑटोकैड एक 2D और 3D कंप्यूटर एडेड ड्राफ्टिंग सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन है जिसका उपयोग आर्किटेक्चरल कंस्ट्रक्शन और मैन्युफैक्चरिंग में ब्लूप्रिंट तैयार करने के लिए किया जाता है।

साथ ही इसका उपयोग इंजीनियरिंग प्लांट में भी किया जाता है। जो व्यक्ति इसका उपयोग करता है उसे पेशेवर रूप से एक ड्राफ्टर के रूप में जाना जाता है।

ऑटोकैड का फुल फॉर्म क्या है? (Full Form Of AutoCAD In Hindi)

ऑटोकैड का फुल फॉर्म आटोमेटिक कंप्यूटर ऐडेड डिज़ाइन (Automatic Computer Aided Design) होता है।

ऑटोकैड का इतिहास (History Of AutoCAD In Hindi)

ऑटोकैड को साल 1982 में डेस्कटॉप ऐप के तौर पर लॉन्च किया गया था। और इसे ऑटोडेस्क नाम की कंपनी ने विकसित किया था। साल 2010 में ऑटोकैड कंपनी द्वारा मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया गया है। ऑटोकैड के लॉन्च से पहले ज्यादातर कमर्शियल सीएडी प्रोग्राम मेनफ्रेम कंप्यूटर और मिनी कंप्यूटर पर काम करते थे। जिसमें प्रत्येक CAD ऑपरेटर एक अलग ग्राफिक टर्मिनल पर काम करता था।

ऑटोकैड के आविष्कार ने डिजाइनिंग की दुनिया में एक क्रांति ला दी, जिससे किसी वस्तु के डिजाइन को बेहतर बनाने या किसी वस्तु की कलाकृति बनाकर उस डिजाइन को लोगों के सामने पेश करने में सफलता मिली।

ऑटोकैड के उपयोग (Uses Of AutoCAD In Hindi)

यह प्रोग्राम शुरुआत में मैकेनिकल इंजीनियरों के लिए बनाया गया था लेकिन बहुत जल्द ही इसका इस्तेमाल हर क्षेत्र में होने लगा। बल्कि, कहें कि ऑटोकैड की सफलता इसलिए भी थी क्योंकि इसके अधिकांश उपयोगकर्ता डिज़ाइन पेशेवर हैं, जिनमें आर्किटेक्ट, प्रोजेक्ट मैनेजर, एनिमेटर और इंजीनियर शामिल हैं।

ऑटोकैड सीखने के फायदे (Benefits Of Learning AutoCAD In Hindi)

कंप्यूटर में ड्रॉइंग और डायग्राम बनाने की आपकी क्षमता आपको इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, आर्किटेक्ट, सिविल ड्राफ्ट आदि में बेहतर नौकरी या व्यावसायिक योग्यता प्रदान कर सकती है।

ऑटोकैड में बनाए गए डाक्यूमेंट्स को हम किसी भी कंप्यूटर में आसानी से सेव कर सकते हैं। इसके अलावा ऑटोकैड का उपयोग करने का फायदा यह है कि हम अपने द्वारा बनाए गए ड्रॉइंग या डायग्राम को किसी के साथ शेयर कर सकते हैं। और बनाए गए डिजाइन को क्लाउड स्टोरेज पर आसानी से शेयर किया जा सकता है।

ट्रेडिशनल डिजाइन बनाने की तुलना में ऑटोकैड में ड्राइंग करना बहुत आसान है। जिसमें हम पुराने डिजाइन को भी नए डिजाइन में इस्तेमाल कर सकते हैं। जिससे समय और मेहनत दोनों की बचत होती है। ऑटोकैड सॉफ्टवेयर कॉपी, रोटेटिंग, स्ट्रेचिंग, स्केल आदि जैसे कई फीचर्स के जरिए बेहतर डिजाइन तैयार करने में मदद करता है।

ऑटोकैड डिजाइन में बनाए गए डायमेंशन को भी डिस्प्ले करता है। और उन बिंदुओं को भी सटीकता के साथ दिखाता है। जिसे हम आमतौर पर किसी भी हैंडराइटिंग डिजाइन में नहीं देख सकते हैं।

मैन्युअली रूप से तैयार किए गए चित्रों को फिर से संपादित या संशोधित करने के लिए, ड्राफ्ट्समैन को फिर से एक नया चित्र बनाने की आवश्यकता होती है। लेकिन ऑटोकैड में मौजूद इन-बिल्ट टूल्स की मदद से हम किसी भी डिजाइन को बदल सकते हैं या किसी भी डिजाइन में बदलाव कर सकते है और उसे नए डिजाइन में बदल सकते हैं।

ऑटोकैड कोर्स कैसे सीखें? (How To Learn AutoCAD Course In Hindi)

ऑटोकैड सीखना बहुत आसान है। ऑटोकैड सीखने के लिए आपके आसपास ऐसे शिक्षण संस्थान होंगे जहां से आप आसानी से ऑटोकैड कोर्स सीख सकते हैं। इसके अलावा इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे ऑनलाइन ऑटोकैड कोर्स सीख सकते हैं।

इंटरनेट के माध्यम से यूट्यूब से भी घर बैठे इसके बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं। आप ऑटोकैड से जुड़े कई वीडियो ट्यूटोरियल देखकर समझ सकते हैं। इसके अलावा आज गूगल पर बहुत सारी वेबसाइट उपलब्ध हैं जो ऑनलाइन ऑटोकैड कोर्स से संबंधित लेख उपलब्ध कराती हैं। तो इस तरह आप ऑटोकैड डिजाइनिंग सीखना शुरू कर सकते हैं और एक बेहतर डिजाइनर बनने के बाद अपनी स्किल और क्षमता के अनुसार किसी कंपनी में या अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

ऑटोकैड क्षेत्र में नौकरी (Jobs In AutoCAD Field In Hindi)

अगर आपने ऑटोकैड कोर्स को पूरी तरह से सीख लिया है और अब आप किसी भी कंपनी या लोगों को अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं तो यहां कुछ मुख्य क्षेत्रों के नाम दिए गए हैं –

  • ऑटोकैड सिविल
  • ऑटोकैड मकैनिकल
  • ऑटोकैड स्ट्रक्चरल डिटेलिंग
  • ऑटोकैड प्लांट 3D
  • ऑटोकैड आर्किटेक्चर

इसके अलावा किसी कंपनी में काम करने के अतिरिक्त आप अपना खुद का व्यवसाय भी स्थापित कर सकते हैं।

क्या ऑटोकैड सीखने के लिए ग्रेजुएशन जरूरी है?

नहीं, आप 12वीं कक्षा पास करने के बाद ऑटोकैड कोर्स शुरू कर सकते हैं। और किसी भी कंपनी में जॉब करते समय कंपनी आपके एजुकेशनल डॉक्यूमेंट्स से ज्यादा आपकी स्किल्स को परखती है।

ऑटोकैड कोर्स करने के बाद किन कंपनियों में नौकरी मिल सकती है?

अगर आप एक अच्छे ऑटोकैड डिज़ाइनर हैं तो आपको बड़ी कंपनी में आसानी से नौकरी मिल सकती है। बड़ी कंपनियों में आज एक अनुभवी ऑटोकैड डिजाइनर की भारी मांग है। क्‍योंकि आज बाजार में इन कंपनियों द्वारा अपने उत्‍पादों से जुड़े नए-नए आकर्षक मॉडल लॉन्‍च किए जाते हैं, जिन्‍हें ऑटोकैड डिजाइनरों ने डिजाइन किया है।

सफलतापूर्वक ऑटोकैड कोर्स करने के बाद आप ड्राफ्टर, इंटीरियर डिजाइनर और आर्किटेक्ट बनकर लोगों को अपनी सेवाएं दे सकते हैं। ऑटोकैड कोर्स करने के बाद आप मुख्य रूप से इन करियर विकल्पों को चुन सकते हैं।
यहाँ हम आपको कुछ बड़ी कंपनियों के नाम दे रहे हैं –

  • इंडियन रेलवे
  • टाटा मोटर्स
  • रिलायंस इंडस्ट्रियल
  • इसरो

ऑटोकैड के लिए कंप्यूटर (Computer For AutoCAD In Hindi)

ऑटोकैड का उपयोग करने के लिए एक शक्तिशाली कंप्यूटर की आवश्यकता होती है क्योंकि ऑटोकैड और AutoCAD Inc. के अंतर्गत सभी सॉफ़्टवेयर संसाधन गहन (रिसोर्स इंटेंसिव) होते हैं, जिससे उन्हें सामान्य कंप्यूटर पर चलाना बहुत मुश्किल हो जाता है। ऑटोकैड सॉफ़्टवेयर को 3D मॉडलिंग जैसे बहुत गहन कार्य करने होते हैं और ऐसा करने के लिए इसका सुचारू रूप से रन होना आवश्यक है। यदि आप ऑटोकैड का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इस सॉफ़्टवेयर को एक हाई-एंड कंप्यूटर में ही चलाना बेहतर होगा।

ऑटोकैड से संबंधित कोर्स (AutoCAD Related Courses)

ऑटोकैड में कई सारे कोर्स होते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह का कोर्स करना चाहते हैं। समय एवं विशेषज्ञता के अनुसार इन्हें निम्न प्रकारों में बाँटा गया है –

AutoCAD Courses –

  • Advance Course In CADD (तीन महीने का सर्टिफिकेट प्रोग्राम)
  • AutoCAD (दो महीने का सर्टिफिकेट प्रोग्राम)
  • Advanced AutoCAD Course (तीन महीने का सर्टिफिकेट प्रोग्राम)
  • Diploma In AutoCAD (दो महीने का अंडरग्रेजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम)
  • Master Diploma In Architectural CADD (दो महीने का पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम)

यह भी पढ़े –

FAQs

ऑटोकैड का पूरा नाम क्या है?
ऑटोकैड का पूरा नाम आटोमेटिक कंप्यूटर ऐडेड डिज़ाइन (Automatic Computer Aided Design) होता है।

ऑटोकैड सॉफ्टवेयर किस कंपनी द्वारा बनाया गया था?
ऑटोकैड सॉफ्टवेयर ऑटोडेस्क नामक कंपनी द्वारा बनाया गया था।

ऑटोकैड कोर्स फीस कितनी है?
ऑटोकैड कोर्स से जुड़ी फीस की बात करें तो आमतौर पर आपको इन कोर्स को सीखने के लिए करीब 15,000 रुपये से लेकर 50,000 रुपये तक फीस देनी पड़ सकती है।

ऑटोकैड कोर्स कितने महीने का होता है?
ऑटोकैड दो-तीन कितने महीने का होता है?

ऑटोकैड कोर्स कौन कर सकता है?
कोई भी ऑटोकैड कोर्स कर सकता है।

क्या 12वीं के बाद ऑटोकैड कर सकते हैं?
हाँ 12वीं के बाद ऑटोकैड कर सकते हैं?

ऑटोकैड सीखने के लिए कितने दिन चाहिए?
ऑटोकैड सीखने के लिए आपको दो महीने देने होंगे?

ऑटोकैड का पहला नाम क्या था ?
ऑटोकैड को पहले इंटरैक्ट सीएडी कहा जाता था।

क्या सॉफ्टवेयर सीखने के लिए ग्रेजुएशन जरूरी है?
नहीं, आप 12वीं कक्षा पास करने के बाद सॉफ्टवेयर कोर्स शुरू कर सकते हैं। और किसी भी कंपनी में जॉब करते समय कंपनी आपके एजुकेशनल डॉक्यूमेंट्स से ज्यादा आपकी स्किल्स को परखती है।

निष्कर्ष

हमने आपको ऑटोकैड क्या है? (AutoCAD Kya Hai In Hindi) के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है और आपको ऑटोकैड कैसे सीखे के बारे में समझ आ गया होगा।

हमे उम्मीद है की आपको यह लेख ऑटोकैड क्या है? इसमें करियर कैसे बनाए अच्छा लगा होगा। अगर यह यह ऑटोकैड क्या होता है? (AutoCAD Kya Hota Hai) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

यदि आपका इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ सुधार हो तो इसके लिए आप कमेंट में लिखकर हमे सुझाव दे सकते हैं।

अंत में इस लेख के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles