सीडी का फुल फॉर्म क्या है? | What Is CD Full Form In Hindi?

CD Ka Full Form Kya Hai | CD Full Form In Hindi: आज के इस आर्टिकल में हम आपको CD और DVD से जुड़ी जानकारी बताने जा रहे हैं। बहुत से लोग CD और DVD का फुल फॉर्म नहीं जानते हैं। आज का यह लेख इसलिए लिखा गया है ताकि हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी बता सकें। तो चलिए शुरू करते है –

सीडी का फुल फॉर्म क्या है? (CD Ka Full Form Kya Hai?)

सीडी का फुल फॉर्म होता है – Compact Disc (कॉम्पैक्ट डिस्क)।

डीवीडी का फुल फॉर्म क्या है? (DVD Ka Full Form Kya Hai?)

डीवीडी का फुल फॉर्म होता है – Digital Versatile Disc (डिजिटल वर्सेटाइल डिस्क)।

CD क्या है? | CD Kya Hai? | What Is CD In Hindi?

एक कॉम्पैक्ट डिस्क यानी की CD छोटी प्लास्टिक डिस्क होती है जो प्रकाश का इस्तेमाल करके कंप्यूटर डेटा या संगीत को संग्रहीत और पुनर्प्राप्त करती है। यह एक डिजिटल ऑप्टिकल डिस्क डेटा स्टोरेज फॉर्मेट है, जिसे फिलिप्स और सोनी द्वारा सह-विकसित किया गया और इसे 1982 में जारी किया गया। फ्लॉपी डिस्क को कॉम्पैक्ट डिस्क ने बदल दिया क्योंकि वे तेज थे और अधिक इनॉरमेशन रख सकते थे। सीडी में 700 एमबी तक डेटा हो सकता है, जो लगभग 80 मिनट का संगीत है।

कंप्यूटर की जानकारी जिन सीडी में होती है उन्हें सीडी-रोम या कॉम्पैक्ट डिस्क – रीड ओनली मेमोरी कहा जाता है। एक सामान्य सीडी का व्यास 120 सेमी है। और सीडी में बीच का छेद लगभग 1.5 सेमी है। प्रारूप मूल रूप से सिर्फ ध्वनि रिकॉर्डिंग (सीडी-डीए) को स्टोर करने और चलाने के लिए विकसित किया गया था, लेकिन बाद में डेटा (CD-ROM) संग्रहीत करने के लिए अनुकूलित किया गया था। सोनी सीडीपी-101, पहला व्यावसायिक रूप से उपलब्ध ऑडियो सीडी प्लेयर, जापान में अक्टूबर 1982 में जारी किया गया था।

DVD क्या है? | DVD Kya Hai? | What Is DVD In Hindi?

DVD एक डिजिटल ऑप्टिकल डिस्क स्टोरेज फॉर्मेट है जिसे 1995 में आविष्कार और विकसित किया गया था और 1996 के आखिरी में जारी किया गया था। यह माध्यम किसी भी प्रकार के डिजिटल डेटा को स्टोर कर सकता है और इसका यूज़ सॉफ्टवेयर और अन्य कंप्यूटर फाइलों के सहित डीवीडी प्लेयर का उपयोग करके देखे जाने वाले वीडियो प्रोग्राम को स्टोर करने के लिए किया जाता है। डीवीडी समान आयाम होने पर कॉम्पैक्ट डिस्क की तुलना में उच्च भंडारण क्षमता प्रदान करता है।

यह एक सीडी के आकार के समान है, पर इसमें भंडारण क्षमता ज्यादा है। बड़ी क्षमता वाले प्रारूप अधिकांश स्टैंडअलोन DVD प्लेयर द्वारा समर्थित नहीं हैं, लेकिन उनका इस्तेमाल कई कंप्यूटर-आधारित डीवीडी ड्राइव के साथ किया जा सकता है। एक मानक DVD में 4.7 GB तक डेटा हो सकता है, लेकिन मूल डीवीडी प्रारूप की विविधताओं में ज्यादा क्षमता होती है। उदाहरण के लिए, एक दोहरी परत वाली डीवीडी (जिसमें डिस्क के एक तरफ डेटा की दो परतें होती हैं) 8.5 GB डेटा स्टोर कर सकती हैं। एक डुअल साइडेड डीवीडी 9.4 GB डेटा (4.7 x 2) स्टोर कर सकती है। और एक ड्यूल-लेयर, ड्यूल-साइडेड डीवीडी 17.1 GB तक डेटा स्टोर कर सकती है।

कुछ DVD को विशेष रूप से वीडियो प्लेबैक के लिए स्वरूपित किया जाता है, जबकि अन्य में विभिन्न प्रकार के डेटा हो सकते हैं, जैसे सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम और कंप्यूटर फ़ाइलें। मूल “डीवीडी-वीडियो” प्रारूप को सोनी, पैनासोनिक, तोशिबा और फिलिप्स सहित इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों के एक संघ द्वारा 1995 में मानकीकृत किया गया था।

सीडी और डीवीडी के बीच अंतर | Difference Between CD And DVD In Hindi

  • सीडी का फुल फॉर्म कॉम्पेक्ट डिस्क (कॉम्पैक्ट डिस्क) है। डीवीडी का फुल फॉर्म डिजिटल वर्सेटाइल डिस्क (डिजिटल वर्सेटाइल डिस्क) है।
  • एक मानक सीडी लगभग 700 एमबी आकार की होती है। एक डीवीडी का आकार 4.7 से 17 जीबी तक होता है।
  • सीडी में डिस्क के शीर्ष के करीब एक धातु परत या रिकॉर्डिंग परत होती है। डीवीडी में, धातु की परत, जिसे रिकॉर्डिंग परत के रूप में भी जाना जाता है, डिस्क के बीच में स्थित होती है।
  • सीडी में गड्ढों की केवल एक परत होती है। डीवीडी में कुल मिलाकर गड्ढों की दो परतें हैं।
  • गलती सुधार के लिए, सीडी ईएफएमपी और सीआईआरसी कोड का उपयोग करती है। गलती सुधार के लिए, DVD EFMplus और RS-PC के कोड का उपयोग करता है।
  • एक सीडी लगभग 1.2 मिमी मोटी होती है एक डीवीडी लगभग 0.6 मिमी मोटी होती है।
  • एक सीडी में डेटा ट्रांसफर दर 1.4 एमबीपीएस से लेकर 16 एमबीपीएस तक होती है। DVD की डेटा द्रान्सफ़र दर 11 एमबीपीएस होती है।

सीडी क्या होती है?

एक कॉम्पैक्ट डिस्क एक फ्लैट, छोटे गोल आकार का रिकॉर्ड करने योग्य उपकरण है जो 700 एमबी तक डेटा स्टोर कर सकता है। इसका व्यास 4.75 इंच है।

यह एक पोर्टेबल डेटा स्टोरेज डिवाइस है, जिसे आप अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं। सीडी में आपके द्वारा स्टोर किए जाने वाले डेटा की गुणवत्ता लंबे समय तक समान रहती है। किसी भी प्रकार के डेटा जैसे ऑडियो, वीडियो, टेक्स्ट, इमेज आदि को सीडी में डिजिटल फॉर्मेट में स्टोर किया जा सकता है।

सीडी में बहुत छोटे नॉच होते हैं जिनमें डेटा स्टोर किया जाता है। जब हम सीडी प्लेयर में सीडी डालते हैं, तो यह डिस्क सर्कुलर मोशन में घूमती है और डेटा को ऑप्टिकल ड्राइव से लेजर द्वारा पढ़ा जाता है। सीडी को सीडी रोम भी कहा जाता है क्योंकि इसमें डेटा केवल एक बार ही स्टोर किया जाता है। सीडी में डेटा भरने के बाद आप उस डेटा का उपयोग कर सकते हैं लेकिन फिर आप उसमें कोई अन्य डेटा नहीं भर सकते हैं।

जब हम किसी भी प्रकार के डेटा जैसे गाने, वीडियो आदि को सीडी में भरते हैं तो इसे सीडी राइट या सीडी बर्निंग कहते हैं। और जब हम सीडी चलाते हैं तो इसे रीडिंग सीडी कहते हैं। सीडी के कई अलग-अलग प्रारूप बाजार में उपलब्ध हैं।

सीडी कैसे काम करती है?

सीडी एक पोर्टेबल स्टोरेज डिवाइस है जिसमें बहुत छोटे नॉच होते हैं। इन नॉच में डाटा स्टोर किया जाता है। जब भी हम सीडी प्लेयर में सीडी डालते हैं, डिस्क गोल गोल घुमती है और डेटा को ऑप्टिकल ड्राइव से लेजर द्वारा पढ़ा जाता है।

जैसा कि हमने आपको बताया कि सीडी को सीडी रोम भी कहा जाता है, इसके पीछे का कारण यह है कि आप इसमें डेटा को एक बार स्टोर कर सकते हैं और उस डेटा का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन आप इसमें डेटा को दूसरी बार नहीं भर सकते हैं। . बता दें कि सीडी में किसी भी तरह के डेटा को भरने की प्रक्रिया को सीडी राइट या सीडी बर्न कहते हैं।

सीडी का इतिहास

एक अमेरिकी आविष्कारक जेम्स रसेल ने ऑडियो रिकॉर्डिंग को स्टोर करने के लिए विनाइल एल्बम के विकल्प की कल्पना की। वह 1966 में लेजर, डिजिटल रिकॉर्डिंग और ऑप्टिकल डिस्क प्रौद्योगिकियों के संयोजन से बने उत्पाद के लिए पेटेंट दाखिल करने वाले पहले व्यक्ति थे। 1980 के दशक में फिलिप्स इलेक्ट्रॉनिक्स और सोनी कॉर्प ने इस तकनीक के लिए लाइसेंस खरीदे। पहली सीडी 17 अगस्त 1982 को जर्मनी में फिलिप्स की एक फैक्ट्री में तैयार की गई थी।

सीडी के प्रकार | CD Ke Prakar

  • सीडी-आर | CD-R
  • सीडी रोम | CD ROM
  • सीडी आरडब्ल्यू | CD-RW

सीडी-आर | CD-R

दरअसल सीडी-आर का पूरा नाम कॉम्पैक्ट डिस्क-रिकॉर्डेबल है। इस प्रकार की कॉम्पैक्ट डिस्क (सीडी) में किसी भी डेटा को केवल एक बार स्टोर किया जा सकता है और इसे बिल्कुल भी मिटाया नहीं जा सकता है।

सीडी रोम | CD ROM

सीडी-रोम का पूरा नाम कॉम्पैक्ट डिस्क – रीड ओनली मेमोरी है। ऐसी कॉम्पैक्ट डिस्क में संग्रहीत डेटा को न तो आसानी से बदला जा सकता है और न ही इसे अलग से प्रोग्राम किया जा सकता है। इससे हम केवल डेटा को पढ़ सकते हैं।

सीडी आरडब्ल्यू | CD-RW

सीडी-आरडी का पूरा नाम कॉम्पैक्ट डिस्क-री राइटेबल है। इस प्रकार की डिस्क में डेटा को कई बार स्टोर किया जा सकता है और इसे मिटाया भी जा सकता है।

सीडी के फायदे

  • कॉम्पैक्ट डिस्क या सीडी के कई फायदे हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं-
  • कहा जाता है कि सीडी बहुत सस्ती होती हैं, यानी सीडी की कीमत बहुत कम होती है।
  • सीडी को पोर्टेबल कहा जाता है, इसलिए इसे निश्चित रूप से अपने साथ कहीं भी ले जाया जा सकता है।
  • यदि सीडी को सुरक्षित रखा जाए तो यह बहुत लंबे समय तक चलती है।

सीडी के नुकसान

  • सीडी के कुछ नुकसान भी हैं जो इस प्रकार हैं-
  • बता दें कि सीडी की रीड एंड राइट स्पीड बहुत धीमी होती है।
  • दरअसल, सीडी बहुत आसानी से स्क्रैच हो जाती हैं।
  • आपको पता ही होगा कि सीडी में डाटा स्टोर करने की क्षमता बहुत कम होती है।

विश्व का पहला सीडी प्लेयर कौन सा था?

दुनिया के पहले सीडी प्लेयर का नाम Sony CDP-101 था। जिसकी कीमत उस समय लगभग 1000 USD थी। जो बहुत बड़ी राशि है। समय के साथ सीडी प्लेयर की कीमतों में गिरावट शुरू हो गई।

विश्व की पहली सीडी का नाम क्या है?

दुनिया की पहली सीडी का नाम 52nd Street था जिसकी कीमत उस समय लगभग 30 USD थी।

सीडी की भंडारण क्षमता कितनी है?

सीडी की भंडारण क्षमता 700MB है। जिस समय इसे बनाया गया था, उस समय सीडी किसी भी डेटा को स्टोर करने का सबसे अच्छा विकल्प था और इसकी स्टोरेज क्षमता भी अन्य संसाधनों की तुलना में अधिक थी।

प्रश्नोत्तरी

सीडी का फुल फॉर्म क्या है?
सीडी का फुल फॉर्म “कॉम्पैक्ट डिस्क” है।

सीडी का आविष्कार किसने किया?
सीडी का आविष्कार “जेम्स रसेल” ने किया था।

सीडी की स्टोरेज कैपेसिटी कितनी होती है?
हम सीडी में 700 एमबी तक डेटा स्टोर कर सकते हैं यानी सीडी की स्टोरेज क्षमता 700 एमबी तक है।

सीडी में डेटा कैसे स्टोर किया जाता है?
सीडी में डेटा 0 और 1 के रूप में यानि बाइनरी फॉर्म में स्टोर किया जाता है।

सीडी कितने प्रकार की होती है?
सीडी मुख्यतः 3 प्रकार की होती है- 1. सीडी-आर, 2. सीडी रोम, 3. सीडी आरडब्ल्यू।

सीडी किससे बनी होती हैं?
पॉलीकार्बोनेट नामक प्लास्टिक का उपयोग सीडी बनाने के लिए किया जाता है।

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको यह जानकारी (CD Ka Full Form Kya Hai | CD Full Form In Hindi) पसंद आयी होगी। अगर आपको यह लेख (CD Ka Full Form Kya Hai | CD Full Form In Hindi) मददगार लगा है तो आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें । और अगर आपका इस आर्टिकल (CD Ka Full Form Kya Hai | CD Full Form In Hindi) से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेख के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles