https://www.fapjunk.com https://fapmeister.com

एलएलबी का फुल फॉर्म क्या होता है (What Is LLB Full Form In Hindi) – Full Form Of LLB In Hindi

LLB Ka Full Form Kya Hota Hai In Hindi: एलएलबी का नाम तो आपने कई बार ही सुना होगा। एलएलबी भारत के सबसे लोकप्रिय कोर्स में से एक है। एलएलबी करने के बाद ही आप लॉयर यानी वकील बन सकते हैं।

आज के इस लेख में हम आपको एलएलबी का फुल फॉर्म क्या है के अलावा काफी सारी जानकारी देने वाले है। इसलिए इस लेख के अंत तक बने रहे।

तो आइये आपका ज्यादा समय न लेते हुए आज का यह लेख एलएलबी फुल फॉर्म इन हिंदी शुरू करते है और जानते है एलएलबी का फुल फॉर्म क्या है (Full Form Of LLB In Hindi) –

- Advertisement -

एलएलबी का फुल फॉर्म क्या होता है? (What Is LLB Full Form In Hindi) - Full Form Of LLB In Hindi - LLB Ka Full Form Kya Hota Hai In Hindi

एलएलबी का फुल फॉर्म क्या है? (What Is LLB Full Form In Hindi)

एलएलबी का फुल फॉर्म होता है – बैचलर ऑफ लेजिस्लेटिव लॉ (Bachelor Of Legislative Law)। लैटिन भाषा में एलएलबी को लेगम बैकालॉरियस (Legum Baccalaureus) के नाम से जाना जाता है।

- Advertisement -

लेकिन सरल भाषा में या अंग्रेजी में एलएलबी का मतलब होता है – बैचलर ऑफ लॉ (Bachelor Of Laws)। और यही वजह है कि एलएलबी को बीएल भी कहा जाता है। ज्यादातर लोग एलएलबी को बैचलर ऑफ लॉ के नाम से जानते है। लेकिन बैचलर ऑफ लेजिस्लेटिव लॉ सबसे ज्यादा प्रचलित है।

एलएलबी को हिंदी में क्या कहते है? (LLB In Hindi)

एलएलबी को हिंदी में ‘कानून में स्नातक‘ कहा जाता है, जो बैचलर ऑफ लॉ का हिंदी अर्थ है। वही बैचलर ऑफ लेजिस्लेटिव लॉ को हिंदी में विधायी कानून में स्नातक कहा जाता है।

एलएलबी क्या है? (What Is LLB In Hindi)

एलएलबी कानून के क्षेत्र में एक स्नातक डिग्री है। इसे कानून में पहली प्रोफेशनल डिग्री भी माना जाता है।

इस डिग्री की शुरुआत इंग्लैंड में हुई और उसके बाद यह जापान में प्रचलन में आई। शुरुआत में यह डिग्री केवल आर्ट्स के छात्रों के लिए ही लोकप्रिय थी, लेकिन अब कोई भी अपनी रुचि के अनुसार एलएलबी कर सकता है।

अगर आप वकील बनना चाहते हैं या वकालत के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं तो एलएलबी आपके लिए पहला कदम है। वकालत में आपको कानून और नियमों की जानकारी मिलती है। एलएलबी करने के बाद छात्र कानून और नियमों के बारे में समझने लगते हैं। इसके बाद विद्यार्थी वकील या उससे भी बहुत कुछ बन सकता है और अपनी योग्यता और बुद्धि के अनुसार अच्छी नौकरी प्राप्त कर सकता है।

एलएलबी कोर्स दो प्रकार के होते हैं, पहला 3 साल की अवधि का और दूसरा 5 साल की अवधि का। 3 साल का एलएलबी कोर्स ग्रेजुएशन के बाद ही शुरू किया जा सकता है जबकि 5 वर्ष का एलएलबी कोर्स 12वीं पास होने के बाद शुरू किया जा सकता है।

एलएलबी में प्रवेश लेना आसान है। अगर आप 12वीं के बाद एलएलबी करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 12वीं कक्षा में 50 फीसदी या उससे ज्यादा अंकों से पास होना होगा। ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी करने के लिए आपके कोलाज मार्क्स 50% या उससे ऊपर होने चाहिए।

लॉ की प्रमुख और प्रोफेशनल यूनिवर्सिटीज में प्रवेश लेने के लिए, आपको CLAT, LSAT और AILET जैसी प्रवेश परीक्षाओं को पास करना होगा। एलएलबी करने के बाद आपके पास वकील बनने के अलावा लीगल एडवाइजर, जज बनने की तैयारी, पीएचडी और कॉलेज में लेक्चरर बनने जैसे कई विकल्प होते हैं।

एलएलबी का हिंदी में मतलब क्या होता है? (LLB Meaning In Hindi)

एलएलबी को हिंदी में क़ानून में स्नातक, अंग्रेजी में बैचलर ऑफ लॉ और लैटिन भाषा में “लेगम बेकलॉरियस” कहा जाता है। एलएलबी में कानून से संबंधित पढ़ाई होती है।

एलएलबी के अन्य फुल फॉर्म क्या हैं? (Others Full Form Of LLB In Hindi)

वैसे तो एलएलबी का मुख्य फुल फॉर्म बैचलर ऑफ लॉ (Bachelor of Laws) और सटीक फुल फॉर्म लेगम बेकलॉरियस माना जाता है, लेकिन इसके अन्य फुल फॉर्म भी प्रचलन में हैं। इंटरनेट पर रिसर्च करने पर इसके कुछ और फुल फॉर्म मिले है, जिनका जिक्र नीचे किया गया है –

  • Bachelor Of Liberal Laws
  • Latin Legum Baccalaureus
  • Bachelor Of Legislative Law

एलएलबी में कितने सब्जेक्ट्स होते हैं?

एलएलबी 3 साल की अवधि के साथ एक बहु-विषयक डिग्री कोर्स है। इसके अन्तर्गत अर्थशास्त्र, इतिहास, राजनीति विज्ञान, मानव अधिकार आदि विभिन्न विषयों का अध्ययन सम्मिलित है।

कानून की डिग्री कितने साल की होती है?

कानून की डिग्री को पूरा करने में आम तौर पर तीन साल लगते हैं।

एलएलबी प्रवेश परीक्षा (LLB Entrance Exams In Hindi)

अगर आप किसी अच्छी यूनिवर्सिटी से एलएलबी कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा, नीचे कुछ एग्जाम के नाम दिए गए हैं –

  • CLAT Entrance Exam
  • LSAT Entrance Exam
  • AILET Entrance Exam

सीएलएटी प्रवेश परीक्षा (CLAT Entrance Exam)

इस परीक्षा का पूरा नाम कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट है, यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है, इसमें भाग लेने के लिए छात्र को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं में 45 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण होना होता है।

एलएसएटी प्रवेश परीक्षा (LSAT Entrance Exam)

इस परीक्षा का पूरा नाम लो स्कूल एडमिशन टेस्ट है, भारत इस परीक्षा का आयोजन 85 से अधिक कॉलेजों में स्नातक और स्नातकोत्तर लॉ कोर्स यानी एलएलबी और एलएलएम में प्रवेश के लिए करवाता है।

इस परीक्षा को चार भागों में बांटा गया है – Analytical Reasoning, Logical Reasoning(1), Logical Reasoning (2) And Reading Comprehension।

एआईएलईटी प्रवेश परीक्षा (AILET Entrance Exam)

यह परीक्षा नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली द्वारा आयोजित की जाती है। इसका पूरा नाम ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट है।

एलएलबी के बाद करियर (Career After LLB In Hindi)

एलएलबी कोर्स करने के बाद आपको कई जगह आसानी से नौकरी मिल सकती है। चूंकि हाल के दिनों में एलएलबी की मांग बढ़ रही है, इसलिए आजकल कानून के क्षेत्र में कई अच्छे स्कोप हैं।

  • MNCs
  • Law Firms
  • Bank Legal Dept
  • Courts & Judiciary
  • Colleges & Universities

एलएलबी के तहत पाठ्यक्रम (Courses Under LLB In Hindi)

एलएलबी के तहत ऐसे कई कोर्स हैं जिन्हें आप रुचि अनुसार चुन सकते हैं –

  • Cyber Law (साइबर लॉ)
  • Family Law (फैमिली लॉ)
  • Banking Law (बैंकिंग लॉ)
  • Criminal Law (क्रिमिनल लॉ)
  • Corporate Law (कॉर्पोरेट लॉ)
  • Patent Attorney (पेटेंट अटोर्नी)

एलएलबी के फायदे (Advantages Of LLB In Hindi)

एलएलबी करना वाकई एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। एलएलबी करने के कई फायदे इस प्रकार है –

कानून को समझना हर किसी के लिए आसान नहीं है। शायद यही कारण है कि राजनीति विज्ञान को सबसे कठिन विषयों में से एक माना जाता है। लेकिन एलएलबी के बाद आपको नियमों और उन्हें बनाने के बारे में विशेष जानकारी मिलती है।

ज्यादातर लोग सोचते हैं कि एलएलबी में करियर का एकमात्र विकल्प वकील बनना है, लेकिन एलएलबी में करियर के कई विकल्प हैं। यहां तक कि वकील भी कई तरह के होते हैं।

इसमें कोई शक नहीं कि मौजूदा समय में अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज से इंजीनियरिंग करते हैं या ऐसा कोई कोर्स करते हैं तो उसकी डिग्री से ही आपको एक साधारण सी नौकरी मिल सकती है। लेकिन एलएलबी करने वाले छात्र को एक अलग नजरिए से देखा जाता है और उसे ज्यादा बुद्धिमान माना जाता है जिसके कारण एलएलबी की डिग्री की मान्यता ज्यादा होती है।

इसके अलावा एलएलबी करने के और भी कई फायदे हैं जैसे अच्छी सैलरी, सम्मान आदि। अगर आपकी भी कानून में रुचि है और आप नियमों को समझने में रुचि रखते हैं तो आप भी एलएलबी कर सकते हैं। यह एक बेहतरीन करियर विकल्प है।

यह भी पढ़े –

FAQs For LLB Kya Hai In Hindi

एलएलबी का पूरा नाम क्या है?
एलएलबी का पूरा नाम है – बैचलर ऑफ लेजिस्लेटिव लॉ (Bachelor Of Legislative Law)।

एलएलबी को हिंदी में क्या कहते हैं?
एलएलबी को हिंदी में विधि स्नातक, कानून में स्नातक या विधायी कानून में स्नातक कहा जाता है।

एलएलबी कोर्स की अवधि कितनी साल की होती है?
एलएलबी कोर्स में प्रवेश के लिए दो विकल्प हैं एक 3 साल का कोर्स है जिसके लिए न्यूनतम पात्रता स्नातक की डिग्री है और दूसरा स्नातक छात्रों के लिए 5 साल का एलएलबी इंटीग्रेटेड कोर्स (बीए एलएलबी) है।

क्या 12वीं के बाद एलएलबी कर सकते हैं?
हां, इंटरमीडिएट लेवल (12वीं) में साइंस स्ट्रीम की पढ़ाई करने के बाद भी एलएलबी कोर्स किया जा सकता है।

एलएलबी की 1 वर्ष की फीस कितनी होती है?
एलएलबी की 1 साल की फीस 70,000 रुपए से लेकर 100000 रुपए प्रति वर्ष या उससे भी अधिक हो सकती है।

निष्कर्ष

हमे उम्मीद है की आपकोयह लेख एलएलबी का फुल फॉर्म क्या है (LLB Ka Full Form Kya Hai) जरुर पसंद आया होगा। हमारी हमेशा से यही कोशिश रहते है कि पाठकों को सम्बंधित लेख के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की जाए ताकि उन्हें इसके लिए किसी अन्य साइट या इंटरनेट पर खोजने की आवश्यकता न पड़े।

अगर आपको यह लेख एलएलबी फुल फॉर्म इन हिंदी (LLB Full Form In Hindi) अच्छा लगा है तो इसे अपनों के साथ भी शेयर करे।

इस लेख फुल फॉर्म ऑफ़ एलएलबी इन हिंदी के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद। इसी तरह हमारे ब्लॉग पर आते रहे।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles

You cannot copy content of this page