हैकिंग क्या है? और कौन होते है हैकर – (What Is Hacking In Hindi)

What Is Hacking In Hindi – आज हम जानेंगे कि हैकिंग क्या है और हैकर्स कितने प्रकार के होते हैं। आजकल कंप्यूटर और स्मार्टफोन की मांग इतनी बढ़ गई है कि लोग इन दो चीजों के अलावा अपना काम पूरा नहीं कर पाते हैं।

चाहे हम अपना खुद का व्यवसाय संभाले या किसी कंपनी या बैंक में काम करें। हर जगह कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है। कंपनी चलाने के लिए या व्यवसाय चलाने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना आवश्यक है क्योंकि इसकी मदद से हम बहुत सारे काम और गणना कुछ ही मिनटों में कर लेते हैं। जिस प्रकार प्रत्येक कार्य को पूर्ण करने में छोटी-बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, उसी प्रकार कम्प्यूटर में कार्य करते समय अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

साइबर क्राइम के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा। साइबर क्राइम एक ऐसा अपराध है जिसमें हैकर दूसरे लोगों के कंप्यूटर से महत्वपूर्ण डेटा और व्यक्तिगत फाइलों को चुराने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं और उन्हें ब्लैकमेल करते हैं और उनसे बहुत सारे पैसे की मांग करते हैं। साइबर क्राइम के चलते हर साल कई संस्थाएं जिनका डाटा चोरी हो गया है, उन लोगों को अपना डाटा बचाने के लिए लाखों करोड़ रुपये चुकाने पड़ते हैं।

कंप्यूटर की दुनिया में यह अपराध बढ़ता ही जा रहा है और ऐसे में हर किसी को अपनी कंपनी और बिजनेस की जरूरी फाइलों को इन हैकर्स से सुरक्षित रखने की जरूरत है। लेकिन यहां सवाल उठता है कि कंप्यूटर में रखी जरूरी फाइलों को चोरी होने से कैसे बचाया जाए। अगर आप इस सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। तो चलिए शुरू करते है –

हैकिंग क्या है? (What Is Hacking In Hindi)

हैकिंग का अर्थ है – कंप्यूटर सिस्टम में कमजोरी या खामियों का पता लगाकर उस कमजोरी का फायदा उठाकर उस कंप्यूटर के मालिक को ब्लैकमेल करना। या कंप्यूटर सिस्टम में कमजोरी या खामियों का पता लगाकर उसका गलत फायदा उठाना हैकिंग कहलाता है। हैकिंग एक व्यक्ति द्वारा कंप्यूटर के माध्यम से की जाती है, जिसे हम हैकर कहते हैं। उसे कंप्यूटर का बहुत ज्ञान है, इसलिए वह दूसरों के कंप्यूटर से डेटा चोरी करने में माहिर है।

हैकिंग का नाम सुनते ही पता चल जाता है कि यह एक गलत काम है क्योंकि यह गैरकानूनी है और ऐसा करने पर व्यक्ति को सजा भी हो सकती है। लेकिन हर बार हैकिंग करना गलत नहीं है क्योंकि सभी हैकर एक जैसे नहीं होते, कुछ अच्छे हैकर होते हैं और कुछ खराब हैकर।

हैकिंग की परिभाषा क्या है? (What Is Definition Of Hacking In Hindi)

कंप्यूटर सिस्टम में कमजोरी या खामियों का पता लगाकर उसका गलत फायदा उठाना या गलत इस्तेमाल करना हैकिंग कहलाता है।

हैकर किसे कहा जाता हैं? (Who Is Called Hacker In Hindi)

हैकिंग करने वाले व्यक्ति या हैकिंग जैसी घटनाओं को अंजाम देने वाले व्यक्ति को हैकर कहा जाता है। आमतौर पर ये लोग किसी सिस्टम में घुसपैठ करते हैं। इसलिए इन हैकर को घुसपैठिए के रूप में जाना जाता है। एक हैकर एक कंप्यूटर विशेषज्ञ है। उन्हें कंप्यूटर और नेटवर्क की अच्छी जानकारी होती है। वे हमेशा हैकिंग के नए-नए कौशल सीखते और जानते रहते हैं।

इससे उनका ज्ञान बढ़ता रहता है। वे प्रोग्रामर भी हैं। उन्हें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का भी अच्छा ज्ञान है। यानी हैकर्स प्रोग्रामिंग में भी माहिर होते हैं। उन्हें तकनीक की भी अच्छी जानकारी है। इसलिए उन्हें पकड़ना मुश्किल या असंभव है। हैकर्स को आपने हैकिंग मूवीज में तो देखा ही होगा।

जो सिर्फ एक बटन दबाने से पूरे सिस्टम को हैक कर लेता है। लेकिन हकीकत इससे अलग है। किसी सिस्टम या नेटवर्क को हैक करना बिल्कुल भी आसान नहीं होता है। इसके लिए सबसे पहले उनकी भेद्यता (खामियों) का पता लगाना होगा। उसके बाद इसी भेद्यता की मदद से सिस्टम या नेटवर्क को हैक कर लिया जाता है।

हैकिंग को आमतौर पर जानकारी चुराने या किसी को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से जाना जाता है। लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता है। कुछ अच्छे हैकर्स भी होते हैं। जो हैकिंग का इस्तेमाल अच्छे कामों के लिए करते हैं। अच्छे हैकर्स लोगों की मदद करने और उन्हें बुरे हैकर्स से बचाने का काम करते हैं।

हैकिंग का इतिहास (History Of Hacking In Hindi)

हैकिंग पिछले कई दशकों से कंप्यूटिंग का एक बहुत बड़ा हिस्सा रहा है। इसका इस्तेमाल पहली बार 1960 में एमआईटी द्वारा किया गया था और साथ ही इस शब्द “हैकर” का जन्म भी हुआ था। जो बाद में बहुत प्रसिद्ध भी हुआ।

हैकिंग में जो मुख्य कार्य करना होता है वह किसी भी कंप्यूटर नेटवर्क या कंप्यूटर सिस्टम में संभावित प्रवेश बिंदुओं को ढूंढना है और आखिरी में उसमे एंटर करना होता है। हैकिंग में आमतौर पर कंप्यूटर सिस्टम या कंप्यूटर नेटवर्क तक अनधिकृत पहुंच प्राप्त करना शामिल होता है। इसका मकसद या तो सिस्टम को नुकसान पहुंचाना है या फिर सिस्टम में मौजूद संवेदनशील जानकारी को चुराना है।

हैकिंग अक्सर तब तक वैध होती है जब तक हैकर परीक्षण उद्देश्यों के लिए कंप्यूटर सिस्टम या कंप्यूटर नेटवर्क की कमजोरियों का पता लगाने के लिए इसका उपयोग करता है। इस प्रकार की हैकिंग को एथिकल हैकिंग कहा जाता है।

एक कंप्यूटर विशेषज्ञ जो इस हैकिंग को खुद करता है उसे “एथिकल हैकर” कहा जाता है। एथिकल हैकर्स वे हैं जो हमेशा अपने ज्ञान का उपयोग ज्ञान प्राप्त करने के लिए करते हैं। जैसे – सिस्टम कैसे काम करते हैं, उन्हें कैसे डिज़ाइन किया जाता है इत्यादि।

हैकिंग के प्रकार क्या है? (Types Of Hacking In Hindi)

हैकिंग को हम अलग-अलग कैटेगरी में बांट सकते हैं। जैसे की –

मोबाइल हैकिंग

मोबाइल हैकिंग में मोबाइल सिस्टम पर टारगेटिंग की जाती है। जिसमें मोबाइल को नियंत्रित करना, जासूसी करना, चोरी करना और डेटा को नष्ट करना भी शामिल है। यह आमतौर पर वायरस, ट्रोजन और मैलवेयर द्वारा किया जाता है। इसके अलावा इसमें हैकिंग एप्लीकेशन का भी इस्तेमाल किया जाता है।

वेबसाइट हैकिंग

वेब सर्वर और इससे जुड़े सॉफ्टवेयर जैसे डेटाबेस और अन्य इंटरफेस पर अनधिकृत नियंत्रण प्राप्त करना।

नेटवर्क हैकिंग

एक नेटवर्क पर सभी जानकारी प्राप्त करना और जिसके लिए टेलनेट, एनएस लुकअप, पिंग, ट्रैसर्ट, नेटस्टैट आदि जैसे कई टूल हैं। ऐसा करने का मुख्य उद्देश्य केवल नेटवर्क को नुकसान पहुंचाना है।

ईमेल हैकिंग

हैकर को मालिक की अनुमति के बिना उसके ईमेल खाते तक अनधिकृत पहुंच प्राप्त हो जाती है। जिसे बाद में वह अपने अवैध कामों के लिए इसका इस्तेमाल करने वाला होता है।

एथिकल हैकिंग

किसी सिस्टम या नेटवर्क की कमजोरी की पहचान करना और मालिक को उसे ठीक करने में मदद करना। यह एक सुरक्षित हैकिंग प्रक्रिया है जिसमें मालिक की देखरेख में सारा काम किया जाता है।

पासवर्ड हैकिंग

इसमें कंप्यूटर सिस्टम में संग्रहीत या किसी कंप्यूटर सिस्टम द्वारा प्रेषित डेटा से गुप्त पासवर्ड रिकवर किए जाते हैं।

कंप्यूटर हैकिंग

हैकर हैकिंग मेथड्स का उपयोग करके कंप्यूटर सिस्टम की कंप्यूटर आईडी और पासवर्ड जानता है, ताकि उन्हें किसी भी कंप्यूटर सिस्टम तक अनधिकृत पहुंच प्राप्त हो सके। इससे मालिकों को उनके डेटा चोरी होने का खतरा होता है।

कितने प्रकार के होते हैं हैकर्स? (What Are The Types Of Hackers In Hindi)

मूल रूप से तीन प्रकार के हैकर होते हैं। उनमें से दो बुरे हैकर होते हैं जो बुरे काम करके लोगों को नुकसान पहुंचाते हैं और एक हैकर अच्छा होता है जो हमें इन दोनों बुरे हैकरों से बचाता है। अच्छे हैकर को व्हाइट हैट हैकर और एक बुरे हैकर को ब्लैक हैट हैकर कहा जाता है। और जो इन दोनों के बीच में आता है, जो अच्छे और बुरे दोनों काम करता है उसे ग्रे हैट हैकर कहा जाता है।

Black Hat Hacker

White Hat Hacker

Grey Hat Hacker

ब्लैक हैट हैकर (What Is Black Hat Hacker In Hindi)

ब्लैक हैट हैकर्स वे हैं जो आपकी अनुमति के बिना आपके कंप्यूटर में प्रवेश करते हैं और आपका व्यक्तिगत डेटा जैसे फंड लेनदेन विवरण, एटीएम कार्ड विवरण आदि चुरा लेते हैं। वे चोरी करते हैं और हमारी मजबूरी का गलत फायदा उठाते हैं और फिरौती मांगते हैं। ब्लैक हैट हैकर्स बहुत बुरे होते हैं और अपने फायदे के लिए दूसरों को नुकसान पहुंचाते हैं।

व्हाइट हैट हैकर (What Is White Hat Hacker In Hindi)

व्हाइट हैट हैकर्स वे लोग होते हैं जो ब्लैक हैट हैकर के बिल्कुल विपरीत काम करते हैं, यानी ये हैकर्स अनुमति लेकर कंप्यूटर की सुरक्षा की जांच करते हैं। यह केवल उनके सिस्टम की सुरक्षा कितनी मजबूत है और उस सुरक्षा को आसानी से तोड़ा जा सकता है या नहीं। यह जानने में मदद करते हैं। हम व्हाइट हैट हैकर्स को एथिकल हैकर्स भी कहते हैं।

ग्रे हैट हैकर (What Is Grey Hat Hacker In Hindi)

ग्रे हैट हैकर वे होते हैं जिनका कोई व्यक्तिगत इरादा दूसरों के कंप्यूटर के डेटा के साथ खेलने या उनके सिस्टम को खराब करने का नहीं होता है और वे बदले में पैसे भी नहीं चाहते हैं। लेकिन फिर भी बिना अनुमति के दूसरों के कंप्यूटर को अपने कौशल का उपयोग करके हैक करने का प्रयास करते है । वे ऐसा सिर्फ हैकिंग सीखने के लिए करते हैं, इसलिए उनका मकसद खराब नहीं है। इसलिए वे ब्लैक हैट हैकर नहीं हैं और उन्होंने बिना अनुमति के कंप्यूटर को हैक करने की कोशिश की, इसलिए वे व्हाइट हैकर भी नहीं हैं, इसलिए ऐसे हैकर को हम ग्रे कहते हैं।

इसके अलावा कुछ अलग तरह के हैकर्स भी होते हैं जिनके बारे में नीचे जानकारी दी गई है।

मिसलेनियस हैकर्स (What Is Miscellaneous Hacker In Hindi)

हैकर्स के दूसरे वर्ग को छोड़कर, वे भी अपनी हैकिंग विधियों के लिए विभाजित हैं। तो चलिए इसके बारे में और जानते हैं।

  • Red Hat Hackers
  • Blue Hat Hacker
  • Elite Hackers
  • Script Kiddie Hackers
  • Green Hat Hackers
  • Hacktivist Hackers

रेड हैट हैकर्स (What Is Red Hat Hackers In Hindi)

रेड हैट हैकर्स उन्हें कहा जाता है जो ब्लैक हैट और व्हाइट हैट हैकर्स दोनों का मिश्रण होते हैं। वे मुख्य रूप से सरकारी एजेंसियों, टॉप सीक्रेट इनफार्मेशन हब और उन सभी चीजों को लक्षित करते हैं जो संवेदनशील जानकारी से संबंधित हैं ताकि उन्हें हैक किया जा सके।

ब्लू हैट हैकर्स (What Is Blue Hat Hackers In Hindi)

ब्लू हैट हैकर्स उन्हें कहा जाता है जो अक्सर फ्रीलांसर होते हैं और किसी कंपनी के लिए काम नहीं करते हैं लेकिन उन्हें नेटवर्क सुरक्षा, ऐप्स, सॉफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी होती है। ऐसे हैकर्स का इस्तेमाल कंपनियां अपने प्रोडक्ट की खामियों को जानने के लिए करती हैं। इसके लिए उन्हें उत्पादों का बीटा वर्जन मुहैया कराती हैं और इस काम में वे कंपनियों की काफी मदद करते हैं। कंपनियां उन्हें बहुत अच्छा पैसा भी मुहैया कराती हैं। ऐसे ब्लू हैट हैकर्स को प्रोत्साहित करने के लिए कई कंपनियां कई प्रतियोगिताएं आयोजित करती हैं।

एलीट हैकर्स (What Is Elite Hackers In Hindi)

यह हैकर्स कम्युनिटी के बीच एक सामाजिक स्थिति है, जो केवल उन चुनिंदा हैकर्स के लिए उपलब्ध है जिनके पास असाधारण कौशल है। इस तरह वह अपने काम में सबसे माहिर खिलाड़ी हैं।

स्क्रिप्ट किडडी (What Is Script Kiddie Hackers In Hindi)

एक स्क्रिप्ट किडडी उस व्यक्ति को कहा जाता है जो अपने क्षेत्र में पूरी तरह से नॉन -एक्सपर्ट है और वे पहले से पैक किए गए स्वचालित टूल का उपयोग करते हैं जो किसी और के कंप्यूटर सिस्टम में घुसने के लिए किसी और द्वारा लिखे गए हो । वे उन टूल के बारे में कुछ नहीं जानते जैसे की – वे कैसे काम करते हैं। इसलिए वे किडडी कहे जाते हैं।

नेऑफिटे (What Is Green Hat Hackers In Hindi)

ये हैकर्स हैं जो “n00b”, या “न्यूबीए ” या “ग्रीन हैट हैकर” हैं। ये लोग अक्सर हैकिंग के क्षेत्र में नए होते हैं। जिन्हें हैकिंग और उसकी तकनीकों के बारे में कुछ भी नहीं पता होता है।

हैक्टिविस्ट (What Is Hacktivist Hackers In Hindi)

हैकटिविस्ट उस हैकर को कहा जाता है जिसकी तकनीक का उपयोग सामाजिक, वैचारिक, धार्मिक या राजनीतिक संदेशों को हैक करने के लिए किया जाता है। इसमें ज्यादातर लोग वेबसाइट डिफेसमेंट और डिनायल ऑफ सर्विस अटैक का इस्तेमाल करते हैं।

एथिकल हैकिंग लीगल है या नहीं? (Is Ethical Hacking Legal Or Not In Hindi)

एथिकल हैकिंग लीगल है क्योंकि ये हैकर पूछकर कंप्यूटर को हैक करते है और सिस्टम की सुरक्षा में सुधार करते है। एथिकल हैकर सिस्टम को हैक करने के लिए कुछ नियमों का पालन करता है, जो बहुत महत्वपूर्ण है जैसे की – कंप्यूटर के मालिक से अनुमति लेना, कंप्यूटर की गोपनीयता की रक्षा करना ताकि कोई और हैक न कर सके, कंप्यूटर की कमजोरी का पता लगाना। और एक रिपोर्ट बनाकर उसके मालिक को सारी जानकारी देता है।

इन सब चीजों को करके एथिकल हैकर किसी व्यक्ति या कंपनी को बुरेहैकर की नजर से बचाता है और नुकसान से भी बचाता है। बड़ी कंपनियां अपनी महत्वपूर्ण फाइलों और कॉरपोरेट डेटा को सुरक्षित रखने के लिए एथिकल हैकर्स को अपनी कंपनी में हायर करती हैं और उन्हें अच्छी सैलरी भी देती हैं।

एथिकल हैकिंग के फायदे (AdvantagesOf Ethical Hacking In Hindi)

  • आप अपनी खोई हुई जानकारी को रिकवर कर सकते हैं, खासकर जब आप अपना पासवर्ड भूल जाते हैं।
  • इससे हम पेनेट्रेशन टेस्टिंग कर सकते हैं ताकि हम किसी भी कंप्यूटर या नेटवर्क सुरक्षा की ताकत की जांच कर सकें।
  • अपने कंप्यूटर को दुर्भावनापूर्ण हैकर्स से बचाने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।

एथिकल हैकिंग के नुकसान (Disadvantages Of Ethical Hacking In Hindi)

  • एथिकल हैकिंग सीखने के बाद लोग पैसे के लालच में आपके गलत काम करने लगते हैं।
  • इससे हम किसी के सिस्टम तक अनधिकृत पहुंच प्राप्त कर सकते हैं और उनकी निजी जानकारी जान सकते हैं।
  • इससे हम निजता का उल्लंघन भी कर सकते हैं।
  • अगर इसका उल्टा इस्तेमाल किया जाए तो किसी भी सिस्टम ऑपरेशन को नुकसान भी हो सकता है।

एथिकल हैकिंग का उद्देश्य क्या है? (What Is The Purpose Of Ethical Hacking In Hindi)

एथिकल हैकिंग का मुख्य उद्देश्य क्या है और क्यों आजकल हर कोई इसके पीछे है। बहुत से लोग अपने हैकिंग ज्ञान को दूसरों को दिखाने के लिए ऐसा करते हैं। कुछ लोग इसे सिर्फ मजे के लिए करते हैं। कई लोग ऐसे भी होते हैं जो किसी कंपनी की सिक्योरिटी चेक करने के लिए ऐसा करते हैं।

मैलसियस हैकिंग क्या है? (What is Malicious Hacking)

नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से की गई हैकिंग को मैलसियस हैकिंग कहा जाता है। यह अवैध है। क्योंकि इसमें लोगों के डेटा के साथ छेड़छाड़ की जाती है। जैसे की – डेटा चोरी, डेटा के साथ छेड़छाड़ या इसे नष्ट करना। चोरी किए गए डेटा को या तो फिरौती के रूप में मांगा जाता है या किसी कंपनी को बेच दिया जाता है। कभी-कभी बदला लेने के लिए चुराए गए व्यक्तिगत डेटा को इंटरनेट या सोशल मीडिया पर पब्लिश कर दिया जाता है।

इसके अलावा ईमेल अकाउंट हैक करना, सोशल मीडिया अकाउंट हैक करना, बैंक से पैसे चुराना भी मेलिसियस हैकिंग में किया जाता है। मालिसियस हैकिंग से बड़ी कंपनियां और सरकार भी अछूती नहीं है। क्योंकि उनके डेटा सेंटर, सर्वर, नेटवर्क और सुरक्षा एजेंसी आदि की वेबसाइट को मालिसियस हैकिंग द्वारा हैक कर लिया जाता है। ऐसा करना गलत बात है। इसलिए इसे ब्लैक हैट हैकिंग कहा जाता है।

साइबर क्राइम क्या है? (What iS Cyber ​​Crime In Hindi)

कंप्यूटर सिस्टम, नेटवर्क, वेबसाइट और सॉफ्टवेयर आदि में किए गए अपराध को साइबर अपराध का नाम दिया गया है। जैसे की – कंप्यूटर वायरस फैलाना, सूचना की चोरी, इनफार्मेशन मिटाना स्पैम ईमेल, फ़िशिंग और हैकिंग शामिल हैं। यह हैकिंग, मैलसियस हैकिंग है। साइबर क्राइम करने वाले व्यक्ति को साइबर क्रिमिनल कहा जाता है।

साइबर क्राइम के खिलाफ सरकार सख्त से सख्त कदम उठा रही है। साइबर क्राइम में पकड़े जाने पर जेल भी हो सकती है। साइबर क्राइम को रोकने या साइबर क्रिमिनल को पकड़ने के लिए एथिकल हैकर्स की मदद ली जाती है। साइबर क्राइम के तहत किए गए हमले को साइबर अटैक कहा जाता है और साइबर क्राइम के तहत किए गए युद्ध को साइबर वॉर कहा जाता है।

FAQs

हैकिंग क्या है?
कंप्यूटर सिस्टम में कमजोरी या खामियों का पता लगाकर उसका गलत फायदा उठाना या गलत इस्तेमाल करना हैकिंग कहलाता है।

हैकर कौन होते है?
हैकिंग करने वाले व्यक्ति या हैकिंग जैसी घटनाओं को अंजाम देने वाले व्यक्ति को हैकर कहा जाता है।

साइबर क्राइम क्या है?
कंप्यूटर सिस्टम, नेटवर्क, वेबसाइट और सॉफ्टवेयर आदि में किए गए क्राइम को साइबर क्राइम कहा जाता है।

क्या एथिकल हैकिंग लीगल है?
हाँ एथिकल हैकिंग लीगल है।

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी। अगर आपको यह लेख मददगार लगा है तो आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। और अगर आपका इस लेख (What Is Hacking In Hindi) से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेख के अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles