सीपीयू क्या है, कैसे काम करता है, प्रकार और भाग – (CPU In Hindi)

What Is CPU In Hindi: क्या आप जानते हैं कि सीपीयू क्या है, सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग क्यों कहा जाता है, सीपीयू कैसे काम करता है, सीपीयू कितने प्रकार के होते हैं, सीपीयू के कितने भाग होते हैं, सीपीयू के कार्य क्या होते हैं। इस तरह के अनेक सवाल आपके मन में आते रहंते होंगे। इन्हीं सवालों का जवाब देने के लिए हमने यह लेख सीपीयू क्या होता है लिखा है।

इस लेख के माध्यम से हमने आपको सीपीयू के बारे में जानकारी दी है। सीपीयू कंप्यूटर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है जिसके बिना कंप्यूटर बेजान है। इसलिए आज के समय में हर किसी को कंप्यूटर की इस डिवाइस के बारे में जानना जरूरी है।

टेक्नोलॉजी को आगे बढ़ाने में कंप्यूटर ने सबसे ज्यादा मदद की है। लेकिन बिना सीपीयू के कंप्यूटर की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को पहचानने में सक्षम है और उसके अनुसार हमें परिणाम दिखाता है। यह सब सीपीयू का ही कमाल है जिससे कंप्यूटर को पता चल जाता है कि यूजर क्या चाहता है।

अगर हम कंप्यूटर में कोई काम करते हैं जैसे मूवी देखना, टाइप करना, प्रिंट करना आदि तो कंप्यूटर हमें सभी का सटीक परिणाम दिखाता है। सीपीयू कंप्यूटर का एक अभिन्न अंग है, तो बिना देर किए चलिए इस लेख की शुरुआत करते हैं और जानते हैं कि सीपीयू क्या होता है (CPU Kya Hota Hai) –

सीपीयू क्या है? (CPU Kya Hai In Hindi)

सीपीयू (CPU), जिसे सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कहा जाता है, कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो इनपुट को प्रोसेस करता है और परिणाम को आउटपुट के रूप में दिखाता है। सीपीयू को प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर भी कहा जाता है।

सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है क्योंकि यह कंप्यूटर की सभी डिवाइस मेमोरी, इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस, अंकगणित, तार्किक को नियंत्रित करता है।

सीपीयू कंप्यूटर का एक हार्डवेयर डिवाइस है जो मदरबोर्ड में लगा होता है, यह एक चौकोर चिप होती है जिसमें कई पिन होती हैं।

सीपीयू का पूरा नाम क्या है? (CPU Full Form In Hindi)

सीपीयू का पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट है। इसे हिंदी में केन्द्रीय प्रसंस्करण इकाई कहते हैं। जिसका अर्थ है कि वह डिवाइस जो कंप्यूटर के सभी कार्यों को प्रोसेस करता है।

सीपीयू की परिभाषा क्या है? (Definition Of CPU In Hindi)

CPU कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण डिवाइस है जो उपयोगकर्ता से इनपुट प्राप्त करता है और फिर उसे प्रोसेस करके परिणाम को आउटपुट डिवाइस में दिखाता है। और साथ ही साथ ये सीपीयू मेमोरी में डाटा को स्टोर करने का भी काम करता है।

सीपीयू कैसे काम करता है? (How Does CPU Work In Hindi)

सीपीयू को अच्छे से समझने के लिए ये जानना भी जरुरी है की सीपीयू कैसे काम करता है –

सीपीयू मुख्य रूप से तीन भागों में अपना काम करता है, पहले इनपुट प्राप्त करना और डेटा को स्टोरेज करना, फिर डेटा को प्रोसेस करना और फिर आउटपुट के रूप में परिणाम दिखाना। इस पूरी प्रक्रिया में सीपीयू को कुछ ही सेकंड का समय लगता है। तो चलिए सीपीयू की कार्यप्रणाली को विस्तार से समझते हैं –

जब उपयोगकर्ता इनपुट डिवाइस के माध्यम से कंप्यूटर को निर्देश देता है, तो यह निर्देश रैम के माध्यम से सीपीयू तक पहुंचता है और फिर सीपीयू डेटा को प्रोसेस करता है। यहाँ पर सीपीयू एक और काम भी करता है वो डाटा को स्टोर करता है। सीपीयू पहले अनप्रोसेस्ड डेटा को रेम में स्टोर करता है और फिर प्रोसेस्ड डेटा रोम में स्टोर करता है।

सीपीयू मेमोरी से प्राप्त निर्देशों को डिकोड करता है और उन्हें सेंट्रल प्रोसेसर को भेज देता है और फिर अंत में, डिकोड किए गए निर्देशों पर ALU (अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट) के द्वारा गणितीय क्रिया जैसे कि जोड़, घटाव, गुणा, भाग, प्रतिशत आदि की जाती है। और फिर डेटा को आउटपुट के रूप में प्रदर्शित किया जाता है।

सीपीयू का इतिहास (History Of CPU In Hindi)

कंप्यूटर युग में पहली बार सीपीयू का विकास सन 1970 में इंटेल नामक कंपनी द्वारा किया गया था। इस सीपीयू को टेड हॉफ की मदद से बनाया गया था। इंटेल ने 1971 में पहला माइक्रोप्रोसेसर लॉन्च किया था, जिसे The Intel 4004 नाम दिया गया था। आपको बता दें कि 4004 में 2300 ट्रांजिस्टर मौजूद थे और इसका आकार मौजूदा प्रोसेसर से बहुत अधिक था।

हालांकि, माइक्रो प्रोसेसर लॉन्च करने से पहले ही इसके कंपोनेंट्स को लेकर काम शुरू हो चुका था। 80 के दशक से इंटेल समय के साथ लगातार बेहतर तकनीक वाले प्रोसेसर बाजार में उतारता आ रहा है।

सीपीयू के भाग/हिस्से (Parts Of CPU In Hindi)

सीपीयू के मुख्यतः तीन भाग होते हैं –

  • Memory
  • Control Unit
  • Arithmetic Logic Unit

1 – मेमोरी (Memory)

मेमोरी कंप्यूटर का स्टोरेज है जिसमें डाटा स्टोर किया जाता है। सीपीयू पहले प्राप्त इनपुट और डाटा को अपनी मेमोरी में स्टोर करता है और फिर जब वह डेटा को प्रोसेस करता है तो भी उसे मेमोरी में स्टोर करता है, जिसे यूजर बाद में उपयोग कर सकता है।

इस कार्य को करने के लिए मेमोरी अलग-अलग मेमोरी का उपयोग करता है जिसमें अनप्रोसेस्ड डेटा स्टोर किया जाता है, इसे प्राइमरी मेमोरी (रैम) कहा जाता है और जिस मेमोरी में प्रोसेस्ड डेटा स्टोर किया जाता है उसे सेकेंडरी मेमोरी (रोम) कहा जाता है।

2 – कंट्रोल यूनिट (Control Unit )

कंट्रोल यूनिट कंप्यूटर में सभी ऑपरेशन को मैनेज करता है। कंट्रोल यूनिट मेमोरी से निर्देश प्राप्त करता है और इसे डिकोड करके सेंट्रल प्रोसेसर को भेजता है और फिर कंप्यूटर उसी निर्देश के अनुसार प्रोसेस करता है। कंट्रोल यूनिट किसी भी प्रकार की मेमोरी को स्टोर नहीं करता है।

3 – अरिथमेटिक लॉजिकल यूनिट (Arithmetic Logic Unit )

(ALU) अरिथमेटिक और लॉजिकल यूनिट में विभाजित रहता है। अरिथमेटिक के माध्यम से, यह गणितीय गणनाओं जैसे कि जोड़, घटाव, गुणा, भाग आदि का इनपुट कार्य करता है। सीपीयू परिणामों को लॉजिकल सेक्शन के माध्यम से आउटपुट के रूप में प्रदर्शित करता है। इस प्रकार यह प्रक्रिया चलती रहती है।

सीपीयू के प्रकार क्या है? (Types Of CPU In Hindi)

प्रत्येक सीपीयू कम से कम एक प्रोसेसर से बना होता है जो सभी कार्यों को प्रोसेसिंग करता है, इसलिए इसे प्रोसेसिंग यूनिट भी कहा जाता है। लेकिन सीपीयू एक से अधिक प्रोसेसर से बना हो सकता है, इसके आधार पर सीपीयू को कई भागों में विभाजित किया जा सकता है जो इस प्रकार हैं –

आपको बता दे की सीपीयू और प्रोसेसर अलग-अलग डिवाइस हैं, बहुत से लोगो को कंफ्यूशन रहता हैं कि सीपीयू और प्रोसेसर एक ही हैं। प्रोसेसर सीपीयू के अंदर स्थित एक डिवाइस है जो डेटा को प्रोसेस करती है, जबकि सीपीयू कंप्यूटर का सारा काम करता है, डेटा स्टोर करना, इनपुट प्राप्त करना, आउटपुट दिखाना।

तो चलिए अब जानते हैं सीपीयू के प्रकार –

सिंगल कोर सीपीयू (Single Core CPU)- जिस सीपीयू में एक प्रोसेसर लगा होता है उसे सिंगल कोर सीपीयू कहते हैं।

ड्यूल कोर सीपीयू (Dual Core CPU) – जिस सीपीयू में दो प्रोसेसर लगे होते हैं उसे ड्यूल कोर सीपीयू कहते हैं।

क्वार्ड कोर सीपीयू (Quard Core CPU) – जब सीपीयू में चार प्रोसेसर लगे होते हैं, तो उसे क्वाड कोर सीपीयू कहा जाता है।

हेक्सा कोर सीपीयू (Hexa Core CPU) – एक सीपीयू जिसमें 6 प्रोसेसर लगे होते हैं, हेक्सा कोर सीपीयू कहलाता है।

ऑक्टा कोर सीपीयू (Octa Core CPU) – कोई भी सीपीयू जिसमें आठ प्रोसेसर लगे होते हैं, ऑक्टा कोर सीपीयू कहलाता है।

डेका कोर सीपीयू (Deca Core CPU) – जब सीपीयू में 10 प्रोसेसर लगे होते हैं, तो इसे डेका कोर सीपीयू कहा जाता है।

सीपीयू के कार्य (Work Of CPU In Hindi)

सीपीयू कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग है, जिसके निम्नलिखित महत्वपूर्ण कार्य हैं –

  • सीपीयू कंप्यूटर को दिए गए इनपुट को प्रोसेस करता है और परिणाम को आउटपुट के रूप में दिखाता है।
  • सीपीयू मेमोरी डिवाइस की मदद से डाटा को स्टोर करने का भी काम करता है।
  • सीपीयू कंप्यूटर के सभी भागों के संचालन को नियंत्रित करता है।
  • सीपीयू कम्पार्टमेंट में कई तरह के USB डिवाइस भी लगे होते हैं, जिनके जरिए कंप्यूटर के अन्य डिवाइस को कनेक्ट किया जाता है।

सीपीयू कैसे बनता है? (How Is CPU Made In Hindi)

सीपीयू एक प्रकार की माइक्रो चिप होता है। जो सिलिकॉन चिप से बनता है। जिसका मुख्य मटीरियल सिलिकॉन है। चूंकि बालू (रेत) में सिलिकॉन अधिक मात्रा में उपलब्ध होता है। इसलिए सीपीयू जैसे अर्धचालक बनाने के लिए रेत का उपयोग किया जाता है। बालू (रेत) से सेमीकंडक्टर बनाने के लिए दो कंपनी या दो फैक्ट्री से गुजरना पड़ता है। पहली फैक्ट्री में रेत से सिलिकॉन निकाला जाता है। इसके लिए रेत को उच्च ताप (लगभग 1000°c) के अधीन किया जाता है और विशेष प्रकार के रसायन का उपयोग किया जाता है। इस प्रक्रिया के बाद सिलिकॉन छोटे-छोटे क्रिस्टल के रूप में प्राप्त होता है।

इन क्रिस्टल को गर्म करके सिलिकॉन का सिलेंडर बनाने के लिए एक खास तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। इस सिलेंडर को इंगोट कहा जाता है। अब इस सिलिकॉन सिलेंडर की जांच की जाती है कि यह प्योर सिलिकॉन है या नहीं। जब सिलिकॉन का सिलेंडर टेस्ट में पास हो जाता है। इसके बाद इसे पतले हिस्से में बांटा जाता है। जिसे वेफर्स कहा जाता है। इन वेफर्स को काटकर और पॉलिश करके स्मूथ बनाया जाता है। अब इन वेफर्स को चिप बनाने वाली कंपनी या फैक्ट्री में डिलीवर किया जाता है। जहां इन वेफर्स के ऊपर कई ट्रांजिस्टर बनाए जाते हैं। इसमें अल्ट्रावायलेट लेजर का इस्तेमाल किया जाता है। जब इन वेफर्स पर ट्रांजिस्टर प्रिंट हो जाता है।

प्रत्येक वेफर्स से कई चिप्स प्राप्त होते हैं। अंत में इन चिप्स का परीक्षण किया जाता है। जब सब कुछ सही हो जाता है, तो इसे एक कवर के अंदर पैक कर दिया जाता है। यह सारी प्रक्रिया इतनी आसान नहीं है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये सभी प्रक्रियाएं सूक्ष्म स्तर पर की जाती हैं। यानी हम नंगी आंखों से देख भी नहीं सकते। इसमें कई अन्य प्रक्रियाएं शामिल हैं। लेकिन यहां हमने इसे सरल भाषा में और संक्षेप में समझाया है। ताकि आप आसानी से समझ सकें कि सीपीयू रेत से कैसे बनता है।

सीपीयू कितना जरूरी है? (Importance Of CPU In Hindi)

सीपीयू के बारे में समझने के बाद आपको एक बात समझ लेनी चाहिए, आपके कंप्यूटर डिवाइस के बेहतर प्रदर्शन के लिए केवल सीपीयू ही जिम्मेदार नहीं है। हालांकि यह किसी भी डिवाइस को चलाने में काफी अहम भूमिका निभाता है। आपके कंप्यूटर सिस्टम में मौजूद सीपीयू जितना तेज होता है उतनी ही तेजी से कंप्यूटर में एप्लिकेशन खुलते हैं।

लेकिन यह भी कहा जाता है कि तेज़ सीपीयू ही सब कुछ नहीं है क्योंकि एक प्रोसेसर कितना भी तेज़ क्यों न हो, वह 3D गेम को सुचारू रूप से प्रस्तुत करने और कुछ अन्य कार्यों को करने में असमर्थ होता है और न ही यह सूचनाओं को संग्रहीत करने का काम करता है। .

इन कार्यों को करने के लिए कंप्यूटर के अन्य घटकों जैसे ग्राफिक कार्ड मेमोरी आदि का उपयोग किया जाता है। संक्षेप में, अगर हम सीपीयू के महत्व को समझें तो हाँ यह कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है लेकिन यह सब कुछ नहीं है। हालाँकि, आपके कंप्यूटर में तेज़ सीपीयू होने का मतलब है कि आपका डिवाइस तेज़ी से काम करेगा।

कंप्यूटर में सीपीयू की महत्वपूर्ण भूमिका (Importance Of Computer CPU In Hindi)

जिस तरह दिमाग के बिना इंसान बेजान है उसी तरह बिना सीपीयू के कंप्यूटर भी बेजान है इसलिए सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। सीपीयू कंप्यूटर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है।

कंप्यूटर के अंदर चल रहे सभी कार्यों के लिए सीपीयू जिम्मेदार होता है, इसलिए CPU की क्षमता जितनी अधिक होगी, सीपीयू उतने ही अधिक अनुप्रयोगों को चला सकता है।

कुल मिलाकर, सीपीयू कंप्यूटर का एक अभिन्न अंग है जो डेटा प्राप्त करता है, डेटा को स्टोर करता है और डेटा को प्रोसेस करता है और उपयोगकर्ता को आउटपुट दिखाता है।

यह भी पढ़ें –

FAQs For What Is CPU In Hindi

सीपीयू को हिंदी में क्या कहते हैं?
सीपीयू को हिंदी में केन्द्रीय प्रसंस्करण इकाई कहा जाता हैं।

सीपीयू का दूसरा नाम क्या है?
सीपीयू का दूसरा सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट है।

सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग क्यों कहा जाता है ?
सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है क्योंकि यह कंप्यूटर की सभी गतिविधियों को नियंत्रित करता है।

क्या सीपीयू और प्रोसेसर एक ही है?
नहीं, प्रोसेसर सीपीयू के अंदर स्थित होता है जिसे प्रोसेसिंग यूनिट कहा जाता है।

सीपीयू के भाग कितने होते हैं?
सीपीयू के मुख्य रूप से तीन भाग होते हैं – मेमोरी, सेंट्रल यूनिट और अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट।

कंप्यूटर का दिमाग कौन है?
सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है।

सीपीयू कौन सा डिवाइस है?
सीपीयू न तो इनपुट डिवाइस है और न ही आउटपुट डिवाइस। यह सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट है। जो इनपुट और आउटपुट को आपस में जोड़ता है।

सीपीयू के तीन भाग कौन कौन से हैं?
सीपीयू के तीन भाग हैं – मेमोरी, सेंट्रल यूनिट और अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट।

निष्कर्ष

सीपीयू के बिना कंप्यूटर कोई भी काम करने में लाचार है क्योंकि कंप्यूटर में होने वाली सभी गतिविधियों के लिए सीपीयू जिम्मेदार होता है। सीपीयू के बिना कंप्यूटर कुछ भी नहीं समझ सकता इसलिए सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता है।

इस लेख को पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे कि कंप्यूटर में सीपीयू एक महत्वपूर्ण डिवाइस है, उम्मीद है आपको सीपीयू क्या है के बारे में हमारा यह लेख पसंद आया होगा। इस लेख सीपीयू क्या है को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें।

लेख के अंत बने रहने के लिए धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles