कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है? कोर्स, सैलरी, योग्यता – (What Is Computer Operator In Hindi)

Computer Operator Meaning In Hindi: युवाओं के बीच तेजी से बढ़ता तकनीकी करियर, कंप्यूटर ऑपरेटर और डाटा एंट्री एक शानदार और बहुत लोकप्रिय काम है। सरकारी हो या निजी, स्कूल हो या कॉलेज, हर संस्था को डाटा एंट्री ऑपरेटर या कंप्यूटर ऑपरेटर की जरूरत होती है। इस तकनीकी जरूरत ने इस क्षेत्र में संभावनाओं के नए अवसर पैदा किए हैं। आपको बता दें कि बेहतर कंप्यूटर ज्ञान और बेहतर टाइपिंग स्पीड के साथ आप इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।

अगर आप युवा हैं और आपने उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं की है तो आप निश्चित रूप से इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं और इन नौकरियों को आप अपनी सुविधा के अनुसार फुल टाइम और पार्ट टाइम के रूप में चुन सकते हैं। कंप्यूटर का अच्छा ज्ञान और एमएस ऑफिस पर अच्छी पकड़ आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। कंप्यूटर ऑपरेटर और डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए आप निजी फर्मों में नौकरी खोज सकते हैं या सरकारी विज्ञापनों के आधार पर आवेदन कर सकते हैं।

इस नौकरी के लिए उम्र सीमा 18-30 साल तय की गई है। इसके साथ ही उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कम से कम 12वीं पास हो और साथ ही छह महीने से लेकर एक साल का कंप्यूटर डिप्लोमा भी हो। सरकारी क्षेत्र में लगभग 10,000 से 20,000 रुपये वेतन के रूप में दिए जाते हैं। वहीं, प्राइवेट सेक्टर में लगभग हर महीने 10,000 से 26,000 रुपए के करीब सैलरी दी जा सकती है।

कंप्यूटर ऑपरेटर का काम सूचनाओं को ऑपरेट करना है और डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम कंप्यूटर में डेटा फीड करना है। डाटाका अर्थ है कोई भी जानकारी जो इनपुट डिवाइस जैसे कीबोर्ड, माउस, स्कैनर आदि के माध्यम से कंप्यूटर में सेव या फीड की जाती है। किसी भी सरकारी या निजी संस्थान में कई नाम, पते, आंकड़े या कई अन्य विवरण सुरक्षित रखने की आवश्यकता होती है। इन विवरणों को कंप्यूटर में फीड करने की ड्यूटी उस कार्यालय में कार्यरत डेटा एंट्री ऑपरेटर की होती है।

कंप्यूटर ऑपरेटर या डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए 3 योग्यताओं का होना सबसे आवश्यक माना जाता है। वे योग्यताएँ कंप्यूटर का अच्छा ज्ञान, भाषा, ट्रांसलेशन का ज्ञान और टाइपिंग कौशल हैं।

यदि आपके पास ये तीन योग्यताएं हैं तो आप एक कंप्यूटर ऑपरेटर या डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि आपके लिए एक साल या 6 महीने का कोर्स करना भी उतना ही जरूरी है। डाटा एंट्री ऑपरेटर की नौकरी चाहने वाले उम्मीदवार चाहें तो आईटीआई, स्टेनोग्राफर या डाटा एंट्री ऑपरेटर का कोर्स भी कर सकते हैं। कंप्यूटर ऑपरेटर को हिंदी में कंप्यूटर संचालक कहा जाता है।

आज के इस लेख में हम आपको कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है, कंप्यूटर ऑपरेटर कौन होता है, कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने, कंप्यूटर ऑपरेटर का वेतन, कंप्यूटर ऑपरेटर का काम क्या है आदि के बारे में जानकारी इस लेख में देने जा रहे है। तो चलिए आपका ज्यादा समय न लेते हुए इस लेख को शुरू करते है और जानते है की कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है (What Is Computer Operator In Hindi) –

कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है? (Computer Operator Kya Hai In Hindi)

कंप्यूटर ऑपरेटर डीईओ से ज्यादा अलग नहीं होता है। दरअसल कंप्यूटर ऑपरेटर और डीईओ एक ही होते हैं। इतना ही नहीं डीईओ को ही कंप्यूटर ऑपरेटर भी कहा जाता है। बता दें कि डीईओ का फुल फॉर्म डाटा एंट्री ऑपरेटर होता है।

हालांकि फर्क सिर्फ इतना है कि डीईओ में सिर्फ डाटा एंट्री जैसे काम किए जाते हैं। लेकिन कंप्यूटर ऑपरेटर केवल डाटा एंट्री की तरह ही सीमित नहीं है। यहाँ पर आपको कंप्यूटर से सम्बंधित हर तरह के काम करने होते है।

यही कारण है कि एक डाटा एंट्री ऑपरेटर की तुलना में एक कंप्यूटर ऑपरेटर के पास अधिक ज्ञान होना चाहिए, क्योंकि कंप्यूटर ऑपरेटर के कार्य सीमित नहीं होते हैं।

उन्हें कंप्यूटर और उसके सभी सॉफ्टवेयर के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए। साथ ही उनकी टाइपिंग स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए।

कंप्यूटर ऑपरेटर का मतलब क्या है? (Computer Operator Meaning In Hindi)

कंप्यूटर ऑपरेटर वे लोग होते है जो कंप्यूटर पर किसी भी काम को करते है।

कंप्यूटर ऑपरेटर को हिंदी में क्या कहते है?

कंप्यूटर ऑपरेटर को हिंदी में कंप्यूटर संचालक कहा जाता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर कौन होता है? (Who Is Computer Operator In Hindi)

अब तक आप समझ गए होंगे कि कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है। तो चलिए अब जानते हैं कि कंप्यूटर ऑपरेटर कौन होता है। दरअसल कंप्यूटर ऑपरेटर वे लोग होते हैं जो कंप्यूटर पर किसी भी कार्य को करते है।

यह एक कार्यालय कार्यकर्ता हो सकता है, या टिकट काउंटर पर टिकट बुक करने वाला कोई भी व्यक्ति हो सकता है। ये सभी लोग कंप्यूटर ऑपरेटर कहलाते हैं। ज्यादातर काम कंप्यूटर टाइपिंग का होता है, जिसे हम कंप्यूटर डेटा एंट्री ऑपरेटर कहते हैं। इनका काम कंप्यूटर में डाटा एंटर करना होता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने? (How To Become Computer Operator In Hindi)

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको किसी विशेष ज्ञान की आवश्यकता नहीं है। कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कोई भी सामान्य पढ़ा-लिखा व्यक्ति काम कर सकता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए कुछ आवश्यक चीजें हैं जो आपको कंप्यूटर ऑपरेटर बनने में मदद करती हैं। और उनमें से कुछ चीजें इस प्रकार हैं –

  • Educational Qualification
  • Computer Typing Speed ​​
  • Knowledge Of Computer Software
  • Knowledge Of Language

शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification)

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए ज्यादा पढ़ा-लिखा होना जरूरी नहीं है, लेकिन किसी जगह काम करने के लिए कम से कम 12वीं पास होना जरूरी है। हर जगह अलग-अलग पदों के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर की योग्यता अलग-अलग रखी जाती है।

कंप्यूटर टाइपिंग स्पीड (Computer Typing Speed)

जब आप कंप्यूटर पर काम करते हैं तो उस पर सबसे ज्यादा काम करने के लिए आपकी टाइपिंग स्पीड बेहतर होनी चाहिए। यह आपके काम को आसान बनाता है और आपको तेजी से काम करने में मदद करता है। इसके अलावा अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में टाइपिंग का ज्ञान होना जरूरी है, क्योंकि इन दोनों भाषाओं में कंप्यूटर पर ज्यादा काम करना पड़ता है।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का ज्ञान (Knowledge Of Computer Software)

कंप्यूटर ऑपरेटर को काम करने के लिए सभी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का ज्ञान होना आवश्यक है। इसके लिए एमएस वर्ड, एक्सेल, पावर प्वाइंट, टेली जैसे सॉफ्टवेयर की सबसे ज्यादा डिमांड होती है, इनके जरिए कंप्यूटर ऑपरेटर बनना बहुत आसान है।

भाषा का ज्ञान (Knowledge Of Language)

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको अंग्रेजी और हिंदी का ज्ञान होना आवश्यक है। कंप्यूटर में काम ज्यादातर अंग्रेजी भाषा में होता है, साथ ही हिंदी में भी टाइपिंग होती है, इसके लिए आपको इन दोनों भाषाओं का ज्ञान होना आवश्यक है। अगर आपको इन भाषाओं का ज्ञान नहीं है तो कंप्यूटर ऑपरेटर पर काम करना आसान नहीं है।

कंप्यूटर ऑपरेटर की सैलरी (Computer Operator Salary In Hindi)

कंप्यूटर ऑपरेटर अलग-अलग जगहों पर काम करता है इसलिए इनकी सैलरी भी अलग-अलग होती है। लेकिन आपको बता दें कि सरकारी क्षेत्र में एक कंप्यूटर ऑपरेटर का वेतन लगभग 10,000 से 20,000 के आसपास होता है।

वहीं प्राइवेट सेक्टर में कंप्यूटर ऑपरेटर की सैलरी 8,000 से 25,000 तक हो सकती है। आपको बता दें कि कंप्यूटर ऑपरेटर की प्राइवेट नौकरी में सैलरी काफी कम होती है। इसमें शुरुआत में 8 हजार का वेतन मिलता है, जो बाद में बढ़ता जाता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर की आयु सीमा (Age Limit Of Computer Operator In Hindi)

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए ऑपरेटर की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए। क्योंकि किसी भी डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर काम करने के लिए 18 साल का होना जरूरी है।

कंप्यूटर ऑपरेटर का काम क्या है? (Computer Operator Work In Hindi)

एक कंप्यूटर ऑपरेटर कई तरह के काम करता है। आपको बता दें कि सबसे ज्यादा काम डाटा एंट्री का होता है। इसके अलावा भी कंप्यूटर ऑपरेटर को कई तरह के काम करने होते हैं, जैसे –

  • माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल पर गणित की शीट बनाने का काम कम्प्यूटर ऑपरेटर करता है।
  • एक ऑफिस में फाइल मैनेजमेंट का काम करता है।
  • एमएस वर्ड में डॉक्यूमेंट बनाना और ईमेल करना।
  • पावर प्वाइंट में प्रेजेंटेशन तैयार करना।
  • सभी प्रकार के डाटा एंट्री का कार्य करना।

इसके अलावा कंप्यूटर ऑपरेटर कई तरह के काम करता है, जो अलग-अलग ऑफिस के लिए अलग-अलग होते हैं। अगर वह किसी शॉपिंग मॉल में बिलिंग का काम करता है तो इसके लिए वह यहां बने सॉफ्टवेयर पर काम करता है उसी तरह ऑनलाइन काम करने के लिए वह अलग-अलग वेबसाइट पर काम करता है। इस तरह कंप्यूटर ऑपरेटर अपना काम करता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर कोर्स (Computer Operator Course In Hindi)

अगर आप कंप्यूटर ऑपरेटर या डाटा एंट्री ऑपरेटर बनकर किसी भी तरह की नौकरी करना चाहते हैं तो इसके लिए कंप्यूटर में किसी तरह का कोर्स करना जरूरी है। इसके लिए आज के समय में संस्थानों द्वारा कई तरह के कोर्स करवाए जाते हैं, जिनकी मदद से कम्प्यूटर ऑपरेटर बना जा सकता है।

इसमें आप ग्रेजुएशन से लेकर डिप्लोमा कोर्स तक कर सकते हैं। इसमें कई कोर्स शामिल हैं, जैसे – कोपा, स्टेनोग्राफर, डीसीए, पीजीडीसीए और बेसिक कंप्यूटर ऑपरेटर कोर्स भी हैं।

इसके साथ ही कुछ एडवांस लेवल के कोर्स भी आते हैं, जिन्हें करने के बाद आप बेहतर सैलरी के साथ काम कर सकते हैं। इन सभी कोर्स की अवधि एक साल से लेकर 3 साल तक की हो सकती है, आप अपनी जरूरत के हिसाब से इनमें से कोई भी कोर्स चुन सकते हैं।

कंप्यूटर ऑपरेटर चयन प्रक्रिया (Computer Operator Selection Process In Hindi)

अगर आप सच में एक कंप्यूटर ऑपरेटर बनना चाहते हैं तो आपको इसकी अच्छे से तैयारी करनी चाहिए। इसके साथ ही टाइपिंग पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए। एक कंप्यूटर ऑपरेटर की चयन प्रक्रिया में उसे कुछ परीक्षाएं और साक्षात्कार देना होता है। यह साक्षात्कार कुछ स्थानों पर अनिवार्य नहीं है।

परीक्षा की बात करें तो आपको एक लिखित परीक्षा देनी होगी जिसमें एक कटऑफ अंक होता है और आगे की परीक्षा देने के लिए उस कट ऑफ को पार करना पड़ता है।

वहीं, लिखित परीक्षा के बाद आपकी टाइपिंग स्पीड को भी टेस्ट किया जाता है। यहां कैंडिडेट की टाइपिंग पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है। फिर कुछ जगहों पर इंटरव्यू भी लिया जाता है जिसमें आपसे कुछ सवाल पूछे जाते हैं।

कंप्यूटर ऑपरेटर की परीक्षा अलग-अलग विभागों द्वारा अलग-अलग तरीके से कराई जाती है। इसलिए परीक्षा की तैयारी करने से पहले यह जान लेना जरूरी है कि इसका परीक्षा पैटर्न कैसा है।

कंप्यूटर ऑपरेटर और डाटा एंट्री में अंतर (Computer Operator Vs Data Operator In Hindi)

कंप्यूटर से जुड़े सभी काम कंप्यूटर ऑपरेटर को करने होते हैं। जबकि डेटा एंट्री ऑपरेटर को डेटा (रिकॉर्ड) दर्ज (लिखना) करना होता है। कंप्यूटर ऑपरेटर को कंप्यूटर का अधिक ज्ञान होना चाहिए और कंप्यूटर में डिप्लोमा होना बेहतर है। लेकिन कम जानकारी के साथ 12वीं के बाद डाटा एंट्री ऑपरेटर आराम से बना जा सकते हैं।

FAQs

कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य कार्य क्या है?
कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य कार्य डेटा एंट्री करना या कंप्यूटर में डेटा फीड करना होता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर को हिंदी में क्या कहते है?
कंप्यूटर ऑपरेटर को हिंदी में कंप्यूटर संचालक कहते है।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए क्या करना होगा?
कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए अपनी आवश्कयता अनुसार कोई कोर्स करे।

कंप्यूटर ऑपरेटर को कितना समय लगता है?
कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए 6 महीने से 3 साल का समय लग सकता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर का वेतन क्या होता है?
कंप्यूटर ऑपरेटर का वेतन सरकारी क्षेत्र में 10,000 से 20,000 और प्राइवेट क्षेत्र में 8,000 से 25,000 तक हो सकता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर की आयु सीमा निर्धारित है?
कंप्यूटर ऑपरेटर की आयु सीमा कम से कम 18 साल होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें –

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको यह लेख कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है, कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने अच्छा लगा होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे।

लेख के अंत तक बने रहने के लिए धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay in Touch

spot_img

Related Articles